संतकबीरनगर

मुख्यमंत्री ने वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से की, विकास कार्यो की समीक्षा बैठक, जिलाधिकारी दिव्या मित्तल को दिया ये निर्देश

  • जनप्रतिनिधिगण एवं अधिकारीगण तथा सम्बंधित सस्थाएं आपसी तालमेल एवं समन्वयता के साथ गुणवत्ता युक्त एवं मानक के अनुसार योजनाओं का क्रियान्वयन सुनिश्चित करें।
  • परियोजनाओं और विकास कार्यो में गुणवत्ता एवं मानक के साथ-साथ समयबद्धता का विशेष ध्यान रखा जाए।
  • जनपद संत कबीर नगर के मगहर में संत कबीर अकादमी की स्थापना एवं हैरिटेज सर्किट स्वदेश दर्शन मगहर के निर्माण कार्य की प्रगति में तेजी लाने के निर्देश दिए
  • निर्माणाधीन मार्गो के चौड़ीकरण एवं सुदृढ़कीरण का कार्य गुणवत्तायुक्त ढंग से पूर्ण कराने के निर्देश 
  • राजस्व संग्रह की विभागवार पाक्षिक समीक्षा करने के निर्देश।
  • जनपद संत कबीर नगर को राजकीय इण्टर काॅलेज देने का आश्वासन।

संत कबीर नगर ।  मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ  द्वारा मंगलवार को वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जनपद में रू0 10 करोड़ से 50 करोड़ के मध्य लागत की परियोजनाओं/निर्माण कार्यो सहित जनपद में संचालित लाभार्थीपरक एवं जनकल्याणकारी योजनाओं में प्रगति, किसानों हेतु खाद, बीज एवं पानी की उपलब्धता सहित कोविड-19/कोरोना संक्रमण के रोकथाम हेतु किये जा रहें कार्यो की विस्तृत समीक्षा की गयी।

वीडियों काफे्रसिंग के माध्यम से समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने जनपद के राज्यमंत्री श्रीराम चौहान, सदर विधायकगण  दिग्विजय नारायण जय चौबे एवं मेंहदावल विधायक राकेश सिंह बघेल से निर्माणाधीन विकास परियोजनाओं की प्रगति के संबंध में बिन्दुवार फीड बैक प्राप्त किया । उनके विधानसभाओं के चौमुखी विकास में शिक्षा, सड़क, स्वच्छ पेयजल, अस्पताल, आदि की आवश्यकताओं के संबंध में जानकारी प्राप्त किया एवं शासन स्तर से उसे पूर्ण कराने का आश्वासन दिया।

मुख्यमंत्री  ने जिलाधिकारी को जनपद में राजकीय इण्टर काॅलेज की स्थापना हेतु प्रस्ताव भेजने का निर्देश दिया। जनपद के विकास की गति में तेजी लाने का निर्देश देते हुए परियोजनाओं और विकास कार्यो को समयबद्ध व गुणवत्तापूर्ण ढंग से मानक के अनुसार पूर्ण कराने जाने का निर्देश दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी परियोजना/निर्माण कार्य के निर्धारित अवधि में पूर्ण होने पर लागत में कमी आने के साथ-साथ जनसामान्य को विकास योजनाओं का ससमय लाभ मिलता है तथा शासन एवं प्रशासन के प्रति विश्वास बढ़ता है। जिलाधिकारी दिव्या मित्तल ने निर्धारित समीक्षा बिन्दुओं/विकास कार्यो के प्रगति की अद्यतन स्थिति की रूपरेखा प्रस्तुत किया।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि प्रदेश सरकार विकास, निर्माण, लाभार्थी परक एवं जन कल्याणकारी योजनाओं के बेहतरीन क्रियान्वयन एवं जनसामान्य के बहुआयामी विकास के लिए प्रतिबद्ध है, इसके लिए शासन स्तर से धनराशि की कोई कमी नही आने दी जाएगी। योजनाओं के क्रियान्वयन में किसी भी प्रकार की लापरवाही अथवा उदासीनता पाये जाने पर सम्बंधित की जबावदेही सुनिश्चित करते हुए सख्त कार्यवाही की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें कोरोना सक्रमण से बचाव करते हुए, पूरी सतर्कता एवं सावधानी अपनाते हुए विकास कार्यो को तीब्र गति से सम्पन्न कराने हेतु पूरे मनयोग से कार्यो/कर्तव्यों के प्रति संवेदनशीलता के साथ लगे रहना है। उन्होंने कोविड-19/कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए शहर से लेकर ग्रामीण स्तर तक व्यापक जन-जागरूकता कार्यक्रम संचालित कराये जाने के भी निर्देश दिये। ‘‘दो गज की दूरी-मास्क है जरूरी’’ के साथ-साथ सेनेटाइजर एवं साफ-सफाई व्यवस्था सुनिश्चित कराने हेतु जारी दिशा-निर्देशों का पालन किया जाए। कोविड कन्ट्रोल सेन्टर के साथ-साथ एल-1/एल-2 अस्पताल को निरंतर सक्रिया रखा जाए।
मा0 मुख्यमंत्री जी ने कहा कि विकास कार्यो/परियोजनाओं में निरंतरता एवं प्रगति के आधार पर आवश्यकतानुसार मासिक/पाक्षिक/साप्ताहिक समीक्षा की जाए, जिससे उन्हें मानक एवं गुणवत्तापूर्ण ढंग से निर्धारित समय सीमा में पूर्ण कराया जा सके। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्यो की भौतिक प्रगति से अवगत कराते हुए यूटिलाइजेशन सर्टिफिकेट भेजा जाए। जिससे शासन स्तर पर भी धनराशि स्वीकृति करने से सम्बंधित कोई भी प्रकरण लम्बित न रहे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि निर्माण परियोजनाओें के लिए भूमि की उपलब्धता से जुड़े प्रकरणों में तत्काल निर्णय लेते हुए समाधान निकाला जाए। ऐसे मामलों में किसी भी स्तर पर लम्बित प्रस्ताव को तत्काल स्वीकृत किया जाए। जनपद के विकास कार्यो में जन प्रतिनिधियों की भी भागीदारी सुनिश्चित की जाए। ग्राम पंचायत सचिवालय एवं सामुदायिक शौचालय के निर्माण सम्बंधी कार्यो को प्राथमिकता से पूर्ण कराने के निर्देश भी दिये गये। ग्राम पंचायत सचिवालय को आप्टिकल फाइबर से जोड़ा जाएगा। उन्होंने सम्पूर्ण समाधान दिवस आयोजित किये जाने के दौरान कोविड-19 के प्रोटोकाॅल का पालन सुनिश्चित किये जाने के निर्देश दिये।
जनपद में निर्माणाधीन परियोजनाओं की समीक्षा के दौरान मा0 मुख्यमंत्री ने सम्बंधित विधायकों एवं जिलाधिकारी से निर्माण कार्यो में प्रगति की अद्यतन स्थिति की जानकारी प्राप्त करते हुए निर्माण कार्यो में तेजी लाते हुए पूर्ण कराने के निर्देश दिये। जानकारी दी गयी कि जनपद के मगहर में संत कबीर अकादमी की स्थापना हेतु 23.59 करोड़ की स्वीकृत लागत के सापेक्ष 13 करोड़ की धनराशि अवमुक्त कर दी गयी है। जिसके सापेक्ष अबतक 12.4 करोड़ की धनराशि व्यय करते हुए 60 प्रतिशत का भौतिक लक्ष्य प्राप्त कर लिया गया है।

इसी प्रकार हैरिटेज सर्किट स्वदेश दर्शन मगहर के निर्माण कार्य में परियोजना की स्वीकृत लागत 16.11 करोड़ के सापेक्ष 13 करोड़ की धनराशि अवमुक्त कर दी गयी है। जिसमें 10.47 करोड़ व्यय करते हुए 75 प्रतिशत का भौतिक लक्ष्य प्राप्त कर लिया गया है।

विकास खण्ड बघौली, सेमरियांवा एवं तहसील धनघटा के जोगाराजा में निर्माणाधीन आई0टी0आई0 भवन के निर्माण कार्य में प्रगति की समीक्षा करते हुए मा0 मुख्यमंत्री जी ने आवश्यक दिशा निर्देश दिये। मेंहदावल विसौवा से घघवां तक मार्ग के चौड़ीकरण एवं सुदृढ़करण के कार्य हेतु स्वीकृत लागत 22.18 करोड़, एवं खलीलाबाद , मेंहदावल प्रमुख जिला मार्ग के किमी0 01 से 07 के चौड़ीकरण एवं सुदृढ़करण की स्वीकृत लागत 11.24 करोड़ के सापेक्ष भौतिक प्रगति की समीक्षा करते हुए  मुख्यमंत्री ने कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिये।

मुख्यमंत्री  ने कहा कि हर जनपद में ओ0डी0ओ0पी0 के तहत चयनित उत्पादों को बढावा देने हेतु हस्तशिल्पियों व कारीगरो को प्रशिक्षित करने, उत्पादों की ब्रांडिंग, मार्केटिंग व प्रदर्शनी लगाये जाने की कार्यवाही भी सुनिश्चित कराई जाए।

उन्होंने तालाबों के जीर्णोद्धार/मरम्मत आदि कार्य को योजनाबद्ध तरीके से सम्पादित किये जाने का निर्देश देते हुए कहा कि गो-आश्रय स्थलों में गोवंश के लिए पानी एवं चारे आदि की सुचारू व्यवस्था सुनिश्चित रखते हुए गोवंशों का नियमित स्वास्थ्य परीक्षण किया जाए।
मुख्यमंत्री  ने कहा कि विकास खण्ड स्तर पर कृषि अवस्थापना की योजनाएं तैयारी की जाएं जिससे इसका अधिकाधिक लाभ किसानों को मिले। उन्होंने कृषि कार्य हेतु आवश्यक संसाधन, खाद एव उर्वरकों की उपलब्धता पर विशेष रूप से फोकस करते हुए कहा कि खाद की कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करते हुए उर्वरक आपूर्ति की प्रभावी माॅनिटरिंग की जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास कार्यो के साथ-साथ राजस्व संग्रह पर भी विशेष ध्यान दिया जाए। जी0एस0टी0 के तहत व्यापारियों का अधिक से अधिक पंजीकरण कराया जाए। उन्होंने जनपद स्तर पर राजस्व संग्रह की विभागवार पाक्षिक समीक्षा करने के निर्देश भी दिये।

Related posts

फेस मास्क न लगाने वाले वाहन चालकों पर,पुलिस द्वारा जुर्माना लगाना वाहन चालकों के साथ नाइंसाफी::सईद पठान

Sayeed Pathan

जानिए-किस तरह शक्ति और बुद्धि का रक्षक है आयोडीन

Sayeed Pathan

संतकबीरनगर में स्पेशल ओलंपिक भारत समिति का किया गया गठन-: एहसास डे केयर

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो