अपराध ब्रेकिंग न्यूज़

ख़लीलाबाद में दिन दहाड़े युवक की गोली मारकर हत्या से,शहर में सनसनी, 5 घंटे से NH 28 रहा जाम, मसक्कत के बाद पुलिस को मिली जाम से मुक्ति दिलाने में कामयाबी

संतकबीरनगर । खलीलाबाद में दिनदहाड़े हुई युवक की हत्या से शहर में सनसनी फैल गई है । बताया जा रहा है कि पुरानी रंजिश को लेकर सुबह लगभग 9 बजे युवक की गोली मारकर हत्या कर देने का ये मामला जिले के शहर कोतवाली क्षेत्र के ऊनखास गाँव का है ।
युवक की हत्याकर जहां हत्यारे फरार हो गए वहीं हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर परिजनों और ग्रामीणों ने NH 28 जाम कर दिया था, और कई वाहनों में तोड़फोड़ की गई, जिसकी सूचना पाकर मौके पर पहुंची कोतवाली पुलिस के समझाने के बाबजूद भी ग्रामीण नही मान रहे थे और शव को लेकर नेदुला बाईपास पर रख कर पुलिस के खिलाफ जमकर मुर्दाबाद के नारे लगाए रहे । माहौल को देखते हुए कोतवाली पुलिस ने इस मामले को उच्चाधिकारियों के संज्ञान में लाया, मौके पर कई थानों की पुलिस के साथ अधिकारी भी NH 28 नेदुला चौराहे पर मौजूद रहे अधिकारियों के समझाने बुझाने पर भी ग्रामीण नही मान रहे थे । और घण्टो  NH 28 को जामकर रखा था जिसके चलते आवागमन पूरी तरह से ठप था जिसके कारण यात्रियों को काफी दिक्कतें उठानी पड़ी । पुलिस प्रशासन भी चौकन्ना को रहा लेकिन कोई बड़ा फैसला नही ले पा रहा था क्योंकि ग्रामीण और परिजन पूरी तरह से उग्र रूप धारण किये थे, इसके साथ ही तमाम राजनीतिक पार्टियों के प्रतिनिधि भी मौके कर परिजनों के साथ खड़े होकर न्याय दिलाने की बात कर रहे थे ।

आपको बता दें कि ऊनखास गाँव के रहने वाले मृतक लवकुश के परिवार से गाँव निवासी प्रेम प्रकाश सिंह से पुरानी रंजिश थी, पुरानी रंजिश के इस मामले में मृतक लवकुश द्वारा कोतवाली में कई बार दबंग आरोपी के खिलाफ लिखित शिकायत भी की गई थी, लेकिन पुलिस ने इस मामले में लापरवाही बरती थी जिसका नतीजा ये हुआ कि लवकुश की हत्या हो गयी। मृतक के परिजनों और बीजेपी के जिलाध्यक्ष सेतवान राय सहित कई लोगों ने कोतवाली पुलिस खासकर कोतवाली के इंचार्ज श्रीप्रकाश यादव पर आरोप लगाते हुए कहा कि अगर कोतवाली के कोतवाल श्रीप्रकाश यादव द्वारा मामले पर गंभीरता से विचार किया गया होता और आरोपियों के खिलाफ कार्यवाई की होती तो आज इतनी बड़ी घटना सामने नही घटती । पूरे मामले पर एडिशनल एसपी असित श्रीवास्तव ने भी माना कि पुलिस की लापरवाही का परिणाम है जिसके चलते ये घटना घटी है ।

फिलहाल लगभग 5 घण्टे के बाद परिजनों ने बड़ी ही मुसकिल से शव को पोस्टमार्टम हेतु पुलिस को ले जाने दिया । अब देखना है कि पुलिस इस घटना के सिलसिले में कितनी गंभीरता और ईमानदारी  दिखाते हुए अपनी सक्रियता दिखाती है ।

Related posts

कासिमियाँ खादिमुल उलूम मदरसे में धूमधाम से मनाया गया गांधी जयंती समारोह

Sayeed Pathan

सफदरगंज पुलिस ने अवैध तमंचा और कारतूस के साथ एक वांछित अभियुक्त को किया गिरफ्तार

Sayeed Pathan

सार्वजनिक स्थान पर जुआ खेलते हुए,बद्दुपुर पुलिस 5 जुआरियों को

Sayeed Pathan