Advertisement
उतर प्रदेशलखनऊ

स्वास्थ्य सेवायें जन-जन तक:: 15 वें वित्त आयोग से प्राप्त अनुदान से नगरीय आयुष्मान भारत-स्वास्थ्य एवं कल्याण केन्द्र होंगे संचालित

लखनऊ: 15 वें वित्त आयोग के अन्तर्गत नगरीय हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर- 15 वें वित्त आयोग के अन्तर्गत नगरीय क्षेत्रों में प्रत्येक 15000-20000 की आबादी हेतु आयुष्मान भारत-स्वास्थ्य एवं कल्याण केन्द्र (अर्बन हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टरों) को स्थापित करते हुए संचालित किया जाना है। जिसके अन्तर्गत प्रथम चरण मे प्रदेश के 29 जनपदों (आगरा, अलीगढ़, प्रयागराज, बहराइच, बलरामपुर, बरेली, चंदौली, चित्रकूट, इटावा, अयोध्या, फर्रुखाबाद, फतेहपुर, फिरोजाबाद, जी0बी0नगर, गाजियाबाद, गोरखपुर, झांसी, कानपुर नगर, लखनऊ, मथुरा, मेरठ, मिर्जापुर, मुरादाबाद, रामपुर, सहारनपुर, शाहजहांपुर, सिद्धार्थनगर, सोनभद्र एवं वाराणसी) में 275 अर्बन हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर क्रियाशील हैं एवं शेष 572 शहरी स्वास्थ्य एवं कल्याण केन्द्र (अर्बन हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर) की स्थापना जनपदों में प्रक्रियाधीन है।
इन अर्बन हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर के माध्यम से शहरी मलिन बस्तियों में निवास करने वाली जनता जैसे घुमन्तू, ईट-भट्ठों पर काम करने वाले, रेलवे ट्रैक के पास जीवन यापन करने वाले, फैक्ट्रियों में काम करने वाले, कूडा बीनने वाले या अन्य जन सामान्य को डायग्नोस्टिक सेवायें, वेलनेस गतिविधियॉ, औषधि वितरण व टेलीमेडिसीन सेवायें के साथ निम्न 12 प्रकार की प्राथमिक स्वास्थ्य सेवायें दी जा रही हैं-
(1) गर्भावस्था एवं प्रसव सम्बन्धी सेवाएं, (2) 01 वर्ष तक के शिशुओं से सम्बन्धित सेवाएं, (3) बाल्यकाल एवं किशोरावस्था सम्बन्धी स्वास्थ्य देखभाल सेवाएं, (4) परिवार नियोजन, गर्भ निरोधक साधन एवं अन्य प्रजनन स्वास्थ्य सम्बन्धी सेवायें, (5) सामान्य संचारी रोगों का प्रबन्धन एवं सामान्य बीमारियों हेतु बाह्य रोगियों का इलाज, (6) राष्ट्रीय कार्यक्रमों के अन्तर्गत संचारी रोगों का प्रबन्धन, (7) गैर संचारी रोगों की जाँच, बचाव, रोकथाम एवं प्रबन्धन, (8) मुख स्वास्थ्य सम्बन्धी प्राथमिक सेवाएं, (9) नेत्र, नाक, कान एवं गला सम्बन्धी प्राथमिक सेवाएं, (10) मानसिक स्वास्थ्य सम्बन्धी प्राथमिक सेवाएं, (11) आकस्मिक दुर्घटना, बर्न एवं ट्रामा से सम्बन्धित सेवाएं, (12) वृद्धावस्था एवं पैलेटिव केयर से सम्बन्धित सेवाएं।

उपरोक्तानुसार सेवायंे प्रदान करने के लिए संविदा पर 302 एम0बी0बी0एस0 चिकित्सकों का चयन वाक-इन-इंटरव्यू के माध्यम से हो चुका है। स्टाफ नर्स, ए0एन0एम0 का संविदा पर व गार्ड/सपोर्ट स्टाफ एवं क्लीनिंग स्टाफ की नियुक्ति आउट सोर्स के माध्यम से जनपदों में प्रक्रियाधीन है। वर्तमान में, 19 जनपदों में किराये के भवनों में 275 आयुष्मान भारत-स्वास्थ्य एवं कल्याण केन्द्र (अर्बन हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर) क्रियाशील हैं, जिसमें प्रशिक्षित स्टाफ द्वारा टेलीमेडिसीन सेवायें प्रदान की जा रही हैं। इन केन्द्रों में वर्तमान में नियमित टीकाकरण कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है।
आयुष्मान भारत-स्वास्थ्य एवं कल्याण केन्द्र स्तर पर क्षय रोग की जांच की सुविधा क्षय रोग के उन्मूलन के लिए महत्वपूर्ण निर्णय है। इस आशय से संभावित क्षय रोगी के बलगम का संग्रहण और निकटतम परीक्षण केंद्र तक पहुंचाने के लिए समस्त जनपदों को स्पष्ट दिशा-निर्देश जारी किये जा चुके हैं, जिसके अनुसार प्रत्येक स्वास्थ्य एवं कल्याण केंद्र की मैपिंग और लिंकिंग कर परिवहन को सुनिश्चित करते हुए माइक्रोप्लान, रूट-मैप, दस्तावेजीकरण व रिपोर्टिंग, अनुश्रवण एवं मूल्यांकन के साथ ही सम्बंधित स्टाफ का पर्याप्त प्रशिक्षण किया जाना है।
शहरी आबादी को मूलभूत निःशुल्क, गुणवत्तापरक स्वास्थ्य सुविधा उनके निवास के निकट सुगमतापूर्वक उपलब्ध कराने में राष्ट्रीय शहरी स्वास्थ्य मिशन, उत्तर प्रदेश के अन्तर्गत संचालित नगरीय हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टरों की महत्वपूर्ण भूमिका है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य प्रदेश के शहरी क्षेत्रों में विशेषकर मलिन बस्तियों में निवास करने वाली जनता को मूलभूत, गुणवत्तापरक, निःशुल्क प्राथमिक स्वास्थ्य सेवायें उपलब्ध कराना है।

Advertisement

Related posts

गरीबों के मसीहा बन कर पूर्व विधायक अब्दुल कलाम, गरीबों को पहुँचा रहे हैं राहत सामग्री

Sayeed Pathan

अतीक अहमद हत्याकांड की अनसुलझी कड़ियों को सुलझाएगी, ये 40 सीसीटीवी फुटेज की फोरेंसिक जांच

Sayeed Pathan

उत्तर प्रदेश में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल, 14 पीसीएस अधिकारियों के तबादले

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!