अन्यउत्तर प्रदेशसंतकबीरनगरस्वास्थ्य

बिना सीएमओ को सूचना दिए सार्वजनिक की रिपोर्ट,तो चिकित्सा केंद्रों पैथालॉजी संचालक पर होगी कार्यवाही-:सीएमओ

–    सीएमओ ने सभी पैथॉलाजी और नर्सिंग होम के लिए जारी किए निर्देश

*जांच में संक्रामक रोगों की पुष्टि हो तो स्‍वास्‍थ्‍य विभाग को सूचना दें पैथॉलाजी संचालक*

रहमत अली खान की रिपोर्ट

संतकबीरनगर । मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ हरगोविन्‍द सिंह ने जिले के सभी प्राइवेट चिकित्‍सा केन्‍द्रों व पैथालाजी संचालकों को निर्देश दिया है कि अगर जांच में कहीं भी संक्रामक रोगों के मरीज सामने आते हैं तो उसकी पहली सूचना जिले के स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारियों को दी जाए। अगर बिना सूचना दिए इस बात को सार्वजनिक किया जाता है तो ऐसे चिकित्‍सा केन्‍द्रों के खिलाफ  दण्‍डात्‍मक कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए वह खुद जिम्‍मेदार होंगे।

सीएमओ ने बताया उत्‍तर प्रदेश शासन के आदेश के अनुपालन के क्रम में संतकबीरनगर जनपद में क्रियाशील सभी निजी नर्सिंग होम, पैथालॉजी, क्‍लीनिक , चिकित्‍सालय, नैदानिक चिकित्‍सा केन्‍द्रों में प्रयोगशाला परीक्षण की रिपोर्ट में डेंगू, चि‍कनगुनिया, मलेरिया, स्‍वाइन फ्लू, कालाजार व अन्‍य संक्रामक रोगों की जांच पाजिटिव पाई जाती है तो सबसे पहले इसकी सूचना सीएमओ कार्यालय को दें। ताकि समय रहते ही चिकित्‍सा विभाग मरीज के निवास प्रक्षेत्र में टीम भेजकर जानकारी प्राप्‍त कर सके। इसके साथ ही मरीज की उच्‍च गुणवत्‍ता वाली सेण्‍टीनल लैब में जांच करके रोग की पुष्टि की जा सके। उसकी सूचना आईएचआईपी पोर्टल पर दी जा सके।  साथ ही साथ देश के प्रसिद्ध विशेषज्ञ चिकित्‍सकों के जरिए राय भी प्राप्‍त कर सके। उन्‍होने कहा कि प्राय: यह देखा जाता है कि पैथालॉजी संचालक उन्‍नत किट के जरिए जांच नहीं करते हैं। बल्कि किसी भी किट से जांच कर देते हैं और आशंका के आधार पर रोग की पुष्टि कर देते है। यह बात सार्वजनिक हो जाती है तो लोगों के अन्‍दर अनावश्‍यक भय का वातावरण पैदा होता है। जिसके चलते स्थिति काफी खराब हो जाती है। पहले ही सूचना दे देने के बाद ऐसी स्थिति नहीं होगी और जिला और ब्‍लाक लेबल पर बनाई गई टीमें सक्रिय होकर क्षेत्र की पूरी छानबीन भी कर लेंगी। यदि ऐसा नहीं किया जाता है तो ऐसे निजी स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्र के खिलाफ दण्‍डात्‍मक कार्रवाई  की जाएगी, जिसके लिए वे खुद जिम्‍मेदार होंगे।

*यहां पर देनी होंगी सूचनाएं*

अगर कहीं कोई मरीज संक्रामक रोगों से ग्रसित पाया जाता है तो इसकी पहली सूचना सीएमओ संतकबीरनगर कार्यालय के कक्ष संख्‍या 12 आईडीएसपी अथवा संक्रामक रोग अनुभाग में दी जाए। यह सूचना ईमेल आईडी cmosknagar@gmail.com  या dmosknr@gmail.com पर भी दी जा सकती है।

इस पोस्ट से अगर किसी को कोई आपत्ति हो तो कृपया 24 घंटे के अंदर Email-missionsandesh.skn@gmail.com पर अपनी आपत्ति दर्ज कराएं जिससे खबर/पोस्ट/कंटेंट को हटाया या सुधार किया जा सके, इसके बाद संपादक/रिपोर्टर की कोई जिम्मेदारी नहीं होग

Related posts

NTPC, CBT Exam 2020- रेलवे बोर्ड ने जारी किया फाइनल एग्जाम डेट, इस दिन से मिलेगा एडमिट कार्ड

Sayeed Pathan

संतकबीरनगर पुलिस मुठभेड़ के दौरान, 08 वर्षीय नाबालिग कृष्णा हत्याकाण्ड में शामिल, 02 अभियुक्तों को 24 घंटे के अन्दर किया गिरफ्तार

Sayeed Pathan

बच्‍चों को बिटामिन ए की खुराक पिलाकर बाल स्‍वास्‍थ्‍य पोषण माह का शुभारंभ

Sayeed Pathan
error: Content is protected !!