गोरखपुर

UP Budget 2021: एक्सप्रेस-वे पर मेट्रो गोरखपुर, स्मार्ट सिटी के सपने को लगे पंख

गोरखपुर, । विकास की राह पर चल रहा गोरखपुर अब एक्सप्रेस-वे पर मेट्रो की रफ्तार से दौड़ेगा। योगी सरकार ने अपने बजट में न केवल लिंक एक्सप्रेस-वे और मेट्रो के लिए खजाना खोला बल्कि स्मार्ट सिटी में शामिल गोरखपुर के लिए भी 25 करोड़ का इंतजाम किया है। सौगातों की बारिश आसपास के जिलों में भी हुई जहां सरकार ने राज्य विश्वविद्यालय खोलने के साथ-साथ इसी जुलाई से देवरिया, बस्ती मेडिकल कालेज में पढ़ाई शुरू कराने की घोषणा की।

इंसेफ्लाइटिस से प्रभावित कुशीनगर में नया मेडिकल कालेज खोलने का ऐलान जहां मरीजों को सहूलियत देगा वहीं बस्ती-गोरखपुर मंडल में अटल आवासीय स्कूल के साथ-साथ गोरखपुर-महराजगंज के वनटांगिया गांवों में प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालय खोलकर सरकार शिक्षित समाज की संकल्पना को पूरा करेगी। शहीदों के सम्मान को लेकर संजीदा सरकार ने चौरीचौरा शताब्दी महोत्सव के लिए भी 15 करोड़ रुपये का बजट तो आवंटित किया ही साथ ही गोरखपुर समेत प्रदेश के सभी शहीद स्मृति पार्क, प्रदर्शनी स्थल आदि के निर्माण के लिए 15 करोड़ की व्यवस्था अलग से की है।

गोरखपुर में मेट्रो और लिंक एक्सप्रेस-वे के साथ सैनिक स्कूल के लिए भी सरकार ने खोला खजाना

वित्त मंत्री सुरेश खन्ना लखनऊ से बलिया तक बन रहे पूर्वांचल एक्सप्रेस के लिए 1107 करोड़ रुपये का प्रावधान करते समय गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे के लिए 860 करोड़ रुपये का प्रावधान करना नहीं भूले। मेट्रो के लिए गोरखपुर-वाराणसी समेत अन्य शहरों के लिए 100 करोड़ रुपये के प्रावधान से विकास को रफ्तार मिलेगी। अधूरे सैनिक स्कूलों के साथ गोरखपुर सैनिक स्कूल के लिए 90 करोड़ के प्रावधान से शिक्षा के क्षेत्र में छात्रों को नई सौगात मिलेगी। बस्ती और गोरखपुर मंडल में अटल आवासीय स्कूल खोलने की तैयारी गरीब छात्रों के लिए वरदान साबित होगा। गोशालाओं के लिए धन आवंटित करने के साथ मंडी परिषद की आय का तीन फीसद हिस्सा गोशालाओं में देने की व्यवस्था ने एक बार फिर यह साबित कर दिया कि बेजुबानों को लेकर सरकार न केवल संजीदा बल्कि उनके संरक्षण के प्रति कृत संकल्पित भी है। गोरखपुर, बस्ती, बांदा मंडल के 28 हजार प्राथमिक विद्यालयों में 25 लीटर के आरओ प्लांट के लिए 22 करोड़ रुपये का इंतजाम कर सरकार ने बच्चों की सेहत का भी ख्याल रखा है। बंद पड़ी  कताई मिलों में टेक्सटाइल पार्क या औद्योगिक आस्थान या क्लस्टर के लिए 100 करोड़ रुपये का प्रावधान गीडा और संतकबीरनगर के विकास में मील का पत्थर साबित होंगे।

राज्य स्मार्ट सिटी में शामिल है गोरखपुर, बजट में हुई रुपयों की व्यवस्था

राज्य स्मार्ट सिटी में चयनित स्मार्ट एवं सेफ सिटी के लिए बजट की व्यवस्था होने से विकास योजनाओं को तेजी से पूरा करना आसान हो जाएगा। इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम (आइटीएमएस) के तहत शहर के चौराहों पर यातायात व्यवस्था को सुचारु करने के लिए ट्रैफिक सिग्नल लगा जा रहे हैं।

आइटीएमएस में सीसीटीवी कैमरे से यातायात की निगरानी होगी। पब्लिक एड्रेस सिस्टम से चौराहों पर गाडिय़ों की गलत पार्किंग या जाम को कंट्रोल रूम से देखकर एनाउंस कराकर यातायात को सुचारु किया जाएगा। सिटी सर्विलांस की मदद से आपराधिक गतिविधियों पर नजर रखी जाएगी।

बेतियाहाता से रेलवे स्टेशन तक बनेगी स्मार्ट सड़क

स्मार्ट एंड सेफ सिटी में शामिल शहर में बेतियाहाता से पुलिस लाइन तिराहा और रिजर्व पुलिस लाइंस से रेलवे बस स्टेशन तक की सड़क को स्मार्ट बनाया जाएगा। स्मार्ट सड़कों को इस तरह बनाया जाएगा कि बिजली केबल और पानी की पाइप लाइन डालने के लिए सड़क को काटना नहीं पड़ेगा। पटरी व्यवसायियों को कारोबार के लिए जगह दी जाएगी।

रजनीश त्रिपाठी

 

SourceJnn

Related posts

असहाय और जरूरतमंदो को,”गंगा सेवा संस्थान” की तरफ से “बाटें गए निःशुल्क कंबल”

Sayeed Pathan

डिजिटल प्रादर्शनी में अंतिम दिन दर्शकों का लगा रहा हुजूम,

Sayeed Pathan

दुकानदार पर सामान लेने आई बालिका से दुष्कर्म के प्रयास का आरोप, पुलिस ने भेजा जेल

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो