Advertisement
टॉप न्यूज़राजनीति

JHARKHAND:: रंपई सोरेन ने मुख्यमंत्री के रूप में ली सपथ, राज्यपाल ने 10 दिन में बहुमत सिद्ध करने का दिया समय

रांची। चंपई सोरेन ने शुक्रवार 12 बजकर 23 मिनट पर झारखंड के नए मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ले ली। उनके साथ दो मंत्रियों कांग्रेस के आलमगीर आलम और राजद के सत्यानंद भोक्ता ने भी शपथ ली। आलमगीर आलम और बसंत सोरेन डिप्टी सीएम होंगे। राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन ने राजभवन में आयोजित एक सादे समारोह में सीएम और तीन मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई।

राज्यपाल ने नए मुख्यमंत्री को विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए दस दिनों का समय दिया है। आलमगीर आलम झारखंड विधानसभा में कांग्रेस विधायक दल के नेता हैं। सत्यानंद भोक्ता राजद के इकलौते विधायक हैं। दोनों इसके पहले की हेमंत सोरेन सरकार में भी मंत्री थे। चंपई सोरेन झारखंड के 12वें सीएम हैं।

Advertisement

हेमंत सोरेन के इस्तीफे के बाद करीब 30 घंटे तक चले हाई वोल्टेज पॉलिटिकल ड्रामे के बाद गुरुवार की रात करीब साढ़े ग्यारह बजे राजभवन बुलाकर राज्यपाल ने उन्हें सीएम के रूप में नियुक्त करने की सूचना दी और मनोनयन पत्र सौंपा।

हेमंत सोरेन ने ईडी द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद बुधवार की रात करीब साढ़े आठ बजे सीएम पद से इस्तीफा दिया था। इसके तुरंत बाद चंपई सोरेन ने 43 विधायकों के हस्ताक्षर वाला पत्र राज्यपाल को सौंपकर सरकार बनाने का दावा पेश किया था। उन्होंने कहा था कि हमें कुल 47 विधायकों का समर्थन हासिल है।

Advertisement

राज्यपाल की ओर से इसपर फैसले में विलंब होने पर गुरुवार को चंपई सोरेन ने शाम साढ़े पांच बजे राज्यपाल से मुलाकात कर एक बार फिर सरकार बनाने का दावा पेश किया था और उनसे आग्रह किया कि उन्हें सीएम पद की शपथ दिलाई जाए। इसके बाद देर रात राजभवन की ओर से चंपई सोरन को बुलावा आया और उन्हें सीएम के तौर पर मनोनयन का पत्र सौंपा गया।

चंपई सोरेन हेमंत सोरेन की सरकार में परिवहन मंत्री थे। 68 वर्षीय चंपई कोल्हान प्रमंडल के सरायकेला विधानसभा क्षेत्र के विधायक हैं। वह हेमंत सोरेन के सबसे विश्वस्त माने जाते रहे हैं।

Advertisement

इधर, सत्तारूढ़ गठबंधन के 40 विधायक चार्टर्ड प्लेन से हैदराबाद शिफ्ट किए जा रहे हैं। ये सभी लोग विधानसभा में फ्लोर टेस्ट के पहले वापस लाए जाएंगे।

 

Advertisement

Related posts

पीएम आवास के नो फ्लाइंग जोन में ड्रोन उड़ने की सूचना से मचा हड़कंप, एसपीजी हुई हाई एलर्ट

Sayeed Pathan

आये क्यों थे – गए किसलिए, के प्रश्नों में घिरे रहे 2000 के नोट, जो अब हैं भी, नहीं भी!!

Sayeed Pathan

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष पद का चुनाव संपन्न, मतगणना 19 अक्टूबर को- कांग्रेस

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!