अन्य

महाराष्ट्र में अब राष्ट्रपति शासन लगाने की तैयारी ! शिवसेना सुप्रीमकोर्ट जाने की कर रही है तैयारी !!

महाराष्ट्र ।

महाराष्ट्र अब राष्ट्रपति शासन की ओर जाता दिख रहा है। अमर उजाला की खबर के अनुसार महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोशियारी ने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश कर दी है। हालांकि राजभवन प्रवक्ता ने इसका खंडन किया है। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्राजील रवाना होने से पहले कैबिनेट की आपात बैठक बुलाई है। वहीं शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट जाने की तैयारी भी कर ली है।

Loading video

शिवसेना ने की सुप्रीम कोर्ट जाने की तैयारी

शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट जाने की तैयारी भी कर ली है। दरअसल, आज शाम 8:30 बजे तक राज्यपाल ने एनसीपी को सरकार बनाने का दावा पेश करने का समय दिया है। अगर इससे पहले राष्ट्रपति शासन लगाया जाता है तो कांग्रेस, एनसीपी या शिवसेना सुप्रीम कोर्ट जा सकती है। उद्धव ठाकरे ने वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल से इस बाबत संपर्क भी किया है। वहीं एनसीपी ने वैकल्पिक सरकार के गठन के वास्ते शरद पवार को अधिकृत कर दिया है। पार्टी प्रवक्ता  नवाब मलिक ने कहा कि कांग्रेस के नेता अहमद पटेल, मल्लिकार्जुन खड़गे, के सी वेणुगोपाल शाम पांच बजे शरद पवार से मुलाकात करेंगे। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में सरकार गठन पर चर्चा के लिए पवार की अध्यक्षता में समिति गठित की गई है। एक सवाल के जवाब में नवाब मलिक ने कहा कि राजभवन की ओर से कहा गया है कि राष्ट्रपति शासन की सिफारिश या निर्णय नहीं लिया गया है।

पीएम मोदी ने बुलाई केंद्रीय कैबिनेट की आपात बैठक

ब्रिक्स सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए जाने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्रीय कैबिनेट की आपात बैठक बुलाई है। जिसके बाद वह ब्राजील के लिए रवाना हो जाएंगे। वहीं डीडी न्यूज के सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि राज्यपाल ने महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने की सिफारिश कर दी गई है। पहले ऐसी अटकलें थीं कि यदि नियत समय के भीतर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी  (एनसीपी) राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को समर्थन पत्र नहीं सौंपती है तो राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाया जा सकता है।

हालांकि अब खबर आ रही है कि राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने की सिफारिश की जा चुकी है। केंद्रीय कैबिनेट की बैठक की बात करें तो बैठक में किस विषय पर चर्चा होगी इसका एजेंडा फिलहाल स्पष्ट नहीं है। माना जा रहा कि बैठक में ब्रिक्स सम्मेलन के दौरान होने वाले समझौतों को लेकर चर्चा की जा सकती है।

 

सोनिया ने पवार से बात की, खड़गे समेत वरिष्ठ नेता जाएंगे मुंबई

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने एनसीपी प्रमुख शरद पवार के साथ बातचीत की और महाराष्ट्र में सरकार गठन के मुद्दे पर आगे की चर्चा के लिए पार्टी के तीन वरिष्ठ नेताओं को अधिकृत किया। कांग्रेस नेता अहमद पटेल, मल्लिकार्जुन खड़गे और के सी वेणुगोपाल राकांपा प्रमुख शरद पवार के साथ विचारविमर्श करने के लिए शाम तक मुंबई के लिए रवाना होंगे।

इससे पहले, सोनिया ने आज सुबह फोन पर पवार के साथ बात की और अपने पार्टी नेताओं से कहा कि वे मुंबई जा कर एनसीपी प्रमुख से मिलें। वेणुगोपाल ने ट्वीट किया ‘कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आज सुबह शरद पवार से बात की और अहमद पटेल, मल्लिकार्जुन खड़गे तथा मुझे पवार के साथ आगे की चर्चा करने के लिए अधिकृत किया।’ उन्होंने आगे कहा कि हम तीनों मुंबई जा रहे हैं और पवार से यथाशीघ्र मुलाकात करेंगे।

इससे पहले, सोनिया ने पार्टी की कोर टीम के सदस्यों ए के एंटनी तथा वेणुगोपाल के साथ अपने आवास पर विचारविमर्श किया। समझा जाता है कि अहमद पटेल ने भी सरकार गठन से जुड़े समीकरणों पर एनसीपी के साथ चर्चा की। इससे पहले खड़गे ने कहा था कि पार्टी नेतृत्व पवार से संपर्क बनाए हुए है और महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर एनसीपी के साथ आगे की बातचीत चल रही है।

भाजपा या शिवसेना को ओवैसी नहीं देंगे समर्थन

एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन औवैसी से जब पूछा गया कि क्या उनकी पार्टी शिवसेना को समर्थन देगी तो उन्होंने कहा, हमारा रुख साफ है। शिवसेना और भाजपा में कोई फर्क नहीं है। हम भाजपा या शिवसेना को समर्थन नहीं देंगे। कांग्रेस भी अपना असली चेहरा दिखा रही है।

किसने कहा कि कांग्रेस के साथ बैठक होगी: पवार

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के मुखिया शरद पवार से जब पत्रकारों ने पूछा कि क्या कांग्रेस की तरफ से देर हो रही है तो उन्होंने कहा, ‘मैं कांग्रेस से बात करूंगा।’  जब उनसे ये पूछ गया कि क्या आज कांग्रेस और एनसीपी के बीच कोई बैठक होने वाली है तो उन्होंने कहा, ‘किसने कहा कि बैठक होने वाली है। मुझे नहीं पता।’
Source-amarujala

इस पोस्ट से अगर किसी को कोई आपत्ति हो तो कृपया 24 घंटे के अंदर Email-missionsandesh.skn@gmail.com पर अपनी आपत्ति दर्ज कराएं जिससे खबर/पोस्ट/कंटेंट को हटाया या सुधार किया जा सके, इसके बाद संपादक/रिपोर्टर की कोई जिम्मेदारी नहीं होग

Related posts

न्यायालय चेम्बर में घुसकर कार्य में बाधा,और अभद्रता करने वाले अज्ञात अधिवक्ताओं के विरुद्ध मुकदमा दर्ज

Sayeed Pathan

पूर्व CJI रंजन गोगोई के खिलाफ केस को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया ये फैसला-: कहा रंजन गोगोई के खिलाफ साज़िश की आशंका को नकारा नहीं जा सकता

Sayeed Pathan

तीन बहनों ने रखा,एक ही शख्स के लिए करवाचौथ का व्रत

Sayeed Pathan
error: Content is protected !!