अन्यउत्तर प्रदेशबस्ती

जिलाधिकारी ने रमवापुर विद्यालय का किया निरीक्षण, चार शिक्षिकाएं मिली अनुपस्थित

बस्ती । जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने पूर्व माध्यमिक विद्यालय तथा प्राइमरी स्कूल रमवापुर माफी का आकस्मिक निरीक्षण किया। ये दोनों स्कूल एक ही परिसर मे है। यहां पर 4 शिक्षिकाएं बिना अवकाश स्वीकृत कराए अनुपस्थित पाई गई। इस संबंध में जिलाधिकारी ने बेसिक शिक्षा अधिकारी का स्पष्टीकरण तलब किया है। निरीक्षण के समय चंद्र किरण सिंह, शबनम, पूजा सिंह तथा सीमा शुक्ला अवकाश पर बताई गई परंतु इनका कोई एप्लीकेशन स्कूल में नहीं पाया गया। पूर्व माध्यमिक विद्यालय में प्रधानाध्यापक राम शंकर ने सभी कक्षाओं का निरीक्षण कराया। उन्होंने बताया कि अनुदेशक सुनीता भारती, किरण चैधरी तथा अनुदेशक ओमप्रकाश उपस्थित है।
जिलाधिकारी ने कक्षा 6, 7, 8 का निरीक्षण किया तथा बच्चों से पाठ पुस्तक, बैग ,जूता-मोजा, स्वेटर आदि के बारे में पूछताछ किया। इस स्कूल में सभी बच्चों को यह वस्तुएं प्राप्त हो गई हैं। उन्होंने बालक बालिका के लिए निर्मित बाथरूम खुलवा कर भी देखा।
निरीक्षण में उन्होने पाया कि कक्षा 8 में 24 पंजीकृत मे से 15 छात्र-छात्राएं उपस्थित मिले। जिलाधिकारी के पूछने पर अधिकांश ने बताया कि वह धान या गेहूं की कटाई अपने हाथों से करते हैं। जिलाधिकारी ने इस स्थिति पर दुख व्यक्त करते हुए बच्चों को नियमित रूप से स्कूल आने तथा मेहतन से पढाई करने के लिए प्रेरित किया।
मिड डे मील की जांच में जिलाधिकारी ने पाया कि मीनू के अनुसार चावल एवं सोयाबीन की सब्जी तैयार हो गई है। यहां पर कुल 4 रसोईया कार्यरत है परंतु अभी तक उनको जुलाई के बाद से मानदेय नहीं मिला है। शिक्षिकाओं की अनुपस्थिति तथा रसोईया का मानदेय के संबंध में उन्होंने बेसिक शिक्षा अधिकारी से फोन पर ही स्थिति स्पष्ट करने का निर्देश दिया है।
बस्ती से

अनिल शुक्ला की रिपोर्ट

इस पोस्ट से अगर किसी को कोई आपत्ति हो तो कृपया 24 घंटे के अंदर Email-missionsandesh.skn@gmail.com पर अपनी आपत्ति दर्ज कराएं जिससे खबर/पोस्ट/कंटेंट को हटाया या सुधार किया जा सके, इसके बाद संपादक/रिपोर्टर की कोई जिम्मेदारी नहीं होग

Related posts

कोरोना पॉजिटिव दूल्हे ने पीपीई किट पहन कर दुल्हन के साथ लिए सात फेरे

Sayeed Pathan

एक वारंटी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

Sayeed Pathan

जानिए-26 करोड़ का मालिक भिखारियों की तरह रात गुजारता, पुलिस को क्यों मिला

Sayeed Pathan
error: Content is protected !!