Advertisement
उतर प्रदेशलखनऊ

एसडीएम ज्योति मौर्या पहुँची लखनऊ, नियुक्ति विभाग में रखा अपना पक्ष, कहा निष्पक्ष जांच कराकर दोषियों पर हो कार्यवाही

लखनऊ। एसडीएम ज्योति मौर्या का विवाद राजधानी लखनऊ पहुंच गया है। पति से विवाद को लेकर चर्चा में आईं बरेली की एसडीएम ज्योति मौर्या ने शासन के नियुक्ति विभाग में अपना पक्ष रखा। उन्होंने शासन के अधिकारियों को बताया कि उनके खिलाफ सोशल मीडिया पर अनर्गल आरोप लगाए जा रहे हैं। इसकी जांच कराई जाए और दोषियों पर कार्रवाई हो। इस संबंध में उन्होंने संबंधित डीएम और कमिश्नर को भी आवेदन दिया है। साथ ही शासन को भी अपना प्रत्यावेदन दिया

एसडीएम ज्योति मौर्या और उनके पति के बीच चल रहे पारिवारिक विवाद के बीच चर्चाओं में आए महोबा के होमगार्ड कमांडेंट मनीष दुबे विभाग की मंडलीय बैठक में हिस्सा लेने झांसी आए। हालांकि, इस दौरान वह मीडिया से दूरी बनाए रहे और प्रकरण से जुड़े किसी भी सवाल का जवाब देने से बचते रहे।

Advertisement

सर्किट हाउस में होमगार्ड विभाग की मंडलीय बैठक हुई, जिसमें हिस्सा लेने परिक्षेत्र के विभागीय अधिकारी आए थे। बैठक में महोबा के होमगार्ड कमांडेंट मनीष दुबे भी शामिल हुए। इसकी भनक लगते ही मीडिया कर्मी वहां पहुंच गए। बैठक खत्म होने के बाद मीडिया कर्मियों ने उनसे ज्योति मौर्या प्रकरण से संबंधित सवाल पूछे, लेकिन उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया और गाड़ी में बैठकर चले गए।

होमगार्ड डीआईजी से बात की तो उन्होंने कहा कि वह ज्योति मौर्या और उनसे जुड़े किसी प्रकरण को वह नहीं जानते हैं। मनीष दुबे को वे जरूर जानते हैं और वे उनके विभाग के अच्छे अधिकारी हैं। बता दें कि ज्योति मौर्या के पति ने मनीष दुबे पर गंभीर आरोप लगाते हुए उनके ज्योति से संबंध बताए थे। इसके बाद से यह प्रकरण अफसरशाही से लेकर सत्ता के गलियारों तक में चर्चाओं में बना हुआ है। इसके अलावा सोशल मीडिया पर भी छाया हुआ है।

Advertisement

बरेली में तैनात महिला एसडीएम व उनके प्रेमी पर धूमनगंज निवासी आलोक मौर्या ने हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया था। पति ने इसकी शिकायत होमगार्ड मुख्यालय में दर्ज कराई है। डीजी होमगार्ड वीके मौर्य ने प्रयागराज के डिप्टी कमांडेंट जनरल संतोष कुमार को जांच सौंपी है।

विभागीय अधिकारियों के मुताबिक, एसडीएम का प्रेमी गाजियाबाद में होमगार्ड कमांडेंट के पद पर तैनात है। उसका एक महिला होमगार्ड के साथ अफेयर भी था। उस पर लखनऊ की एक युवती से विवाह करने का भी आरोप है। मूल रुप से आजमगढ़ निवासी पीड़ित पति प्रतापगढ़ में सफाईकर्मी है।

Advertisement

उसकी शादी 2010 में वाराणसी की एक युवती से हुई थी। 2015 में युवती पीसीएस में चयनित हो गई। कई जिलों में एसडीएम रहने के बाद वर्तमान में बरेली में तैनात है। 2015 में ही उसने जुड़वां बेटियों को भी जन्म दिया। आरोप है कि 2020 में वह होमगार्ड कमांडेंट के संपर्क में आई और पति से दूर होती चली गई।

आरोप है कि दोनों उसकी हत्या की साजिश भी रच रहे हैं। इसकी शिकायत उसने थाने से लेकर अफसरों तक से की, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। वहीं, धूमनगंज इंस्पेक्टर राजेश मौर्य ने बताया कि एसडीएम ने पति समेत अन्य पर दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज कराया है।

Advertisement

Related posts

राज्य सरकार की कैबिनेट की बैठक में मनरेगा मजदूरों के हित में लिए गए महत्वपूर्ण फैसले:-

Sayeed Pathan

सीएम योगी ने -दूसरे राज्यों में फंसे मज़दूरों के लिए, लिया ये बड़ा फैसला

Sayeed Pathan

हज हेतु चयनित यात्रियों के लिये अग्रिम धनराशि रु0 81,800 जमा करने की तिथि 07 अप्रैल से बढ़ाकर 12 अप्रैल की गयी

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!