Advertisement
संतकबीरनगर

संत कबीर नगर:: जिलाधिकारी ने महिला कल्याण, बाल विकास पुष्टाहार, समाज कल्याण, दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं युवा कल्याण के जिम्मेदारों को दिया ये निर्देश

  • डीएम की अध्यक्षता में महत्वपूर्ण बैठक

संत कबीर नगर । ज़िलाधिकारी महेन्द्र सिंह तंवर की अध्यक्षता में महिला कल्याण, दिव्यांग कल्याण, समाज कल्याण, पिछड़ा वर्ग कल्याण, अल्पसंख्यक कल्याण, बाल विकास एवं पुष्टाहार एवं युवा कल्याण विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की अद्यतन स्थिति एवं लक्ष्य के सापेक्ष प्रगति की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित हुई। इस अवसर मुख्य विकास अधिकारी संत कुमार उपस्थित रहे।

महिला कल्याण विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री कन्या सुमगला योजना, निराश्रित महिला पेंशन योजना सहित लाभार्थियों के सापेक्ष आधार सीडिंग की प्रगति की समीक्षा की गयी। जिलाधिकारी ने कल्याणकारी योजनाओं में प्राप्त आवेदन पत्रों/पात्रता के आधार पर लाभ दिये जाने के संबंध में निर्देशित किया कि आवेदन पत्रों की तत्काल जांचकर पात्रता कि दशा में लाभ दिलाया जाना सुनिश्चित किया जाए। लम्बित प्रार्थना पत्रों/शिकायतों के निस्तारण की प्रगति ठीक पायी गयी। जिलाधिकारी ने कहा कि योजनाओं के बारे में आम आदमी को जानकारी दिया जाए एवं प्रचार-प्रसार किया जाए, जिससे कोई भी पात्र व्यक्ति योजनाओं के लाभ वंचित न रहे।

Advertisement

बाल विकास एवं पुष्टाहार की समीक्षा के दौरान पोषण अभियान के तहत संचालित सभी योजनाओं की आकड़ेवार समीक्षा जिलाधिकारी द्वारा की गयी। बैठक में पोषण ट्रैकर की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने असंतोष प्रगति पाये जाने पर तथा विगत बैठक में दिये गये निर्देशों के क्रियान्वयन में लापरवाही पर जिलाधिकारी ने समस्त सीडीपीओ को सुधार की चेतावनी दिया। अनुपूरक पुष्टाहार, शालापूर्व शिक्षा, स्वास्थ पोषण शिक्षा, टीकाकरण, आगनवाड़ी केन्द्रों के माध्यम से 06 माह से 05 वर्ष के आयु के बच्चें/गर्भवती महिलाओं तथा किशोरियों को लाभान्वित किया जाना, शत-प्रतिशत आगनबाड़ी केन्द्रों पर वजन मशीन की उपलब्धता, टीकाकरण, स्वास्थ जांच से सम्बंधित कार्यो की समीक्षा की गयी। जिलाधिकारी ने कुपोषित बच्चों को पुष्टाहार एवं आवश्यक चिकित्सकीय सुविधाओं को उपलब्ध कराते हुए उन्हें सुपोषित श्रेणी में लाने एवं एन0आर0सी0 में भर्ती बच्चों के डिसचार्ज होने बाद आगनबाड़ी कार्यकत्री द्वारा बच्चें के स्वास्थ्य की देख-रेख के विशेष निर्देश दिये गये। जनपद में चयनित आगनवाड़ी केन्द्रों पर लर्निंग लैब बनाये जाने की प्रगति की समीक्षा भी जिलाधिकारी द्वारा की गयी। जिलाधिकारी ने सभी सीडीपीओं को निर्देशित किया है कि आगनवाड़ी कार्यकत्रियों के माध्यम से वीएचएसएमडी सत्र पर बच्चों को अवश्य लाया जाए और उनका स्वास्थ परीक्षण कराया जाए।

जिला दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग के योजनाओं/कार्यो की समीक्षा के दौरान ज़िला दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद में 7454 पेन्शनर्स है जिनका डेटा पीएफएमएस पोर्टल पर अपलोड कर दिया गया हैै। द्वितीय किस्त के भुगतान की प्रकिया निदेशालय के द्वारा चल रही है। जनपद के सभी दिव्यांग पेन्शनर्स का आधार सीडींग किया जा चुका है।

Advertisement

बैठक में समाज कल्याण विभाग की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने विभाग द्वारा संचालित योजनाओं जैसे-मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना, पेंशन, पारिवारिक लाभ योजना, छात्रवृत्ति वितरण आदि योजनाओं की अद्यतन स्थिति की जानकारी प्राप्त करते हुए समाज कल्याण अधिकारी को निर्देशित किया कि लाभार्थीपरक योजनाओं में पात्रता के आधार पर प्राप्त समस्त ऑनलाइन अथवा ऑफलाइन आवेदनो का अबिलम्ब निस्तारित कर दिया जाए। बैठक में जिलाधिकारी ने पोर्टल पर लम्बित आवेदन पत्रों की पेन्डेन्सी दिखाई पड़ने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए अतिशीघ्र निस्तारित करने हेतु निर्देशित किया। उन्होंने पारिवारिक लाभ योजनान्तर्गत लाभार्थियों को समय से लाभ दिलाये जाने तथा पूर्वदशम्/दशमोत्तर छात्रों को छात्रवृत्ति वितरण किये जाने हेतु निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि पेंशन से सम्बंधित शत-प्रतिशत प्रार्थना पत्रों को पात्रता के सत्यापन करते हुए गुणवत्तापूर्ण निस्तारण कर दिया जाए।

इसी क्रम में जिलाधिकारी पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग की समीक्षा के दौरान सम्बंधित अधिकारी को निर्देशित किया कि विभाग द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ पात्र व्यक्तियों को नियमानुसार दिया जाए। विभागीय अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि शादी अनुदान योजना में 322 लक्ष्य के सापेक्ष 373 आवेदन पत्र हुए है जिसके सापेक्ष 150 लाभार्थियों को लाभान्वित कर दिया गया है तथा 73 अपात्र पाये गये है। जिलाधिकारी द्वारा शेष 150 आवेदकों की जांच कर नियमानुसार लाभान्वित किये जाने के निर्देश दिये गये।

Advertisement

युवा कल्याण विभाग की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी द्वारा स्टेडियम निर्माण हेतु भूमि की उपलब्धता के बारे में युवा कल्याण अधिकारी से जानकारी ली गयी। उन्होंने अवगत कराया कि ग्रामीण स्टेडियम के लिए भूमि का चयन बघौली, खलीलाबाद, हैसर, पौली तथा सेमरियांवा में हो चुका है तथा इन सभी विकास खण्डों से प्रस्ताव व स्टीमेट तैयार किया जा रहा है। युवा कल्याण अधिकारी ने बताया कि मेंहदावल, सांथा, बेलहर कला एवं नाथनगर विकास खण्डों में ग्रामीण स्टेडियम में भूमि की तलाश की जा रही है।

जिलाधिकारी ने सभी विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे अपने-अपने विभाग के कार्यो/योजनाओं में प्रगति एवं गुणवत्ता की समीक्षा स्वंय के स्तर पर करते रहें, आई0जी0आर0एस0, जनता दर्शन, जिलाधिकारी संदर्भ, मुख्यमंत्री संदर्भ, तहसील दिवस, थाना दिवस अथवा किसी भी शिकायती संदर्भ के सापेक्ष कोई प्रकरण लम्बित न होने पाये। शिकायती प्रार्थना पत्रों का तत्काल संज्ञान लेते हुए नियमानुसार आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित कराया जाए तथा शिकायतकर्ता की संतुष्टि का फीड बैक भी लिया जाए।

Advertisement

इस अवसर पर प्रशिक्षु उप जिलाधिकारी मंजुल मयंक, जिला समाज कल्याण अधिकारी महेन्द्र कुमार, जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण रवीश चन्द्र, जिला पंचायत राज अधिकारी पी0के0 यादव, जिला प्रोबेशन अधिकारी श्वेता त्रिपाठी, जिला दिव्यांगजन सशक्तीकरण अधिकारी प्रियंका यादव, जिला युवा कल्याण अधिकारी अरूण कुमार पाण्डेय, जिला सेवायोजन अधिकारी शैलेन्द्र शुक्ला, प्रभारी जिला कार्यक्रम अधिकारी सत्येन्द्र सिंह, सूचना अधिकारी सुरेश कुमार सरोज सहित समस्त बाल विकास परियोजना अधिकारी आदि उपस्थित रहे।
*सूचना कार्यालय द्वारा प्रसारित।*

Advertisement

Related posts

सेमरियावां ब्लॉक के ग्राम पंचायत कोइलसा में, ग्राम प्रधान द्वारा किया गया पौधरोपण

Sayeed Pathan

संतकबीरनगर पुलिस ने पचपोखरी में हुई बड़ी चोरी का किया पर्दाफाश, चोरी किए गए सोने और चाँदी के आभूषण सहित 03 गिरफ्तार

Sayeed Pathan

जनपद संतकबीरनगर के समस्त थानों पर समाधान दिवस का किया गया आयोजन

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!