अन्यब्रेकिंग न्यूज़

जानिए,छात्र और उसके परिवार को,,अपने पक्ष में क्यों नहीं कर पाए RLD प्रदेश अध्यक्ष

सोशल मीडिया लेखक राजेश्वर चंद्र की कलम से ।

संत कबीर नगर-उत्तर प्रदेश ।  बीते दिनों एक निजी स्कूल के तोड़ फोड़ को राजनीतिक हवा देकर चमकाने की कोशिश मे H, R ,P ,G कॉलेज संत कबीर के छात्र नेताओ साथ हुई मारपीट में छात्र नेताओं ने पुलिस अधीक्षक संत कवीर नगर को ज्ञापन दिया  था जिसमे आरोप लगाया गया था कि राष्ट्रीय लोक दल के पूर्वी उत्तर प्रदेश अध्यक्ष गंगा सिंह सैथवार ने अपने निजी आवास पर एक मीटिंग बुलाई थीं उस मीटिंग में दबाव बनाया गया कि पीड़ित छात्र को न्याय दिलाने के लिए हमारा साथ दे ,लेकिन बैठक में छात्र नेता श्री सैथवार के दिये गए मशवरे से सन्तुष्ट नहीं थे जिसे लेकर तू तू मैं मैं शुरू हो गई और यह तू तू मैं मैं मार पीट में बदल  गई ,जिसके आधार पर गंगा सिंह के ऊपर मुकदमा दर्ज हो गया था।

R L D  पूर्वी उत्तर प्रदेश अध्यक्ष श्री सैथवार के बचाव में  RLD के प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व शिक्षा मंत्री डॉ मसूद 16 सितंबर 19 को खलीलाबाद के डाकबंगला में पत्रकार वार्ता के लिए आए पत्रकार वार्ता के दौरान श्री सैथवार पर लगे मुकदमे को झूठा आरोप में फ़साने की साजिश बता कर बचाव करते नजर आए और उन्होंने पत्रकारों को बताया कि तीन दिन में  गंगा सिंह सैथवार की तरफ से पुलिस ने अगर  FIR दर्ज  नही की तो रालोद प्रदेश स्तर पर प्रदर्शन करेगा ।

विदित हो कि जिस निजी स्कूल के तोड़फोड़ में नामजद हुए युवक को लेकर राजनीति के लिए चमकाने की कोशिश कर रहे थे, उसके लिए RLD के प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर मसूद और पूर्वी उत्तर प्रदेश अध्यक्ष गंगा सिंह , व समर्थक नाथनगर क्षेत्र में उस छात्र के घर जाकर उसके परिवार को पार्टी सपोर्ट की बात को छात्र के पिता को बताया लेकिन छात्र के पिता ने प्रस्ताव को सिरे से खारिज कर दिया और बताया कि उसके बच्चे द्वारा नादानी में किये गए गलती को स्कूल प्रबधक के द्वारा माफ कर दिया गया है, पुलिस को दिए तहरीर को वापस लेकर मेरे बच्चे के जीवन को उज्वल भविष्य दिए है, मैं अपने बच्चे के मोह में मेरे बच्चे की गई गलती को दबा कर स्कूल प्रबंधक के ऊपर लगाए। अब मैं अपना आरोप को वापस ले लिया हूँ क्योंकि मैं ही नही  कोई अविभावक अपने बच्चे की गलती को पर्दा डालता है तो वह अपने बच्चे के भबिष्य को अंधकार में डालता है जिस स्कूल में हम अपने बच्चे को शिझा देने भेजते हैं उसे पहले अविभावक ही परखते हैं, औऱ संतुष्ट होकर ही उस स्कूल में भेजते हैं, अगर स्कूल मैनेजमेंट गलत रहता तो हम अपने बच्चे को क्यों उस स्कूल में भेजते।

यह मानता हूँ कि जिस तरह हम अपने परिवार को सही दिशा में ले जाने के लिये कभी कभी कड़ा रुख अपनाना पड़ता है, उसी तहर अगर स्कूल मैनेजमेंट कड़ा रुख अपनाता है तो इसमें गतल क्या है ,आखिर घर के बाद स्कूल मैनेजमेंट ही तो अविभावक होता है ।

पिता के इस बयान के बाद कोई चारा बचता ना देख राष्ट्रीय लोक दल के प्रदेश अध्यक्ष डॉ मसूद, गंगा सिंह के ऊपर लगे मुकदमो की दुहाई देने लगते हैैं जिसे युवक के पिता एक बार फिर इनकी दुहाई को खारिज करते हुए कहता है कि उस समय मैं अपने बच्चे के ऊपर स्कूल प्रबंधक द्वारा पुलिस को दिए तहरीर से परेशान था, अपने बच्चे के बचाव में मुझे जो दिखा मैं बगैर सोचे समझे कर दिया,  ऐसे में पता चला कि मेरे बच्चे के भविष्य के साथ राष्ट्रीय लोक दल के अध्यक्ष गंगा सिंह सिर्फ राजनीति कर रहे है पिता के बयान के बाद राष्ट्रीय लोक दल के प्रदेश अध्यक्ष अपने समर्थकों के साथ बड़े मायूस होकर  छात्र के घर से वापस चले जाते है।
राजेश्वर चंद्र
 संपर्क-8601920623

उपरोक्त विचार और लेख , लेखक के अपने विचार हैं इससे संपादक का सहमत होना अनिवार्य नहीं ।

सईद पठान -संपादक

इस पोस्ट से अगर किसी को कोई आपत्ति हो तो कृपया 24 घंटे के अंदर Email-missionsandesh.skn@gmail.com पर अपनी आपत्ति दर्ज कराएं जिससे खबर/पोस्ट/कंटेंट को हटाया या सुधार किया जा सके, इसके बाद संपादक/रिपोर्टर की कोई जिम्मेदारी नहीं होग

Related posts

बिना लिखित परीक्षा के रेलवे में होगी 4000 पदों पर भर्तियां, 10वीं पास 8 दिसंबर तक करें आवेदन

Sayeed Pathan

घायल पिता को साइकिल पर बैठाकर,15 साल की लड़की एक हफ़्ते में गुरुग्राम से पहुँची बिहार

Sayeed Pathan

विकास दुबे कांड: वायरल काल रिकॉर्डिंग से पुलिस मोहकमें में मचा हड़कम, जानिए क्यों

Sayeed Pathan
error: Content is protected !!