Advertisement
उतर प्रदेशलखनऊ

हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर से स्वास्थ्य सेवायें जन-जन के द्वार:- उप मुख्यमंत्री

लखनऊः । उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने बताया कि जनसमुदाय को उनके घर के समीप व्यापक स्वास्थ्य सेवायें जिसमें प्रोत्साहक, रोग निवारक एवं पुनर्वास सेवायें भी सम्मलित हैं, को प्रदान करने के उद्देश्य से उपकेन्द्रों, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों एवं शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के स्तर पर हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर (आरोग्य केन्द्र) की स्थापना की गई है। प्रदेश में उपकेन्द्र स्तरीय हेल्थ एंड वेलनेस सेंटरों पर प्रशिक्षित नर्सों को 04 माह का विशेष प्रशिक्षण सफलतापूर्वक पूर्ण करने के उपरान्त एवं इंटीग्रेटेड कोर्स के माध्यम से बी0एस0सी0 नर्सिंग उत्तीर्ण करने वाले अभ्यर्थियों को सीधे कम्यूनिटी ऑफीसर के रूप में तैनात किया जाता है।

उप मुख्यमंत्री ने बताया कि वर्तमान में उपकेन्द्र स्तरीय हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर पर कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर द्वारा मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य के साथ-साथ गैर संचारी रोगों की स्क्रीनिंग के साथ ही मुख स्वास्थ्य, वृद्वावस्था स्वास्थ्य, मानसिक स्वास्थ्य, आँख, नाक, कान एवं गला स्वास्थ्य की सेवायें उपलब्ध करायी जा रही हैं तथा आकस्मिक ट्रामा स्वास्थ्य सम्बन्धी सेवायें क्रमिक रूप से यथा शीघ्र प्रारम्भ की जायेंगी। साथ ही टेली मेडिसिन के माध्यम से जन मानस को हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर के द्वारा चिकित्सकीय परामर्श प्रदान किया जा रहा है। टेली मेडिसिन के माध्यम से अब तक 37 लाख से अधिक लाभार्थियों को चिकित्सकीय परामर्श प्रदान किया जा चुका है।

Advertisement

उप मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में अब तक कुल 14,605 से अधिक स्वास्थ्य इकाईयों को हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर के रूप में उच्चीकृत किया जा चुका है। इन स्थापित किये गये हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टरों के माध्यम से प्रतिदिन लगभग 25,000 से अधिक टेलीकन्सल्टेशन सेवायें जनमानस को प्रदान की जा रही हैं। वर्तमान में 11,236 कम्यूनिटी हेल्थ ऑफीसर कार्यरत हैं एवं 5,505 नर्सों को सी0सी0एच0एन0 कोर्स में प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है, जिन्हें शीघ्र ही तैनाती दी जायेगी और 4,000 नवीन पदों के लिए विज्ञापन प्रकाशित कर चयन प्रक्रिया जारी है।

प्रदेश में कम्यूनिटी हेल्थ ऑफीसर के योगदान के फलस्वरूप लगभग 20,000 चिकित्सीय परामर्श प्रतिदिन प्रदान किये जा रहे हैं जोकि विगत तीन माह में प्रतिदिन दिये गये चिकित्सकीय परामर्श से दोगुने से अधिक है। कम्यूनिटी हेल्थ ऑफीसर्स द्वारा कोरोना महामारी के दौरान एवं बाद में कोविड टीकाकरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी गई है।

Advertisement

Related posts

UP में कोरोना ने तोड़े सारे रिकॉर्ड, एक दिन में सबसे अधिक नए मामले और मौत हुई दर्ज

Sayeed Pathan

लालजी टंडन के निधन पर यूपी सरकार ने तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया

Sayeed Pathan

महराजगंज- मौके पर पराली जलाते समय तहसीलदार ने दो किसानों को पकड़ा

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!