Advertisement
उतर प्रदेशलखनऊ

सावधान:: कूड़ा अलग-अलग न करने पर होगी कार्रवाई: निदेशक नेहा शर्मा

लखनऊ:: निदेशक स्थानीय निकाय नेहा शर्मा ने बुधवार को लखनऊ के पुलिस लाइन स्थित कम्पोस्ट प्रोसेसिंग साइट का निरीक्षण किया। निदेशक ने घरों से कूड़ा कलेक्शन को लेकर अपनाई जा रही प्रक्रिया की जानकारी ली। पुलिस लाइन में रहने वाले करीब 200 घरों से ठोस एवं तरल संसाधन प्रबन्धन परियोजना के अन्तर्गत गीला और सूखा कूड़ा अलग-अलग करके लिया जा रहा है। यहां कूड़े का प्राकृतिक रूप से निस्तारण भी सुनिश्चित किया जा रहा है।

इसको लेकर निदेशक श्रीमती नेहा शर्मा ने संतोष व्यक्त किया। इस दौरान उन्होंने स्थानीय लोगों से बात भी की। उन्होंने प्राकृतिक तरीके से कंपोसिं्टग को बढ़ावा देने के लिए स्थानीय लोगों को जागरूक किया। साथ ही, स्थानीय लोगों से वार्ता करते हुए कहा कि गीले और सूखे कूड़े को अलग-अलग कूड़ेदान में डालने की अपील की। निदेशक नगरीय निकाय नेहा शर्मा ने कहा कि कूड़े के वैज्ञानिक रूप से निस्तारण सुनिश्चित करने के लिए घरों में ही पृथक्कीकरण आवश्यक है। इसको लेकर जागरूक करने के लिए स्वच्छ भारत मिशन (नगरीय) के अन्तर्गत 01 फरवरी से 31 मार्च तक 10तक डोर टू डोर अभियान चलाया जा रहा है। पहले चरण में प्रार्थना, दूसरे चरण में सहमत के बाद अब तीसरे चरण में यह अभियान प्रवेश कर रहा है। तीसरे चरण में आगामी 04 मार्च से 10तक डोर-टू-डोर अभियान के तहत कूड़ा पृथक्कीकरण सुनिश्चित न करने पर चालान की कार्रवाई की जाएगी।

Advertisement

उन्होंने कहा कि कूड़ा पृथक्कीकरण सुनिश्चित करने में घरों की महिलाओं की भूमिका अहम है। 10तक डोर टू डोर अभियान के अन्तर्गत वार्ड स्तर पर पूर्ण सहभागिता देकर उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली 3 महिलाओं को निकाय स्तर पर सम्मानित किया जाएगा। इनका चयन स्वच्छ वातावरण प्रोत्साहन समिति के माध्यम से किया जाएगा।

बता दें, स्वच्छ भारत मिशन (नगरीय) उत्तर प्रदेश के द्वारा ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के अन्तर्गत वेट वेस्ट के निस्तारण के संबंध में तीन दिवसीय कार्यशाला का आयोजन नगरीय निकाय निदेशालय के सभागार में किया गया है। आवास एवं शहरी कार्य मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा इम्पैनल संस्था इंडियन ग्रीन सर्विसेज, इंडिया के विशेषज्ञ सी. श्रीनिवासन द्वारा प्रशिक्षण प्रदान किया गया। कार्यशाला के तीसरे दिन बुधवार को व्यावहारिक प्रदर्शन के लिए स्थानीय कम्पोस्ट प्रोसेसिंग साइट का दौरा किया गया। इस कार्यशाला में 25 निकायों से प्रतिभागी प्रशिक्षण के लिए प्रतिभाग करने पहुंचे।

Advertisement

इस अवसर पर राज्य मिशन निदेशक, स्वच्छ भारत मिशन (नगरीय) एवं निदेशक स्थानीय निकाय श्रीमती नेहा शर्मा, उप निदेशक प्रशिक्षण, स्वच्छ भारत मिशन (नगरीय) डॉ. सुनील कुमार यादव, विशेषज्ञ सी. श्रीनिवासन डिविजनल प्रोग्राम मैनेजर श्री वैभव पाण्डेय समेत अन्य मौजूद रहे। दिन भर चले प्रशिक्षण कार्यक्रम के बाद प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया।

Advertisement

Related posts

आबकारी नीति वर्ष 2023-24 मंत्रिपरिषद द्वारा अनुमोदित, 45 हजार करोड़ रुपये राजस्व अर्जित करने का लक्ष्य:-अपर मुख्य सचिव आबकारी

Sayeed Pathan

यूपी पंचायत चुनाव: ग्राम प्रधान, बीडीसी और जिला पंचायत सदस्य की आरक्षण लिस्ट तैयार, कल होगी जारी

Sayeed Pathan

उत्तर प्रदेश कांग्रेस सेवादल ने अडानी से रिश्ते को लेकर, प्रधानमंत्री से सवाल पूछते हुए जारी किया पोस्टकार्ड:- कृष्णकांत पाण्डेय

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!