राष्ट्रीय

बंन्द होने जा रहा है ये बैंक, 29 लाख ग्राहक होंगे प्रभावित

भारत में सिटी बैंक (CitiBank) के ग्राहकों के लिए बुरी खबर है. अमेरिका का सिटी बैंक अब भारत में अपना कारोबार बंद करने का फैसला किया है. Citibank ने अपने ग्लोबल बिजनेस स्ट्रैटेजी के तहत भारत समेत एशिया, यूरोप, मिडिल ईस्ट और अफ्रीका के 13 इमर्जिंग मार्केट्स में अपने रिटेल बैंकिंग बिजनेस से बाहर निकलने का ऐलान किया है. सिटीबैंक ने 1902 में भारत में एंट्री की थी और 1985 में बैंक ने कंज्यूमर बैंकिंग बिजनस शुरू किया था.

बैंक के कंज्यूमर बैंकिंग बिजनस में क्रेडिट कार्ड्स, रीटेल बैंकिंग, होम लोन और वेल्थ मैनेजमेंट शामिल है. बता दें कि भारत में सिटीबैंक की 35 ब्रांच हैं. वहीं इसके कंज्यूमर बैंकिंग बिजनस में करीब 4,000 लोग काम करते.

यहां से बाहर निकलेगा सिटीबैंक
सिटीग्रुप (Citigroup) भारत, ऑस्ट्रेलिया, बहरीन, चीन, इंडोनेशिया, दक्षिण कोरिया, मलेशिया, फिलीपींस, पोलैंड, रूस, ताइवान, थाईलैंड और वियतनाम में अपने कंज्यूमर बिजनेस से बाहर निकलेगा.

इंस्टीट्यूशनल बैंकिंग बिजनेस के अलावा यह मुंबई, पुणे, बेंगलुरु, चेन्नई और गुरुग्राम में केंद्रों से प्रदान की जाने वाली ऑफशोरिंग या वैश्विक व्यापार सहायता पर ध्यान केंद्रित करना जारी रखेगा. सिटीबैंक भरत में अपने रिटेल और कन्ज्यूमर बिजनेस को बेचने के लिए खरीददार की तलाश भी कर रहा है.

FY20 में हुआ था 4,912 करोड़ रुपए का घाटा
सिटी को वित्त वर्ष 2019-20 में 4,912 करोड़ रुपए का नेट लॉस हुआ था जो इससे पूर्व वित्त वर्ष में 4,185 करोड़ रुपए था.

काम पर नहीं पड़ेगा असर
सिटी इंडिया के मुख्य कार्यकारी आशु खुल्लर ने कहा, इस घोषणा से हमारे ऑपरेशन में कोई तत्काल परिवर्तन नहीं हुआ है और हमारे सहयोगियों पर तत्काल प्रभाव नहीं पड़ा है. हम अपने ग्राहकों की देखभाल, सहानुभूति और समर्पण के साथ काम करना जारी रखेंगे जो हम आज करते हैं.

Advertisement

Related posts

उलमाए-हिन्द की याचिका पर सुनवाई को सुप्रीम कोर्ट ने दो सप्ताह के लिए टाला,खण्ड पीठ ने कहा PCI को भी बनाएं पक्षकार

Sayeed Pathan

नागरिकता कानून पर रोक लगाने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार,केंद्र सरकार को नोटिस जारी

Sayeed Pathan

सुप्रीम कोर्ट में मुस्लिम पक्षकार ने दाखिल की, 217 पन्नो की पुनर्विचार याचिका

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो