Advertisement
अन्य

इलाहाबाद हाईकोर्ट का अहम फैसला: लम्बित क्रिमिनल के केस के कारण “निरस्त नहीं होगा शस्त्र लाइसेंस”

प्रयागराज। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने फैसला दिया है कि जब तक लोक शांति भंग होने का खतरा न हो केवल क्रिमिनल केस लंबित होने के आधार पर किसी के शस्त्र लाइसेंस का निरस्तीकरण नहीं किया जा सकता ।

यह आदेश जस्टिस मंजू रानी चौहान ने एटा के रामविलास की याचिका को मंजूर करते हुए दिया है। याचिका दाखिल कर जिलाधिकारी के शस्त्र लाइसेंस निरस्तीकरण आदेश को चुनौती दी गई थी। कहा गया था कि याची के खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 148, 149, 323 ,504 ,506, 321 का केस लगा था जिसमें वह बरी हो चुका है। उसके खिलाफ केवल 302 का एक केस पेंडिंग है। परंतु इस केस में ऐसा कोई सबूत नहीं है जिससे यह कहा जा सके कि उसके शस्त्र लाइसेंस का उपयोग हुआ है।

Advertisement

Related posts

आर्थिक सर्वेक्षण : विकास के दावे खोखले ; बेरोजगारी, असमानता और कर्जदारी बढ़ी — किसान सभा*

Sayeed Pathan

प्रभारी मंत्री ने विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में, सीडीओ, डीसी मनरेगा, समाजकल्याण, जल निगम अधिकारियों को दिया कड़ा निर्देश

Sayeed Pathan

बकाया भुकतान को लेकर,अनिश्चित कालीन धरने पर बैठे, बस्ती चीनी मिल श्रमिक

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!