Advertisement
उतर प्रदेश

ठगी के गोरख धंधे में लिप्त प्रतापगढ़ के एक बाबा सहित दो चेले गिरफ्तार

  • रूपये दुगुने करने का खेल खेल रहे बाबा को अब सुहाएगी जेल….,
  • सहायक पुलिस अधीक्षक की बेहतरीन नेटवर्किंग से बाबा की ठगी का उतरा चोला, तीन भेजे गए जेल

प्रतापगढ़। ….रूपये दुगुने करने का झांसा देकर ठगी के गोरख धंधे में बाबा को आखिर जेल की सलाखों के पीछे कैद होना ही पड़ गया। लालगंज कोतवाली पुलिस को बाबा समेत तीन आरोपी को हिरासत में लेने के साथ ठगी के छियान्बे हजार रूपये व ठगी में फर्जी नंबर प्लेट लगाकर इस्तेमाल करने वाली कार भी बरामद करने में शानदार सफलता मिली। बाबा और उसके दो चेले रविवार को मायूसी के साथ जेल रवाना हुए तो कोतवाली में ठगी करने वाले बाबा को देखने के लिए लोगों में भी खासी उत्सुकता दिखी।

हालांकि बाबा भी चेलों के साथ अपने कर्म पर पछतावे के साथ लोगों से नजर चुराता सिर झुकाए देखा गया। ठगी का मायाजाल फैलाने वाले बाबा को कास पता होता कि वारदात को वह जिस जगह अंजाम दे रहा है वहां उसका खुदा जरूर रूठ गया है। बाबा को क्या मालूम कि जिले की लालगंज कोतवाली का प्रभार इस समय एक युवा आई.पी.एस. टेªनी सहायक पुलिस अधीक्षक के हाथों लालगंज में जरायम को जरा सा भी गुंजाईश नही दिए हुए है। सहायक पुलिस अधीक्षक अमृत जैन ने वारदात के बाद प्रदेश ही नहीं बल्कि यूपी के सीमावर्ती राज्यों की भी पुलिस को एलर्ट कर ऐसा नेटवर्किंग का जाल बिछाया कि बाबा चेलों के साथ धर ही लिए गए। बता दे बीती सत्रह अगस्त को लालगंज बाजार में बाबा के वेश में आए एक व्यक्ति व उसकी निगरानी में लगे दो व्यक्तियों ने बिल्डिंग व्यवसायी सहदेव विश्वकर्मा को चकमा देकर पचास हजार रूपये ठगी से उड़ा लिये।

Advertisement

घटना के बाद आरोपी एक कार से देखते ही देखते बाजार से फुर्र हो गए। बाबा इसके पहले भी ठगी और आंख मिचैली का खेल खेलते मासूमों से हजार दो हजार रूपये की ठगी से अपनी सुख सुविधाओं व ऐसोआराम का तानाबाना बुनता रहा। घटना के तुरन्त बाद ही सहायक पुलिस अधीक्षक अमृत जैन घटना स्थल पर फोर्स के साथ पहुंच गए। वहां प्रतिष्ठानों तथा बैंक में लगे सीसी कैमरों पर एएसपी ने पैनी नजर डाली। इसके बाद घटना के खुलासे को लेकर एएसपी के नेटवर्किंग पूरी तरह फिट बैठी और रविवार को नेशनल हाईवे के धधुवागाजन तिराहे से अल सुबह बाबा और उसके साथ दो आरोपी दरोगा अनिश कुमार यादव के साथ फोर्स के हत्थे चढ़ गया।

पुलिस हिरासत में आए बाबा की पहचान की जानकारी देते हुए रविवार को पत्रकार वार्ता में एएसपी अमृत जैन ने बताया कि आरोपियों से कड़ी पूछताछ में गौतमबुद्ध नगर जिले के कोतवाली विसरख सेक्टर एक नोएडा निवासी रघुवीर नाथ के पुत्र टीटूनाथ तथा आरोपी हरियाणा के फरीदाबाद जिले के थाना छंशा ग्राम बलीपुर मोहना निवासी रमेश नाथ के पुत्र सोनू नाथ तथा मेरठ जिले के किला परिक्षितगढ़ समसपुर निवासी राजीव नाथ के पुत्र अभिषेक नाथ के रूप में हुयी। आरोपियों के पास से पुलिस को व्यवसायी सहदेव से ठगी के पचास हजार सहित ठगी के कुल छियान्बे हजार रूपये तथा घटना में प्रयुक्त मारूती सुजुकी कार बरामद करने में भी बड़ी कामयाबी मिली। पुलिस ने बाबा के खिलाफ जालसाजी तथा चोरी और धोखाधड़ी समेत गम्भीर धाराओं में दर्ज मुकदमें में उसे तथा तीनों आरोपियों को जेल भेज दिया।

Advertisement

Related posts

लखनऊ में माफिया मुख्तार अंसारी के बेटों की दो इमारतें ध्वस्त, हुई झड़प, पुलिस ने खदेड़ा

Sayeed Pathan

ऐतिहासिक किले की वर्षो पुरानी मज़ार को, प्रशासन ने जेसीबी चलवा कर किया ध्वस्त

Sayeed Pathan

वित्तीय धोखाधड़ी व साइबर अपराधों के मामलों में रोकथाम के लिये 20 फरवरी, से 25 फरवरी, 2023 तक चलेगा जनजागरूकता अभियान:-मुख्य सचिव

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!