Advertisement
टॉप न्यूज़दिल्ली एन सी आर

चुनाव के दौरान फ्री ऑफर्स से सुप्रीम कोर्ट नाराज़: कहा- राजनैतिक पार्टियां लालच देती हैं; लगाम लगाने के लिए केंद्र जल्द निकाले रास्ता

दिल्ली । सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव के दौरान मुफ्त की योजनाओं पर रोक लगाने की बात कही है। इसके लिए केंद्र सरकार को निर्देश दिया है कि जल्द से जल्द इस दिशा में कोई रास्ता निकालें। इस मामले में अगली सुनवाई 3 अगस्त को होगी।

वोटर्स को लुभाने के लिए मुफ्त की योजनाओं की घोषणाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने 3 मार्च को आपत्ति जताई थी, जिस पर याचिकाकर्ता ने याचिका वापस ले ली थी, लेकिन मंगलवार को कोर्ट ने इसी तरह के एक दूसरे पेंडिंग मामले में सुनवाई करते हुए यह निर्देश दिया।

 

Advertisement

सुनवाई के दौरान क्या कुछ हुआ ?

  • सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को निर्देश दिया कि वित्त आयोग से बात करें। मुफ्त में खर्च किए गए पैसे को ध्यान में रखकर जांच करें।
  • चुनाव आयोग ने सुझाव दिया कि सरकार इस मुद्दे से निपटने के लिए एक कानून ला सकती है।
  • सरकार का यह तर्क था कि यह मामला चुनाव आयोग के क्षेत्र में आता है।
  • सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि केंद्र सरकार इस पर स्टैंड लेने से क्यों झिझक रही है।

कपिल सिब्बल से पूछे उनके विचार
सुनवाई के दौरान किसी अन्य मामले को लेकर वकील कपिल सिब्बल भी कोर्ट में मौजूद थे। कोर्ट ने मुफ्त की योजना के इस मुद्दे पर उनसे भी उनके विचार पूछे। इस पर सिब्बल ने कहा कि यह एक गंभीर मामला है, लेकिन राजनीतिक रूप से इसे नियंत्रित करना मुश्किल है। वित्त आयोग को अलग-अलग राज्यों को पैसा आवंटित करते समय उनका कर्ज और मुफ्त योजनाओं को ध्यान में रखना चाहिए।

Advertisement

उन्होंने यह भी कहा कि केंद्र सरकार से निर्देश जारी करने की उम्मीद नहीं की जा सकती है। वित्त आयोग इस मुद्दे की जांच करने के लिए सही प्राधिकरण है।

अगले हफ्ते होगी सुनवाई
याचिका में कहा गया है कि चुनाव आयोग को राज्य और राष्ट्रीय पार्टियों को ऐसे वादे करने से रोकना चाहिए। सुप्रीम कोर्ट ने दलीलें सुनने के बाद मामले की अगली सुनवाई अगले हफ्ते के लिए तय कर दी है।

Advertisement

Related posts

बीएसएनएल ने पेश किया 108 रुपये में 60 दिनों की वैधता के साथ अनलिमिटेड कॉलिंग व अनलिमिटेड डाटा वाला प्लान

Sayeed Pathan

पशुपालन को बढ़ावा देने के लिए 15 हजार करोड़ का ऐलान

Sayeed Pathan

सहारा ग्रुप खतरे में ! :: “सहारा” में जमा चार करोड़ लोगों के 86,673 करोड़ रुपए: सरकार ने बताया गड़बड़, जमा लेने पर रोक

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!