अन्यउत्तर प्रदेशसंतकबीरनगर

जिलाधिकारी व एसपी सहित जिले के समस्त विभागीय अधिकारियों के साथ,नोडल अधिकारी ने विकास कार्यों की गहन समीक्षा की

संत कबीर नगर । प्रमुख सचिव, होमगार्ड, उ0प्र0 शासन/जनपद के नोडल अधिकारी अनिल कुमार, आई0ए0एस0 ने  अपने दो दिवसीय जनपद भ्रमण के पहले दिन स्थानीय कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी रवीश गुप्ता, पुलिस अधीक्षक ब्रजेश सिंह एवं सभी विभागों के जनपद स्तरीय अधिकारियों के साथ शासन के प्राथमिकताओं वालें महत्वपूर्ण बिन्दुओं सहित विभिन्न विकास कार्यक्रमों की गहन समीक्षा किया।
बुधवार अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करते हुए नोडल अधिकारी अनिल कुमार का खासा अंदाज दिखा, उन्होंने विभागीय कार्यक्रमों/योजनाओं एवं निर्माण कार्यो की समीक्षा करने के अलावा अधिकारियों में उनकी कार्य के प्रति दक्षता, प्रभावकारिता/उत्पादकता एवं समर्पण भाव बढाने संबंधित व्यक्तिगत पहलुओं पर प्रेरणात्मक ध्यान केेन्द्रित करते हुए अधिकारियोें को उत्साह से भर दिया।

श्री कुमार ने बताया कि कैसे अधिकारीगण उपलब्ध संसाधनों का बेहतर उपयोग करके योजनाओं के क्रियान्वयन में सबसे अच्छी उत्पादकता हासिल कर सकते है जिससे उनका कार्य दूसरों के लिए एक नसीहत बन सकें। श्री कुमार एक-एक अधिकारी के साथ व्यक्तिगत तौर पर उनके विभागीय कार्यो/योजनाओं के संचालन/क्रियान्वयन में आने वाली व्यवहारिक दिक्कतों के बारे में भी पूछताछ करते हुए इसके समाधान संबंधी उपायोें को सुझाया जिससे अधिकारियों में आशातीत संतुष्टि एवं उत्साह दिखा।

उन्होंने कहा कि इस समीक्षा बैठक का एक मात्र उद््देश्य यही है कि शासन की  मंशा के  अनुरूप कार्य योजना इस प्रकार से तैयार किया जाए कि योजनाओं के क्रियान्वयन का सीधा प्रभाव आम जनमानस पर पड़े। नोडल अधिकारी श्री कुमार ने प्रत्येक विभाग के उच्चाधिकारियों से उनके विभागीय स्तर पर अपनी इच्छानुसार ऐसे 5 कार्यो की सूची भी तैयार करने को कहा जिसके क्रियान्वयन के फलस्वरूप व्यवस्था में आमूल-चूल परिवर्तन परिलक्षित हो सकता हो और ग्रास रूट लेवल के व्यक्ति/आम जन मानस के लिए हितकारी हो।

गोवंश संरक्षण की समीक्षा के दौरान मुख्य पुश चिकित्साधिकारी ने जनपद में इस योजना के  क्रियान्वयन की पूरी जानकारी दिया और बताया कि जनपद में न्याय पंचायत स्तर पर कुल 82 अस्थायी गोवंश आश्रय स्थल, नगर निकाय स्तर पर कुल 03 कन्हा आश्रय स्थल एवं जिला पंचायत स्तर पर कांजी हाऊस में गोवंश संरक्षित किये गये है। जानकारी प्र्राप्त करते हुए श्री कुमार ने कहा कि ‘‘मा0 मुख्यमंत्री निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता  योजना’’ के तहत  इच्छुक पशुपालकों को गोवंश सुपुर्द किया जाए और निर्धारित 900रू0 प्रति माह की सहायता धनराशि उपलब्ध कराई जाए, जानकारी दी गयी कि जनपद में लक्षित 421 के सापेक्ष अब तक 184 गोवंश पशुपालको को सुपुर्द किया जा चुका हैै। श्री कुमार ने जनपद के जिगिना स्थित गोवंश आश्रय स्थल का स्थलीय निरीक्षण कराने का भी निर्देश दिया, जिसमें 82 गोवंश संरक्षित है।

नोडल अधिकारी श्री कुमार ने मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 हरगोविन्द सिंह से आयुष्मान योजना के लाभार्थियों को अच्छादित किये जाने संबंधी प्रक्रिया पर भी विस्तृत चर्चा करते हुए जिला चिकित्सालय स्थित केन्द्र का निरीक्षण कराने का निर्देश दिया उन्होंने जिला चिकित्सालय में डिजिटल एक्सरे सुविधा स्थापित करने हेतु आवश्यक धनराशि की व्यवस्था करने के लिए जिलाधिकारी को दिशा निर्देश दियें।
नोडल अधिकारी के इस समीक्षा बैठक में मुख्य विकास अधिकारी बब्बन उपाध्याय, परियोजना निदेशक प्रमोद कुमार यादव, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी एन0के0 सिंह, जिला प्राबेशन अधिकारी सतीश कुमार, जिला अल्प संख्यक अधिकारी तन्मय पाण्डेय, जिला पंचायत राज अधिकारी आलोक प्रियदर्शी, जिला विकास अधिकारी रविन्द्र सिंह, जिला कार्यक्रम अधिकारी, इ0ओ0 नगर पालिका श्रीमती बीना ंिसंह, सहित अन्य जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहें।

इस पोस्ट से अगर किसी को कोई आपत्ति हो तो कृपया 24 घंटे के अंदर Email-missionsandesh.skn@gmail.com पर अपनी आपत्ति दर्ज कराएं जिससे खबर/पोस्ट/कंटेंट को हटाया या सुधार किया जा सके, इसके बाद संपादक/रिपोर्टर की कोई जिम्मेदारी नहीं होग

Related posts

किसान बिल -: विदेशी अभिदाय विनियमन संशोधन विधेयक 2020 को मंजूरी, जानिए सदन की live कार्यवाही

Sayeed Pathan

अज्ञात वाहन की चपेट में आने से बीटेक छात्र की मौत

Sayeed Pathan

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस क्विज प्रतियोगिता में विजेता बच्चों को प्रधानाचार्य के द्वारा मिला पुरस्कार

Sayeed Pathan
error: Content is protected !!