Advertisement
टॉप न्यूज़दिल्ली एन सी आर

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के विरुद्ध अध्यादेश लाकर, केंद्र सरकार ने दिया ताना शाही का परिचय

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ के फैसले को केंद्र सरकार ने पलट दिया है।  केंद्र सरकार ने दिल्ली में अधिकारियों के तबादले और नियुक्ति को लेकर शुक्रवार देर रात अध्यादेश जारी किया है। उल्लेखनीय है कि 11 मई को सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की संवैधानिक पीठ ने फैसला सुनाते हुए कहा था कि दिल्ली में ट्रांसफर-पोस्टिंग और विजिलेंस विभाग पर चुनी हुई सरकार का अधिकार है लेकिन केंद्र सरकार ने इस फैसले को बदल दिया है।

अध्यादेश के मुताबिक तीन सदस्यों वाली राष्ट्रीय राजधानी सिविल सेवा प्राधिकरण का गठन किया जाएगा, जो आपसी सहमति के आधार पर निर्णय करेगी और किसी भी असहमति पर अंतिम निर्णय उपराज्यपाल का होगा। इस अध्यादेश पर आम आदमी पार्टी (आप) ने तीखी प्रतिक्रिया दी है।

Advertisement

केंद्र सरकार की ओर से शुक्रवार देर रात जारी अध्यादेश के मुताबिक, दिल्ली के मुख्यमंत्री प्राधिकरण के अध्यक्ष होंगे और दिल्ली के मुख्य सचिव तथा दिल्ली के प्रधान गृह सचिव इसके पदेन सदस्य होंगे। सभी निर्णय बहुमत के आधार पर लिए जाएंगे। प्राधिकरण की जिम्मेदारी होगी कि वह दिल्ली में सेवा देने वाले दानिक्स अधिकारियों और सभी ग्रुप ए अधिकारियों के स्थानांतरण और पोस्टिंग की सिफारिश करे।

प्राधिकरण एलजी को सिफारिश करेगा जिसके बारे में एलजी को पूछताछ का अधिकार होगा। यदि एलजी प्राधिकरण की सिफारिश से अलग सोच रखते हैं, तो वे लिखित कारणों से फाइल वापस कर सकते हैं। मतभेद की स्थिति में एलजी का निर्णय अंतिम होगा।

Advertisement

प्राधिकरण कुछ को छोड़कर सभी ग्रुप ए अधिकारियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही और अभियोजन स्वीकृति के उद्देश्य से सतर्कता और गैर-सतर्कता से जुड़े मामलों की सिफारिश करेगा।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले से डर गई केंद्र सरकार: आतिशी
दिल्ली सरकार की शिक्षा मंत्री आतिशी मार्लेना ने केंद्र सरकार के इस अध्यादेश को सुप्रीम कोर्ट के संवैधानिक बेंच के आदेश की अवमानना बताया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार अरविंद केजरीवाल को अधिकार मिलने के डर से यह अध्यादेश लेकर आई है। यह अजीब है कि भले ही दिल्ली की जनता ने 90 फीसदी सीट अरविंद केजरीवाल को दी हो लेकिन दिल्ली की सरकार अरविंद केजरीवाल नहीं चला सकते। उन्होंने आगे कहा कि केंद्र सरकार सुप्रीम कोर्ट के फैसले से डरी हुई है।

Advertisement

केंद्र सरकार के इस अध्यादेश को लेकर आप के वरिष्ठ नेता एवं सांसद संजय सिंह ने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट किया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यह अध्यादेश लाकर फिर साबित कर दिया कि वह तानाशाह हैं।

Advertisement

Related posts

बैराज घाट तक निकली एनडीआरएफ और सामाजिक कार्यकर्ताओं की गंगा संरक्षण यात्रा

Sayeed Pathan

दुनियां का पहला 1599 ₹ में देसी मोबाइल फोन, कुछ ही सेकेंड में माप सकते हैं हर्ट रेट और ब्लड प्रेशर

Sayeed Pathan

पीसीएस 2019 रिजल्ट: गोरखपुर के होनहार मेधावियों ने लहराया कामयाबी का परचम, यहां देखें कामयाब चेहरे

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!