अपराध उतर प्रदेश

पुलिस के सामने भाजपा नेता ने युवक को गोलियों से भूना, SDM और CO सहित मौजूद सभी पुलिस कर्मी निलंबित

उत्तर प्रदेश के बलिया में गुरुवार को दुस्साहसिक वारदात को अंजाम दिया गया। कोटे की दुकान के चयन को लेकर हो रही खुली बैठक के दौरान पुलिस के सामने ही भाजपा नेता ने एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी। युवक को ताबड़तोड़ चार गोलियां मारी गईं। गोली चलते ही अफरातफरी मच गई।

लोगों ने पथराव शुरू कर दिया और लाठी डंडा लेकर हमलावर पक्ष के लोगों से भिड़ गए। मारपीट में भी कई लोग घायल हो गए हैं। घटना की जानकारी मिलते ही सीएम योगी ने बड़ी कार्रवाई करते हुए एसडीएम, सीओ समेत मौके पर मौजूद सभी पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है। हत्यारोपित भाजपा नेता पर कड़ी कार्रवाई का निर्देश दिया है। हत्यारोपी धीरेंद्र भाजपा के सैनिक प्रकोष्ठ का जिलाध्यक्ष है।

बताया जाता है कि ग्राम सभा दुर्जनपुर व हनुमानगंज की कोटे की दो दुकानों के आवंटन के लिये गुरुवार की दोपहर पंचायत भवन पर खुली बैठक का आयोजन किया गया था। इसमें एसडीएम बैरिया सुरेश पाल, सीओ बैरिया चंद्रकेश सिंह के साथ ही रेवती थाने की पुलिस फोर्स मौजूद थी। दुकानों के लिये चार स्वयं सहायता समूहों ने आवेदन किया था।

दुर्जनपुर की दुकान के लिये आम सहमति नहीं बन सकी। लिहाजा दो समूहों मां सायर जगदंबा स्वयं सहायता समूह और शिव शक्ति स्वयं सहायता समूह के बीच मतदान कराने का निर्णय लिया गया। अधिकारियों ने कहा कि वोटिंग वही करेगा जिसके पास आधार अथवा अन्य कोई पहचान पत्र होगा।

एक पक्ष के पास अधार व पहचान पत्र मौजूद था, लेकिन दूसरे पक्ष के पास कोई आईडी प्रुफ नहीं था। इसको लेकर दोनों पक्षों के बीच विवाद शुरू हो गया। मामला बिगड़ता देख बैठक की कार्रवाई को स्थगित कर अधिकारी चले गये। मौके पर मौजूद रेवती पुलिस दोनों पक्षों को समझाने और विवाद शांत करने में जुट गई।

एक पक्ष अधिकारियों पर पक्षपात करने का आरोप लगाते हुए नारेबाजी करने लगा। इसी दौरान दूसरे पक्ष के लोगों से भिड़ंत हो गयी। बात बढ़ी तो लाठी-डंडे के साथ ही ईट-पत्थर चलने लगा। इसी बीच एक पक्ष की ओर से भाजपा नेता धीरेंद्र ने जयप्रकाश को ताबड़तोड़ चार गोलियां मार दीं। गोली चलते ही अफरातफरी मच गई। जयप्रकाश को  लेकर लोग सीएचसी सोनबरसा पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। तनाव को देखते हुए कई थानों की फोर्स पहुंच गई और किसी तरह मामला संभाला गया।

हत्यारोपी धीरेंद्र भाजपा नेता और इलाके के भाजपा विधायक सुरेंद्र  सिंह का करीबी भी है। विधायक ने बताया कि धीरेन्द्र भाजपा सैनिक प्रकोष्ठ का जिलाध्यक्ष है। अपने बयानों के कारण चर्चा में रहने वाले विधायक ने घटना को ‘कैजुअल्टी’ करार देते हुए कहा कि ऐसी वारदात कहीं भी हो सकती है। उन्होंने कहा कि घटना में दोनों तरफ से पथराव हुआ था। उन्होंने कहा कि मामले में कानून अपना काम करेगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस वारदात को गम्भीरता से लेते हुए एसडीएम सुरेश चंद्र पाल, पुलिस क्षेत्राधिकारी चंद्रकेश सिंह और मौके पर मौजूद सभी पुलिसकर्मियों को निलम्बित करने और घटना के दोषियों के खिलाफ ‘कठोरतम’ कार्रवाई के आदेश दिये हैं।

योगी ने कहा कि इस मामले में अधिकारियों की भूमिका की भी जांच होगी। उन्होंने कहा कि अगर वे जिम्मेदार पाये गये तो उनके खिलाफ भी आपराधिक कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस मामले में जय प्रकाश के भाई चंद्रमा की शिकायत पर चार नामजद और 15 से 20 अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि मौके पर पर्याप्त संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है और फिलहाल क्षेत्र में शांति  है।

Related posts

CAA के विरोध में फेसबुक पर भड़काऊ पोस्ट डालने वाले दो अभियुक्तों को, कोतवाली पुलिस ने किया गिरफ्तार

Sayeed Pathan

100 लीटर अवैध कच्ची शराब,व 5 कुन्तल लहन और शराब बनाने के उपकरण के साथ 6 अभियुक्त गिरफ्तार

Sayeed Pathan

नाबालिग लड़की से दुष्कर्म करने का वांछित आरोपी गिरफ्तार

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो