अन्यउत्तर प्रदेशबस्तीब्रेकिंग न्यूज़

डीएम के साथ प्रमुख सचिव ने अस्पताल व ब्लॉक का किया निरीक्षण

*बस्ती यूपी* हर्रैया।जिले के नोडल अधिकारी प्रमुख सचिव, चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास एवं आबकारी उत्तर प्रदेश शासन संजय आर भूसरेड्डी ने शुक्रवार को देर शाम सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र हर्रैया और विकास खण्ड़ का निरीक्षण किया। सीएचसी में तमाम कमिया पाए जाने पर उन्होंनें सीएमओ और अधीक्षक को फटकार लगाते हुए सुधार का निर्देश दिया और कहा कि अगले माह पुनः निरीक्षण किया जायेगा और कोई भी कमी पायी गई तो कार्रवाई की जायेगी।*

*पूरे दिन प्रमुख सचिव का इंतजार कर रहे स्वास्थ्यकर्मियों की सांसे अटकी रही देर शाम उनक¢ निरीक्षण के पश्चात राहत की सांस लिया।*

*गौरतलब है कि श्री रेड्डी को सायं 4ः30 बजे सीएचसी का निरीक्षण करने का समय निर्धारित किया गया था। उनके स्वागत में जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन, मुख्य विकास अधिकारी अरबिन्द कुमार, एडीएम रमेशचन्द्र और अन्य अधिकारी इंतजार कर रहे थे। हर्रैया डाक बंगले पर उनके भोजन की व्यवस्था की गई थी लेकिन उनके आने में देरी होने पर जिलाधिकारी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुँच गए और लगभग दो घण्टे तक अस्पताल में हर चीज का बारीकी से निरीक्षण किया। सीएचसी में तमाम कमी पाए जाने पर उन्होंनें वार्ड व्याय से लेकर सीएमओ तक की क्लास लिया। देर शाम लगभग 7ः15 बज प्रमुख सचिव का आगमन हुआ तो वे चायपानी के पश्चात सीधे सीएचसी में पहुँचे। उन्होंनें सबसे पहले साल रोग विशेषज्ञ डाॅ. एम.के.चैधरी के रूम में प्रवेश किया जहां धात्री माताओं एवं बच्चों से सम्बन्धित विभिन्न रोगो आदि के बारे में विस्तार से जानकारी लिया और माताओं तथा बच्चों को स्वस्थ रखने के लिए विभिन्न जानकारियां देने का निर्देश दिया। उन्होंनें कहा कि धात्री माताओं एवं बच्चों से सम्बन्धित रोगो से बचाव एवं लक्षण क¢ विषय में हैण्ड़ बिल और पोस्टर छपवाकर बांटने तथा बैनर आदि लगाकर उन्हें जागरूक करने का निर्देश दिया। नोडल अधिकारी द्वारा पूछे गए विभिन्न सवालो का जबाब ठीक से नही दे पाए तो उन्होंनें अधीक्षक आर.के. सिंह और सीएमओ डाॅ. अरबिन्द कुमार गुप्ता से भी जानकारी लिया। उन्होंनें बच्चों में आयरन, विटामिन आदि की कमी के लिए दिए जाने वाले दवाई की उपलब्धता के बारे में जानना चाहा तो अधीक्षक ने कहा कि आयरन नही था कल आया है। इस पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्होंनें कहा कि अभी तक नही था तो क्या किया। नोडल अधिकारी ने देखे गए मरीजो की जानकारी के लिए डेटा मांगा तो डाॅक्टर नही बता पाए। उन्होंनें सारे रिकार्ड डेटा वाइज मेनटेन करने का निर्देश दिया। शौचालय में गंदगी देख प्रमुख सचिव विफर गए और उन्होंनें कडी फटकार लगायी। उन्होंनें सीएचसी का रखरखाव और साफ-सफाई का कार्य देख रहे एजेन्सी का एग्रीमेन्ट तत्काल निरस्त कर नया एग्रीमेन्ट करने का निर्देश जिलाधिकारी को दिया। यह भी निर्देश दिया कि जितने दिन काम नही किया गया है कान्ट्रक्टर से उसकी कटौती कर कान्ट्रक्ट टर्मिनेट किया जाय। उन्होंनें डेªसिंग रूम, डेण्टल युनिट का निरीक्षण किया जहां इलेक्ट्रिक युनिट कन्ट्रोल खराब पाए जाने पर दंत चिकित्सक डाॅ. दीपक कुमार को फटकार लगाते हुए अधीक्षक एवं सीएमओ से उसे ठीक कराने का निर्देश दिया। श्री रेड्डी ने महिला शौचालय, चीफ फार्माशिस्ट रूम का निरीक्षण किया जहां का फ्रीज एवं रूम गंदा होने पर कड़ी फटकार लगायी। उन्होंनें आरएनटीसीपी लैब का निरीक्षण कर आने वाले मरीजों की संख्या की जानकारी लिया। पैथालाॅजी, रेडियोलाॅजी, प्रसव कक्ष आदि का भी निरीक्षण किया। प्रसव कक्ष में तैनात स्टाॅफ नर्स से उन्होंनें आवश्यक जानकारी लिया तो उसने बताया कि डाॅ. सीमा शर्मा रात में ड्यूटी नही करती जब उन्होंनें अधीक्षक से इस सम्बन्ध में पूछा तो उन्होंनें उसकी पुष्टि किया। श्री रेड्डी ने डाॅक्टर से बात कर ड्यूटी करने के लिए जिलाधिकारी को जिम्मेदारी सौंपी। जेएसवाई वार्ड का दरवाजा टूटा हुआ था तथा दिमागी बुखार वार्ड में डोर क्लोजर नही लगा था जिसे अविलम्ब लगवाने का निर्देश दिया। उन्होंनें कहा कि अगले माह पुनः निरीक्षण करेगें और कमी पाए जाने पर सम्बन्धित के विरूद्ध र्कावाई की जायेगी। इस दौरान डाॅ. अभय सिंह सहित तमाम कर्मचारी मौजूद रहे। इसके पश्चात अधिकारियों का काफिला ब्लाॅक में पहुँचा। वहां पहुँचते ही प्रमुख सचिव ने जेई आरईएस दीनानाथ को बुलाकर तत्काल सीएचसी में वार्ड के टूटे दरवाजे को लगवाने का निर्देश दिया। तत्पश्चात विभिन्न विकास सम्बन्धी योजनाओं के विषय में जानकारी प्राप्त किया। उन्होंनें तालाबों के बारे में पूछा तथा अगले दिन कम से कम एक तालाब का निरीक्षण करने को कहा। उन्होंनें मनरेगा द्वारा कराए गए कार्य, सृजित मानव दिवस, वर्मीकम्पोस्ट, मेडबंदी, लैण्ड़लेवलिंग आदि के विषय में पूछा तो बीडीओ उमाशंकर सिंह ने विस्तार से जानकारी दिया। बैकलाॅज और गोआश्रय स्थल, शौचालय, एनआरएलएम के तहत महिला समूह आदि के विषय में भी जानकारी प्राप्त किया। प्रधानमंत्री आवास मात्र 25 प्रतिशत पूर्ण पाया गया जिस पर उन्होंनें जानकारी मांगा तो बीडीओ ने बताया कि कार्य प्रगति पर है। एक सप्ताह में पूरा हो जायेगा। प्रमुख सचिव ने राज्यवित्त आयोग और ओडीएफ सहित अन्य योजनाओं का अभिलेख चेक किया तथा आवश्यक दिशा-निर्देश दिया। उन्होंनें मुख्य विकास अधिकारी से ओडीएफ के विषय में पूछा तो उन्होंनें बताया कि 89 हजार शौचालय बन रहे है तथा युनिवर्सल सर्वे में 39 हजार को चिन्हित किया गया है जिसका कार्य प्रगति पर है कहा कि प्रत्येक गांव में चार शीटर शौचालय बनाए जायेगें जिससे कोई भी खुले में शौंच जाने के लिए मजबूर न हो। इस दौरान डीएम, एडीएम, जिला विकास अधिकारी अजीत श्रीवास्तव, सायक सूचना निदेशक प्रभाकर तिवारी, एसडीएम आशाराम वर्मा, सीओ शिव प्रताप सिंह, थानाध्यक्ष ओपी यादव सहित तमाम अधिकारी मौजूद रहे।*

इस पोस्ट से अगर किसी को कोई आपत्ति हो तो कृपया 24 घंटे के अंदर Email-missionsandesh.skn@gmail.com पर अपनी आपत्ति दर्ज कराएं जिससे खबर/पोस्ट/कंटेंट को हटाया या सुधार किया जा सके, इसके बाद संपादक/रिपोर्टर की कोई जिम्मेदारी नहीं होग

Related posts

आईआईटी दिल्ली ने बनाया प्रोटीन से परिपूर्ण शाकाहारी अंडा

Sayeed Pathan

रूट बदलकर लाल किले की ओर बढ़ा किसानों का एक जत्था आईटीओ पर पहुंचा

Sayeed Pathan

Sayeed Pathan
error: Content is protected !!