अन्यब्रेकिंग न्यूज़

अनुदानित मदरसा में हो रही मनमानी पर, कार्यवाही करने के लिए प्रबंधक ने दी चेतावनी

धनघटा-सन्त कबीर नगर।
धनघटा तहसील क्षेत्र के ग्राम पंचायत झिंगुरापार के पुरवा रौजा में स्थित अनुदानित मदरसा मिस्बाहुल उलूम पर मदरसा बोर्ड से जारी समय सारणी कोई मायने नहीं रखती है।
उक्त मदरसे का संचालन पूर्व में प्रात:8 बजे से1बजे तक था।
लेकिन दिखावा करने के लिए 1अक्तूबर से बोर्ड के आदेशानुसार प्रात:9 बजे से 2 बजे तक मदरसे का संचालन तो हुआ लेकिन दो दिन बाद ही प्रधानाचार्य और तथाकथित प्रधानाचार्य के चहेते अध्यापक रणनीति बनाकर समय अपने निजी स्वार्थ के लिए बदल दिए हैं। 8.30बजे से 1.30बजे कर दिए हैं।
जो कि उच्चाधिकारियों के आदेश की अवहेलना है।
जबकि कार्यालय में पूर्व समय सारिणी ही चस्पा है।
ऐसा इसलिए कि मनमाचाहे ढंग से इन्हें मदरसा में उपस्थित होकर विभाग को गुमराह करना भी है। साथ ही साथ इन्हें प्रधानाचार्य को खुश कर मदरसे से गायब भी होना रहता है।
प्रतिदिन उक्त मदरसे के एक दो अध्यापक छुट्टी पर ही रहते हैं या दो घंटे उपस्थिति दर्ज कर चले जाते हैं। न तो चपरासी के आने का कोई समय निर्धारित है न ही अध्यापकों का।
यहां तक कि तीन -तीन, चार -चार दिन लगातार बिना जिला अल्पसंख्यक विभाग को सूचित किए गायब रहते हैं।
ऐसा प्रतीत होता है कि लगातार अनुपस्थिति पर बिना उच्चाधिकारियों को अवगत कराये ही जाना कोई शासनादेश जारी हो।
इस सम्बन्ध में मदरसा उपरोक्त के प्रबन्धक ने कहा कि जांच कर मनमानी करने वाले प्रधानाचार्य व मदरसा शिक्षकों पर विधिक कार्यवाही की संस्तुति उच्चाधिकारियों को भेजी जाएगी।

इस पोस्ट से अगर किसी को कोई आपत्ति हो तो कृपया 24 घंटे के अंदर Email-missionsandesh.skn@gmail.com पर अपनी आपत्ति दर्ज कराएं जिससे खबर/पोस्ट/कंटेंट को हटाया या सुधार किया जा सके, इसके बाद संपादक/रिपोर्टर की कोई जिम्मेदारी नहीं होग

Related posts

अयोध्या मामला-खाली जमीन पर नहीं बनाई गई थी मस्जिद-CJI

Sayeed Pathan

इस SBI शाखा प्रबंधक के अड़ियल रवैये से परेशान हैं खाताधारक

Sayeed Pathan

पूर्व CJI रंजन गोगोई के खिलाफ केस को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया ये फैसला-: कहा रंजन गोगोई के खिलाफ साज़िश की आशंका को नकारा नहीं जा सकता

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!