कुशीनगर बिजनेस

बेरोजगारों के लिए सुनहरा अवसर-स्वरोजगार स्थापित करने हेतु ऑनलाइन करें आवेदन-: उपयुक्त उद्योग

कुशीनगर रिपोर्ट विजय कुमार ।  उपायुक्त उद्योग अभय कुमार सुमन ने बताया कि जनपद कुशीनगर के बेरोजगार नवयुवक/नवयुवतियों हेतु भारत सरकार की प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी) एवं उ0प्र0 सरकार की मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना (एमवाईएसवाई) एवं एक जनपद एक उत्पाद मार्जिन मनी योजना (ओडीओपी) जिला उद्योग एवं उद्यम प्रोत्साहन केन्द्र, कुशीनगर के माध्यम से संचालित की जा रही है इन योजनओं में चालू वित्तीय वर्ष 2020-21 में अपना स्वरोजगार स्थापित करने हेतु पूर्ण विवरण ऑन लाइन के माध्यम से आवदेन पत्र आमंत्रित किए जायेगे।
उन्होने बताया कि प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम में इस योजना में उद्योग स्थापना हेतु अधिकतम रू0 25.00 लाख तक एवं सेवा क्षेत्र हेतु रू0 10.00 लाख तक की परियोजना पर ऋण हेतु आवेदन किया जा सकता है। कुल प्रोजेक्ट लागत का 15 से 35 प्रतिशत तक का अनुदान प्रति लाभार्थी देय है आवेदक की उम्र कम से कम 18 वर्ष हो शैक्षिक योग्यता जूनियर हाई स्कुल अथवा अधिक हो, जिले का स्थाई निवासी हो, किसी बैंक/वित्तीय संस्था का डिफाल्टर न हो तथा पूर्व में किसी अन्य सरकारी योजना में अनुदान का लाभ प्राप्त नह किया हो, वे आवेदन कर सकता है। ऑन लाइन आवेदन हेतु वेबसाईkviconline में pmegpeportal आप्शन में जाकर ऑन लाइन आवेदन किया जा सकता है।

मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना में योजना में उद्योग स्थापना हेतु अधिकतम रू0 25.00 लाख तक एवं सेवा क्षेत्र हेतु रू0 10.00 लाख तक की परियोजना पर ऋण हेतु आवेदन किया जा सकता है। कुल प्रोजेक्ट लागत का 25 प्रतिशत का अनुदान प्रति लाभार्थी देय है। आवेदक की उम्र 18 से 40 वर्ष की बीच हो, शैक्षिक योग्यता हाईस्कूल अथवा अधिक हो, जिले का स्थाई निवासी हो, किसी बैंक/वित्तीय संस्था का डिफाल्टर न हो तथा पूर्व में किसी अन्य सरकारी योजना में अनुदान का लाभ प्राप्त नह किया हो, वे आवेदन कर सकता है। ऑन लाइन आवेदन हेतु वेबसाई diupmsme.upsdc.gov.in तथा मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना आप्शन में जाकर ऑन लाइन आवेदन किया जा सकता है।

एक जनपद एक उत्पाद माजिग मनी योजना में जनपद कुशीनगर हेतु पूर्व में केला रेशा उत्पाद के अतिरिक्त केले के सम्पूर्ण उत्पाद हेतु स्वीकृति शासन से प्राप्त हो गयी है। अब जिले का कोई भी लाभार्थी केले के फल, तना, रेशा, जड़ एवं पत्ते से कोई भी उपयोगी उत्पाद का निर्माण अथवा व्यापार करने हेतु अधिकतम रू0 150 लाख तक का ऋण प्राप्त कर सकते है। इसमें केले के चिप्त, पापड़ राइपनिग प्लान्ट व कोल्ड स्टोरेज इत्यादि हेतु भ्ी ऋण प्राप्त किया जा सकता है। कुल प्रोजेक्ट लागत का 10 से 25 प्रतिशत तक का अनुदान प्रति लाभार्थी देय है। आवेदक की उम्र कम से कम 18 वर्ष पूर्ण हो शैक्षिक योग्यता की बाध्यता नही है, जिले का स्थाई निवासी हो, किसी बैक/वित्तीय संस्था का डिफाल्टर न हो तथा पूर्व में किसी अन्य सरकारी योजना में अनुदान का लाभ प्राप्त न किया हो वे आवेदन कर सकते है। ऑनलाइन आवेदन हेतु वेबासाइट dlupmsme.upsdc.gov.in में एक जनपद एक उत्पाद मार्जिन मनी योजना आप्शन में जा आनॅलाइन आवेदन किया जा सकता है।

Related posts

भेड़ पालन और ऊन के कारोबार को बढ़ावा देने के लिए,उत्तराखंड के सीएम रावत ने मंगाई 240 आस्ट्रेलियन भेड़

Sayeed Pathan

प्लाट की खुदाई में तिजोरी मिलने से सनसनी,,लेकिन…….

Sayeed Pathan

देश के इन तीन बैंकों ने लिए बड़े फैसले, करोड़ों ग्राहकों पर होगा फैसले का असर

Sayeed Pathan