Advertisement
उतर प्रदेशलखनऊ

मुख्यमंत्री ने 20 नवचयनित पुलिस अभ्यर्थियों को दिया नियुक्ति पत्र

लखनऊ : नवचयनित 9,055 उपनिरीक्षक नागरिक पुलिस, प्लाटून कमाण्डर पी0ए0सी0 एवं अग्निशमन द्वितीय अधिकारियों को आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का वीडियो सन्देश के माध्यम से मार्गदर्शन प्राप्त हुआ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नवचयनित पुलिस कर्मियों को नियुक्ति पत्र वितरित किये। उन्होंने 20 नवचयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र प्रदान किये। कार्यक्रम का आयोजन आज यहां इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में किया गया था। ज्ञातव्य है कि उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड द्वारा इन कर्मियों का चयन निष्पक्ष एवं पारदर्शी भर्ती प्रक्रिया द्वारा किया गया।

प्रधानमंत्री ने नवचयनित पुलिस कर्मियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि इन दिनों रोजगार मेला उनके लिए एक विशेष कार्यक्रम बन गया है। पिछले कई माह से विभिन्न राज्यों में रोजगार मेले आयोजित हो रहे हैं। हजारों नौजवानों को रोजगार के लिए नियुक्ति पत्र दिए जा रहे हैं। यह प्रतिभाशाली युवा, सरकारी व्यवस्था में नए विचार लेकर आ रहे हैं, और दक्षता बढ़ाने में मदद कर रहे हैं।

Advertisement

प्रधानमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में आयोजित आज के रोजगार मेले का विशेष महत्व है। यह रोजगार मेला 09 हजार परिवारों के लिए खुशियों की सौगात लेकर आया है। साथ ही, उत्तर प्रदेश में सुरक्षा की भावना को और ज्यादा मजबूत कर रहा है। नई भर्तियों से उत्तर प्रदेश पुलिस बल ज्यादा सशक्त और बेहतर होगा। वर्ष 2017 से अब तक उत्तर प्रदेश पुलिस में डेढ़ लाख से ज्यादा नई नियुक्तियां हुई हैं। उत्तर प्रदेश में रोजगार और सुरक्षा, दोनों में ही बढ़ोत्तरी हुई है।

एक समय था जब उत्तर प्रदेश की पहचान माफियाओं और ध्वस्त कानून व्यवस्था की वजह से होती थी। आज उत्तर प्रदेश की पहचान बेहतर कानून व्यवस्था एवं विकास की ओर अग्रसर राज्यों में होती है। प्रदेश सरकार ने लोगों में सुरक्षा की भावना को मजबूत किया है। जहां भी कानून-व्यवस्था मजबूत होती है, वहां रोजगार की सम्भावनाएं अनेक गुना बढ़ जाती हैं। जहां भी बिजनेस के लिए सुरक्षित माहौल बनता है, वहां इन्वेस्टमेण्ट बढ़ने लगता है।

Advertisement

उत्तर प्रदेश में सभी परम्पराओं को मानने वालों के लिए सब कुछ है। यहां अनेक तीर्थ क्षेत्र हैं। पर्यटन की दृष्टि से देश के नागरिकों के लिए प्रदेश सबसे बड़ा श्रद्धा का केन्द्र है। जब कानून व्यवस्था मजबूत है, ऐसी खबर देश के कोने-कोने में पहुँचती है, तो उत्तर प्रदेश में यात्रियों की संख्या भी बढ़ती है। डबल इंजन सरकार, जिस तरह उत्तर प्रदेश में विकास को प्राथमिकता दे रही है, उससे हर सेक्टर में, रोजगार के अवसर बढ़ते ही जा रहे हैं। प्रदेश में आधुनिक एक्सप्रेसवेज, नए एयरपोर्ट्स, डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर का निर्माण, किया जा रहा है। साथ ही डिफेंस कॉरिडोर की व्यवस्था, नई मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग यूनिट्स, वॉटरवेज एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर के आधुनिकीकरण से यहां के कोने-कोने में अनेक नए रोजगार उपलब्ध करा रहा है।

आज उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा एक्सप्रेस-वे हैं। यहां हाईवेज का लगातार विस्तार किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश की पहचान एक्सप्रेस-वे प्रदेश के रूप में बनी है। हर शहर से हाई-वे को जोड़ने के लिए नई सड़कें भी बनाई जा रही हैं। विकास की यह परियोजनाएं रोजगार के अवसर प्रदान करने के साथ ही दूसरी परियोजनाओं के प्रदेश में आने का रास्ता भी तैयार कर रही हैं। उत्तर प्रदेश सरकार ने जिस तरह अपने यहां टूरिज्म इण्डस्ट्री को बढ़ावा दिया है, नई सुविधाएं मुहैया कराई हैं, उससे भी रोजगार की संख्या में बड़ी वृद्धि हुई है। इस बार क्रिसमस के पर्व पर गोवा से ज्यादा बुकिंग काशी में हुई थी। यू0पी0 ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट-2023 में निवेशकों का अपार उत्साह देखने को मिला। यह निवेश उत्तर प्रदेश में सरकारी और गैर-सरकारी, दोनों ही तरह के रोजगार के अवसरों को बढ़ाने वाला है।
सुरक्षा और रोजगार की साझा शक्ति से उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था को नई गति मिली है। बिना गारण्टी 10 लाख रुपए तक का लोन देने वाली प्रधानमंत्री मुद्रा योजना ने उत्तर प्रदेश के लाखों युवाओं के सपनों को नए पंख दिए हैं। वन डिस्ट्रिक्ट, वन प्रोडक्ट योजना ने हर जिले में रोजगार के नए अवसर सृजित किये हैं। इससे युवाओं को अपने हुनर को बड़े बाजार तक पहुंचाने में सुविधा हुई है। उत्तर प्रदेश में लाखों पंजीकृत एम0एस0एम0ई0 यूनिट्स हैं, जो भारत में लघु उद्योगों का सबसे बड़ा आधार हैं। नए उद्यमी के लिए स्टार्टअप ईको-सिस्टम बनाने में उत्तर प्रदेश नेतृत्व की भूमिका निभा रहा है।

Advertisement

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज नियुक्ति पत्र प्राप्त करने वाले नवचयनित पुलिस अधिकारियों के जीवन में नई जिम्मेदारियां, नई चुनौतियां और नए अवसर आने वाले हैं। रोज नया अवसर आपके लिए इंतजार कर रहा है। अपने भीतर के विद्यार्थी को हमेशा जीवित रखें। नवचयनित पुलिस अधिकारी हर पल नया सीखने और क्षमता बढ़ाने की कैपाबिलिटी बढ़ाएं। प्रगति के लिए यह बहुत आवश्यक है। अपने जीवन को कभी भी स्थगित मत होने दें। जीवन भी गतिशील रहे। जीवन भी नयी ऊँचाइयों को पार कर चले। इसके लिए योग्यता को बढ़ाएं। आप अपने व्यक्तित्व एवं प्रगति पर भी ध्यान दें। नवचयनित पुलिस अधिकारी पुलिस के गणवेश में सज्ज होने वाले हैं, तो सरकार आपके हाथ में डण्डा देती है, लेकिन नवचयनित पुलिस अधिकारी यह मत भूलें सरकार बाद में आयी है, पहले परमात्मा ने आपको दिल भी दिया है। इसलिए आपको डण्डे से ज्यादा दिल को भी समझना होगा। आपको संवेदनशील भी रहना है और व्यवस्था को भी संवेदनशील बनाना है। जिन युवाओं को आज नियुक्ति पत्र मिला है, उनकी ट्रेनिंग में भी इस बात का ध्यान रखा जाएगा कि उन्हें ज्यादा से ज्यादा संवेदनशील बनाया जाए। प्रदेश सरकार, पुलिस बल प्रशिक्षण में कई बदलाव कर तेजी से सुधारने का काम कर रही है। यू0पी0 में स्मार्ट पुलिसिंग को बढ़ावा देने के लिए युवाओं को साइबर क्राइम, फॉरेंसिक साइंस और अत्याधुनिक टेक्नोलॉजी का प्रशिक्षण दिया जाएगा।
प्रधानमंत्री ने कहा कि आज नियुक्ति पत्र पाने वाले सभी नौजवानों पर आम नागरिकों की सुरक्षा के साथ-साथ समाज को दिशा देने की भी जिम्मेदारी है। लोगों के लिए आप सेवा और शक्ति, दोनों का प्रतिबिम्ब हो सकते हैं। आप अपनी निष्ठा और मजबूत संकल्पों से ऐसा वातावरण बनाएं, जहां अपराधी भयभीत रहें और कानून का पालन करने वाले लोग सबसे ज्यादा निडर रहें।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दुनिया के सबसे बड़े सिविल पुलिस बल का हिस्सा बनने के लिए नव चयनित पुलिस अधिकारियों को बधाई एवं शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कहा कि सभी नवचयनित पुलिस अधिकारी भाग्यशाली हैं कि वह नियुक्ति पत्र प्राप्त करते समय दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मार्गदर्शन एवं आशीर्वचन प्राप्त कर अपनी सेवा की शुरुआत कर रहे हैं। पुलिसकर्मियों के लिए यह अवसर निश्चित ही अत्यन्त उपयोगी, हितकारी और सौभाग्यपूर्ण है। प्रधानमंत्री की प्रेरणा से ‘मिशन रोजगार’ द्रुत गति से आगे बढ़ रहा है। प्रदेश के सभी 18 परिक्षेत्रों में आज यह नियुक्ति पत्र वितरण के कार्यक्रम आयोजित हो रहे हैं। विगत 06 वर्षों में प्रदेश सरकार ने साढ़े पांच लाख युवाओं को प्रदेश सरकार के विभिन्न विभागों में सरकारी नौकरी प्रदान की है। इनमें 01 लाख 60 हजार से अधिक युवाओं की उत्तर प्रदेश पुलिस बल में नियुक्ति प्रक्रिया को पूरा किया गया है।

Advertisement

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2017 में वर्तमान सरकार के गठन के समय उत्तर प्रदेश पुलिस बल में डेढ़ लाख से अधिक पद रिक्त थे। पी0ए0सी0 की 54 से अधिक कम्पनियां समाप्त कर दी गई थीं। फायर बिग्रेड बुनयादी सुविधाओं के अभाव में दम तोड़ रहा था। आज हमारा फायर बिग्रेड अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त मजबूती के साथ खड़ा है। राज्य सरकार ने पी0ए0सी0 की 54 कम्पनियों का पुनर्गठन किया। तीन महिला पी0ए0सी0 बटालियनां का गठन किया है। कुछ जनपदों में पी0ए0सी0 की नई बटालियन के गठित करने की कार्यवाही आगे बढ़ रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने पुलिस कर्मियां के मनोबल को बढ़ाने के लिए अनेक कार्य किये हैं। वर्ष 2017 में प्रदेश में पुलिस प्रशिक्षण की क्षमता मात्र 06 हजार थी, जिसे राज्य सरकार ने बढ़ाकर तीन गुना किया है। उत्तर प्रदेश पुलिस बल की अवस्थापना सुविधाओं को सुदृढ़ किया गया है। महिलाओं, पुरुषों के लिए अच्छे बैरक बनाए गए हैं। प्रदेश सरकार द्वारा महिला पुलिस कर्मियों की संख्या में वृद्धि कर आधी आबादी के अनुरूप उनको प्रतिनिधित्व प्रदान करने के लिए कदम उठाए गये हैं। पुलिस बल में वर्ष 2017 के सापेक्ष महिला कर्मियों की संख्या तीन गुना से अधिक हुई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सुशासन की पहली शर्त सुरक्षा व मजबूत कानून व्यवस्था है। मजबूत कानून व्यवस्था के लिए आवश्यक है कि हर हाल में उत्तर प्रदेश पुलिस बल का इकबाल बना रहे। सामान्य व्यक्ति के प्रति पुलिस का व्यवहार अत्यन्त सद्भावपूर्ण व मित्रवत हो, लेकिन अपराधी कोई भी हो कानून के साथ खिलवाड़ करने वाला व्यक्ति कितना भी बड़ा क्यों न हो, उसे जीरो टॉलरेंस नीति के तहत कानून के कटघरे में खड़ा करके उसे सही जगह पहुंचाने से हिचकना नहीं चाहिए। जब तक पुलिस का इकबाल बना रहेगा, तब तक हर पुलिस कार्मिक का मान व सम्मान भी बना रहेगा।

Advertisement

मुख्यमंत्री ने कहा कि विगत 06 वर्षां में प्रदेश सरकार ने सभी विभागों के साथ समन्वय स्थापित करते हुए जनहितैषी कार्यों को आगे बढ़ाया है। सेफ सिटी के कार्यक्रमों को नगर विकास विभाग के साथ मिलकर आगे बढ़ाया जा रहा है। केन्द्र व राज्य सरकार मिलकर विभिन्न कार्यक्रमों को संचालित कर रही हैं। 17 नगर निगम व गौतमबुद्धनगर में सेफ सिटी के कार्य किये जा रहे हैं। सी0सी0टी0वी0 कैमरे के माध्यम से अवांछित गतिविधियां पर नजर रखी जा रही है। आई0सी0सी0सी0 द्वारा ट्रैफिक मैनेजमेण्ट व्यवस्था के साथ सेफ सिटी के कार्य को सम्पादित किया जा रहा है।

उत्तर प्रदेश पुलिस बल को समय के अनुरूप आज की आवश्यकताओं के अनुसार अपने आपको तैयार करना होगा। पहले अपराध की चुनौती भौगोलिक होती थी, आज अपराध की प्रकृति बदली है। विकास के साथ तकनीक से सक्षम हमारे युवा कार्मिक कैसे इन चुनौतियों से निपट सकते है। इसके लिए अपराधी से 10 गुना अधिक सोच के साथ कार्य करना होगा। राज्य सरकार ने 18 रेंज में 18 साइबर थाने स्थापित किये हैं। शेष अन्य जनपदों में भी साइबर थानां के गठन व हेल्पडेस्क की स्थापना की कार्यवाही को आगे बढ़ाया गया है। उत्तर प्रदेश ने महिला सुरक्षा के क्षेत्र में बेहतरीन कार्य किये हैं। उत्तर प्रदेश ई-प्रॉसिक्यूशन लागू करने वाला देश का अग्रणी राज्य है। प्रदेश में इस दिशा में एक लम्बी छलांग लगाई है।

Advertisement

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने उत्तर प्रदेश पुलिस बल में रिफॉर्म को आगे बढ़ाते हुए प्रदेश के 07 जनपदों में पुलिस कमिश्नरेट व्यवस्था लागू की है। आज प्रदेशवासियों के मन में सुरक्षा का भाव पैदा हुआ है। कानून का राज सुशासन की पहली शर्त है। सुशासन की पहली शर्त इस बात को तय करती है कि युवा को रोजगार देने में हम लोगों की भूमिका क्या है? नागरिकों को सम्मान देने व उनका विश्वास प्राप्त करने में हम कितना सफल हो पा रहे हैं ?

मुख्यमंत्री ने कहा कि यू0पी0 ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट-2023 व जी-20 के कार्यक्रम प्रदेश में सफलतापूर्वक सम्पन्न हुए हैं। जी-20 सम्मेलन में विभिन्न देशों से आये अतिथिगण/डेलीगेट्स प्रदेशवासियां को आतिथ्यभाव से अभिभूत हुए और उन्होंने पुलिस के आमजन के प्रति व्यवहार की सराहना की। प्रदेश की मजबूत कानून-व्यवस्था व विकास के वातावरण के कारण यू0पी0 ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में देश और दुनिया के 25 हजार से अधिक निवेशक आए और लगभग 35 लाख करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव उत्तर प्रदेश को प्राप्त हुए। वर्ष 2017 से पूर्व प्रदेश से अराजकता के कारण कैराना के व्यापारियों को पलायन करना पड़ा था। लेकिन आज वही लोग अपने स्थानों पर वापस लौटकर आए हैं और कुशलतापूर्वक अपने व्यापार व व्यवसाय को आगे बढ़ा रहे हैं। उन्होंने कहा कि यदि हम ठान लें, तो बड़ी से बड़ी चुनौतियों का सामना कर सकते हैं।

Advertisement

मुख्यमंत्री ने कहा कि 06 वर्ष पूर्व प्रदेश के युवाओं के सामने पहचान का संकट था। बहुत से जनपदों का नाम लेने से लोग डरते थे। लेकिन आज गर्व के साथ उत्तर प्रदेश का निवासी होने का परिचय देते हैं। प्रत्येक जनपद के लोग अपने जनपद का नाम गौरव के साथ ले सकते हैं। प्रदेश सरकार ने सभी जनपदां के विशिष्ट उत्पादों की ख्याति को एक जनपद, एक उत्पाद योजना के माध्यम से देश-दुनिया तक पहुंचाया है।

प्रदेश में यू0पी0जी0आई0एस0 के साथ ही जी-20 समिट का आयोजन सम्पन्न हुआ। जी-20 समूह दुनिया के 20 बड़े देशों का एक समूह है। दुनिया के सबसे बड़े संसाधन, इनोवेशन, शोध एवं पेटेण्ट पर इनका एकाधिकार है। अमृत काल के प्रथम वर्ष में प्रधानमंत्री के नेतृत्व में भारत जी-20 देशों की अध्यक्षता कर रहा है। इस समूह की डिजिटल अर्थव्यवस्था से सम्बन्धित तीन दिवसीय एक समिट जनपद लखनऊ में आयोजित की गयी। यू0पी0जी0आई0एस0 एवं जी-20 समिट के सफल आयोजन में पुलिस के व्यवहार के प्रति सराहना की गयी है।

Advertisement

मुख्यमंत्री ने कहा कि नवचयनित पुलिस अधिकारियों को अपने प्रशिक्षण को पूरे मनोभाव के साथ पूरा करना चाहिए। साथ ही, अपराध नियंत्रण व रोकथाम की आधुनिक तकनीक की जानकारी भी प्राप्त करनी चाहिए। सभी नवचयनित अधिकारियों को विधि विज्ञान का प्रशिक्षण भी प्रदान किया जाएगा। आज का दिन आप सभी नवचयनित पुलिस अधिकारियों के लिए विशेष है, क्योंकि निष्पक्ष, पारदर्शी व भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्था के तहत उत्तर प्रदेश पुलिस बल में सेवा करने का अवसर प्राप्त हुआ है। यह अवसर आप सभी ने अपनी प्रतिभा व लगन से प्राप्त किया है। सभी नवचयनित पुलिस अधिकारियों के अभिभावकों को होली व नवरात्रि का इससे बेहतर कोई दूसरा उपहार नहीं हो सकता। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि सभी नवचयनित पुलिस अधिकारी उत्तर प्रदेश पुलिस बल को उत्तम बनाने में अपना सर्वश्रेष्ठ योगदान देंगे।

प्रदेश में निष्पक्ष एवं पारदर्शी तरीके से नौकरियों में चयन के लिए मुख्यमंत्री के प्रति आभार प्रकट करते हुए उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने कहा कि राष्ट्र सेवा के लिए पुलिस महकमे से बढ़कर कोई सेवा नहीं है। आज प्रदेश में खाकी वर्दी का इकबाल कायम हुआ है। आपका चयन आपकी मेहनत व लगन से हुआ है।
वित्त एवं संसदीय कार्य मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने कहा कि सुरक्षा दिलाने अपराधों को रोकने, अपराधियों को पकड़ने का यह कैरियर है। जिन्दगी का असली उद्देश्य सेवा से प्राप्त होता है। हमारे रोल मॉडल प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री हैं, जिन्होंने अन्याय के खिलाफ बीड़ा उठाया है।

Advertisement

पुलिस महानिदेशक डी0एस0 चौहान ने कहा कि मुख्यमंत्री के संकल्प एवं विजन के अनुसार आप सभी अपनी मेहनत और मेरिट के आधार पर चयनित होकर यहां आये हैं। यहां बैठे सभी पुलिस अधिकारियों ने मुख्यमंत्री जी के संकल्प को आत्मसात किया है।

प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री, गृह एवं सूचना ने कहा कि मुख्यमंत्री के संकल्प के अनुसार प्रदेश में एक अभियान के तहत विगत 06 वर्षां में प्रदेश के सभी विभागों में निष्पक्ष एवं पारदर्शी तरीके से नौकरियां प्रदान की जा रही हैं। इसमें सबसे बड़ा आशीर्वाद गृह विभाग को मिला है। प्रदेश में जीरो टॉलरेन्स नीति के अनुसार अपराध मुक्त वातावरण के लिए गृह विभाग पूरी तरह से तत्पर है।
कार्यक्रम के दौरान पुलिस महानिदेशक प्रशिक्षण आर0पी0 सिंह, अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार, सूचना निदेशक शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Advertisement

Related posts

वाराणसी: मुख्तार अंसारी को आजीवन कारावास, दो लाख का जुर्माना

Sayeed Pathan

हर घर जल मिशन योजना :: संबंधित अधिक को सीएम योगी का निर्देश, दो माह में 50 लाख कनेक्शन दें

Sayeed Pathan

वध हेतु ट्रक से जा रहे, 17 प्रतिबंधित गोवंशीय पशु को, जैदपुर पुलिस ने किया बरामद

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!