अन्यउतर प्रदेशउत्तर प्रदेशबस्ती

निर्देशो की अवहेलना पर सीवीओ डॉ अश्वनी को मिला विशेष प्रतिकूल प्रविष्टि

बस्ती । विभागीय कार्यो में रूचि न लेने तथा बार-बार निर्देशों की अवहेलना करने पर मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डाॅ0 अश्वनी तिवारी को जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने विशेष प्रतिकूल प्रविष्टि दिया है। निदेशक पशुधन उ0प्र0 को भेजे गये पत्र में उन्होने अपेक्षा की है कि इसे सेवापुस्तिका में अंकित किया जाय।
उल्लेखनीय है कि मुख्य पशु चिकित्साधिकारी द्वारा वृहद गो संरक्षण केन्द्र रमनातौफीर में मा0 मुख्यमंत्री के द्वारा बार-बार दिये गये निर्देश के अनुपालन में पर्याप्त संख्या में निराश्रित पशुओं को संरक्षित नही किया गया। इस केन्द्र की क्षमता 200 पशुओं की है जबकि यहाॅ मात्र 44 पशु रखे गये है, जो अत्यधिक कम है।
मुख्य सचिव उ0प्र0 द्वारा 02 दिसम्बर को वीडियों कांफ्रेन्सिग की गयी थी, जिसमें मुख्य पशु चिकित्साधिकारी द्वारा पशुओं को रखने के संबंध में भ्रामक सूचना दी गयी। इसके पूर्व आयोजित वीसी के बाद से विभिन्न गो आश्रय स्थलों में 415 पशु रखे गये परन्तु इसकी सूचना मण्डलायुक्त बस्ती को समय से नही दी गयी, जिसके कारण भ्रम की स्थिति उत्पन्न हुयी।
मुख्य पशु चिकित्साधिकारी द्वारा निराश्रित गोवंश पालने हेतु 332 पशुपालको को चिन्हित करते हुए उन्हें 417 पशुओं की सुपुर्दगी प्रस्तावित की गयी परन्तु पशुओं की सुपुर्दगी नही दी गयी। इस कार्य में अनावश्यक रूप से विलम्ब किया गया। उपरोक्त कारणों से जिलाधिकारी ने मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को विशेष प्रतिकूल प्रविष्टि दिया है।

बस्ती से अनिल शुक्ला की रिपोर्ट

इस पोस्ट से अगर किसी को कोई आपत्ति हो तो कृपया 24 घंटे के अंदर Email-missionsandesh.skn@gmail.com पर अपनी आपत्ति दर्ज कराएं जिससे खबर/पोस्ट/कंटेंट को हटाया या सुधार किया जा सके, इसके बाद संपादक/रिपोर्टर की कोई जिम्मेदारी नहीं होग

Related posts

पतंजलि के कोरोनिल` पर छिड़ी जंग में, सुप्रीम कोर्ट ने दिया अहम फैसला

Sayeed Pathan

बसपा से पहली बार सांसद बनने वाले इस नेता ने की हुई हैं तीन शादियां !

Sayeed Pathan

वैज्ञानिक के रिसर्च से, राम सेतु के रहस्य से उठेगा पर्दा, कुदरती है या है मानव निर्मित,

Sayeed Pathan
error: Content is protected !!