Advertisement
अपराध

बीजेपी नेता ने आदिवासी युवक पर किया पेशाब, वीडियो वायरल, मुख्यमंत्री ने दिए कठोरतम दण्ड के निर्देश

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सीधी जिले के वीडियो वायरल मामले में अपराधी को कठोरतम दण्ड देने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि इस मामले में अपराधी को कड़ी से कड़ी सजा दी जाए।

मुख्यमंत्री चौहान ने मंगलवार देर रात्रि जारी बयान में कहा कि अपराधी की न कोई जाति, न धर्म और न कोई पार्टी होती है। अपराधी केवल अपराधी होता है। उन्होंने कहा कि आरोपित को ऐसी सजा दी जाएगी जो उदाहरण बने।

Advertisement

दरअसल, मंगलवार को सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें एक व्यक्ति नशे की हालत में एक युवक के सिर पर पेशाब करते हुए दिख रहा है। वीडियो सामने आने के बाद मुख्यमंत्री चौहान ने मामले को संज्ञान में लेकर इस संबंध में प्रशासन को सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए थे। मामले में मुख्यमंत्री के निर्देश पर पुलिस प्रशासन ने आरोपित के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वायरल वीडियो किसी नागरिक के साथ अमानवीय और निंदनीय ही नहीं, बल्कि घृणास्पद कृत्य का परिचायक है। ऐसा करने वाले आरोपित के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई होना चाहिये। इस संबंध में उन्होंने ट्वीट कर घटना की कड़ी निंदा की थी। मुख्यमंत्री के निर्देश पर सीधी जिले में युवक के साथ आपत्तिजनक व्यवहार करने के मामले में पुलिस द्वारा आरोपित के खिलाफ धारा 294, 504 एससी-एसटी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज की गई है।

Advertisement

इधर, वायरल वीडियो में दिख रहे आरोपित युवक प्रवेश शुक्ला के घर को बुलडोजर से ध्वस्त करने की तैयारी की जा रही है। रात में ही बड़ी संख्या में पुलिस बल आरोपित के घर पहुंच गया है। आरोपित के परिजनों को पूछताछ के लिए पुलिस थाने लाया गया है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अंजुलता पटले ने कहा कि प्रवेश शुक्ला को गिरफ्तार करने का प्रयास किया जा रहा है। घर के आसपास भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। पुलिस पूरे मामले को लेकर चौकन्ना है।

कुबरी गांव का बताया जा रहा वीडियो

Advertisement

वीडियो करीब एक सप्ताह पहले कुबरी गांव का बताया जा रहा है। युवक के खिलाफ सीधी के बहरी थाने में धारा 323, 123, 294, 506 आईपीसी और एनएसए के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया है। पुलिस अधीक्षक डा. रवींद्र वर्मा ने बताया कि अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अंजुलता पटले के नेतृत्व में टीम गठित कर मामले की जांच आरंभ कर दी गई है।

उधर, सीधी विधायक केदारनाथ शुक्ला ने कहा कि वीडियो में जो व्यक्ति स्वयं को मेरा प्रतिनिधि बता रहा है, वह न भाजपा का कोई पदाधिकारी है और न ही मेरा प्रतिनिधि। मेरा उस व्यक्ति से कोई लेना देना नहीं है। यह अमानवीय कृत्य है। ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। वहीं, भाजपा जिलाध्यक्ष देव कुमार सिंह ने भी कहा कि प्रवेश शुक्ला भाजपा में न कोई पदाधिकारी और न ही कोई कार्यकर्ता। उससे पार्टी का कोई लेना देना नहीं है।

Advertisement

Related posts

मूल्य से ज्यादा में बिक रही थी देशी शराब, जानकारी मिलने पर डीएम ने दिया FIR दर्ज़ करने का निर्देश

Sayeed Pathan

शांतिभंग में 16 अभियुक्त को जनपद पुलिस ने किया गिरफ्तार

Sayeed Pathan

दिल्ली में ट्रक ने खड़ी ट्रक में मारी टक्कर, 2 लोगों की मौत और 4 घायल

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!