Advertisement
संतकबीरनगर

संतकबीरनगर में ग्राम चौपाल के आयोजन पर पलीता लगा रहे हैं, गाँव से लेकर जिले तक के जिम्मेदार

संत कबीर नगर । जहां उत्तर प्रदेश की योगी सरकार अपनी महत्वपूर्ण योजनाओं की जानकारी एवं ग्रामीणों की समस्याओं को गांव में ही समाधान के लिए ग्राम चौपाल का आयोजन करवा रही है वहीं जिम्मेदार ग्राम चौपाल के आयोजन को पलीता लगाने का काम कर रहे हैं ।

Advertisement

मामला यूपी के संत कबीर नगर जनपद के क्षेत्र पंचायत सिमरियावां अंतर्गत ग्राम सभा तिनहरी माफी का है जहां 31 मार्च 2023 दिन शुक्रवार को गांव की समस्या गांव में समाधान कार्यक्रम के अंतर्गत ग्राम चौपाल का आयोजन किया जाना था,लेकिन जब मीडिया टीम गांव में पहुँची तो ग्राम चौपाल के आयोजन की कोई जानकारी नहीं मिल पाई,

हालांकि इससे पहले ग्राम प्रधान से मोबाइल फोन से वार्ता हुई थी तो ग्राम प्रधान ने बताया था कि चौपाल का आयोजन 2 बजे के बाद किया जाएगा । लेकिन ग्रामीणों ने बताया कि यहां चौपाल का आयोजन नहीं किया गया

Advertisement

इस बाबत जब क्षेत्र पंचायत सिमरियावां के बीडियो, एडीओ पंचायत तथा अन्य जिम्मेदारों से मोबाइल फोन के द्वारा जानकारी लेनी चाही तो किसी ने भी मोबाइल फोन रिसीव नहीं किया।

कुछ ग्रामीणों ने बताया है कि ग्राम चौपाल का आयोजन कैसे और कहां हुआ इसकी कोई जानकारी हमें नहीं है, गांव के एक निवासी ने बताया कि ग्राम चौपाल का आयोजन होना था लेकिन पता नहीं कब हुआ,हुआ या नहीं ।

Advertisement

इसी संबंध में ग्राम चौपाल में डियूटी पर लगाए गए एक व्यक्ति जो कृषि विभाग से संबंधित था बताया कि 2:00 हमें यहां आने का समय दिया गया था, मैं अपने निर्धारित समय से यहां पहुंचने के बाद भी देखा कि कोई भी चौपाल से संबंधित जिम्मेदार अधिकारी कर्मचारी मौजूद नहीं है और न ही यहां पर कोई ग्रामवासी मौजूद है इससे ऐसा लगता है कि ग्राम चौपाल का आयोजन नहीं किया गया

अब सवाल उठता है कि सरकार की योजनाओं को क्रियान्वित करने और गांव-गांव तक पहुंचाने के लिए, साथ ही गांव की समस्या को गांव में ही समाधान करने के लिए जब जिम्मेदार ही अपनी जिम्मेदारी को नहीं निभा रहे हैं, तो प्रदेश सरकार की मनसा कैसे पूरी हो सकती है इसे अगर समझा जाए की जिम्मेदार अधिकारी, कर्मचारी, ही योगी सरकार की महत्वकांक्षी योजना ग्राम चौपाल के संचालन को पलीता लगा रहे हैं तो गलत नहीं होगा ।

Advertisement

लेकिन सच्चाई क्या है,आखिर ग्राम वासियों को चौपाल की जानकारी क्यों नहीं, जबकि सरकार का सख्त आदेश है कि संबंधित गांव में ग्राम चौपाल की सूचना दुग्गी मुनादी से सभी ग्राम ग्राम वासियों को समय से दी जाए । जिसकी जांच होने पर ही पता चल पाएगा ।

Advertisement

Related posts

बरगदवां कला स्थित रीलेक्सो डोमस्वेयर परिसर में धूमधाम से मनाया गया, 72वां गणतंत्र दिवस

Sayeed Pathan

आटो व टैक्‍सी चालकों के, लिए गए कोरोना जांच नमूने, जांच में पाजिटिव नहीं पाया गया कोई भी टैक्‍सी या आटो चालक

Sayeed Pathan

प्रशासनिक देख रेख एवं चाक चौबंद व्यवस्था में, क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष के लिए नामांकन प्रक्रिया सम्पन्न

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!