जीवन शैलीटॉप न्यूज़दिल्ली एन सी आर

एक साल की तैयारी,और बिना कोचिंग के IAS बनी ये डॉक्टर,जानिए इनकी प्रेरणा देने वाली कहानी

दिल्ली ।

IAS डॉ. अर्तिका शुक्ला की कहानी हर किसी को प्रेरणा देने वाली है. MBBS की पढ़ाई करने के बाद MD की पढ़ाई कर रही थीं. मन में आईएएस बनने का ख्याल आया और तैयारी शुरू कर दी. इसके लिए सोशल मीडिया से दूरी बनाई और एक साल में यूपीएससी की परीक्षा क्रैक कर दी. आइए जानें, कैसी है इस डॉक्टर की आईएएस अफसर बनने की कहानी.

अपने माता पिता के साथ अर्तिका शुक्ला

एक वीडियो इंटरव्यू में डॉ अर्तिका ने बताया कि साल 2014 में पहली बार उन्होंने सिविल सर्विस की तैयारी शुरू थी. इसके बाद एक साल तक पढ़ाई करके यूपीएससी परीक्षा क्रैक कर दी. इस तरह साल 2014 में सिविल सर्विस की परीक्षा में अर्तिका शुक्ला ने ऑल इंडिया में चौथी रैंक हासिल की थी.

सिविल सर्विस की परीक्षा की तैयारी के बारे में वो कहती हैं कि उन्होंने योजनाबद्ध तैयारी करके ये परीक्षा निकाली. अर्तिका का कहना है कि इस परीक्षा की तैयारी के लिए किसी उम्र या समय की सीमा का होना जरूरी नहीं है.

परीक्षा की तैयारी करने वालों को अर्तिका सलाह देती हैं कि प्रीलिम्स और मेन्स दोनों को दिमाग में रखकर तैयारी करनी चाहिए. रात में लिखने की प्रैक्टिस के साथ कुछ घंटे मेन्स के लिए साथ में देते रहें. उन्होंने बताया कि आईएएस बनने के लिए उन्होंने खुद को सोशल मीडिया से दूरी बना ली थी. वो इस दौरान फेसबुक भी इस्तेमाल नहीं करती थीं.

बिना कोचिंग के अर्तिका ने यूपीएससी परीक्षा में टॉप किया है. वो बताती हैं कि तैयारी के लिए कोचिंग से सैंपल पेपर लेकर हल करके भी तैयारी की जा सकती है. वो बताती हैं कि उन्होंने तीन दिन कोचिंग ज्वाइन की थी.

ज्यादातर टॉपर मानते हैं कि आईएएस के लिए तैयारी स्कूल स्तर से ही शुरू हो जाती है. कुछ इसी तरह अर्तिका भी मानती हैं कि स्कूल के दिनों से अगर 10वीं स्तर से गणित, अंग्रेजी और जनरल स्टडी अच्छे से तैयार की जाए तो अभ्यर्थी इस परीक्षा के लिए तैयार हो
इंटरव्यू को लेकर अक्सर लोग सोचते हैं कि इंटरव्यू की तैयारी उन्हें कैसे करनी चाहिए. इस बारे में अर्तिका का मत स्पष्ट है. वो मानती हैं कि इंटरव्यू के लिए वो आत्मविश्वास को जरूरी मानती हैं. अगर इंटरव्यू पैनल के सामने कोई जवाब नहीं आता तो आप स्पष्टता रखें.

साभार aajtak.in

इस पोस्ट से अगर किसी को कोई आपत्ति हो तो कृपया 24 घंटे के अंदर Email-missionsandesh.skn@gmail.com पर अपनी आपत्ति दर्ज कराएं जिससे खबर/पोस्ट/कंटेंट को हटाया या सुधार किया जा सके, इसके बाद संपादक/रिपोर्टर की कोई जिम्मेदारी नहीं होग

Related posts

एंटीबायोटिक और जिंक सप्लीमेंट का ज्यादा प्रयोग है ब्लैक फंगस का कारण ? जानिए एक्सपर्ट की राय

Sayeed Pathan

जिलाधिकारी ने खुद फसल काटकर किसानों को किया जागरूक, कहा इस तरह से फसल की कटाई से नहीं जलानी पड़ेगी पराली

Sayeed Pathan

निर्भया मामला-चलती बस में 21 मिनट में 6 लोग नहीं कर सकते रेप :-दोषी अक्षय के वकील

Sayeed Pathan
error: Content is protected !!