टॉप न्यूज़ब्रेकिंग न्यूज़राष्ट्रीय

NRC के कारण देश मे खराब हुआ माहौल ! सरकार ने दी सफाई

सांकेतिक चित्र

नई दिल्ली ।

चुनावी रैलियों में लगातार भाजपा नेताओं की ओर से बयान दिए गए थे कि जिस तरह असम में NRC लागू हुई, उसी तरह पूरे देश में इसे लागू किया जाएगा. गृह मंत्री अमित शाह ने भी एक कार्यक्रम में कहा था कि पहले CAA आएगा और उसके बाद NRC आएगा. इसी को आधार बनाकर विपक्ष की ओर से लगातार सरकार पर निशाना साधा गया और केंद्र सरकार की मंशा पर सवाल उठाए गए.

दरअसल, हाल ही में जब असम में NRC लागू की गई थी तो 19 लाख लोगों का नाम उसमें शामिल नहीं था. इसमें पूर्व सैनिक, नेताओं के परिवार, यूपी-बिहार के लोगों समेत काफी ऐसे लोग थे जो कि खुद की नागरिकता साबित नहीं कर पाए थे. असम का यही उदाहरण जनता के बीच भय का माहौल बना रहा है और उनकी प्रतिक्रिया सरकार के लिए चिंता का विषय बन रही है.

सरकार ने दी सफाई, सवाल-जवाब में समझाया मसला

इस कन्फ्यूजन के बीच मोदी सरकार पूरी कोशिश कर रही है कि लोगों को CAA-NRC में अंतर समझाया जाए, इसके लिए अखबारों में पूरे पन्ने का विज्ञापन दिया गया. वहीं सवाल-जवाब की लिस्ट जारी की गई है, जिसमें इससे जुड़े 13 मुद्दों पर बात की गई है.

सरकार के जवाब में बताया गया है कि NRC अभी लागू नहीं हुई है और अगर होती है तो उसमें नागरिकता साबित करना मुश्किल नहीं है, क्योंकि इसमें उन्हीं कागजातों की जरूरत होगी जो आधार कार्ड या वोटर आईडी कार्ड बनाने के लिए होती है. ऐसे में सरकार जब इसे लागू करेगी तो जनता को सूचित किया जाएगा.

साभार aajtak

इस पोस्ट से अगर किसी को कोई आपत्ति हो तो कृपया 24 घंटे के अंदर Email-missionsandesh.skn@gmail.com पर अपनी आपत्ति दर्ज कराएं जिससे खबर/पोस्ट/कंटेंट को हटाया या सुधार किया जा सके, इसके बाद संपादक/रिपोर्टर की कोई जिम्मेदारी नहीं होग

Related posts

आरोग्य सेतु ऐप डाउन लोड करने में गौतमबुद्धनगर ( नाेएडा ) रहा अव्‍वल,देश के 1.22 करोड़ लोगों ने ऐप को किया डाउनलोड

Sayeed Pathan

आ रहा है ‘टाउते’ तूफान, अगले 12 घंटे में सीवियर साइक्लोन में तब्दील होकर इन इलाकों में मचा सकता है तबाही

Sayeed Pathan

चीन-भारत के विदेश मंत्रालय के बीच बैठक,,तनाव कम करने पर राजी हुए दोनों देश

Sayeed Pathan
error: Content is protected !!