संतकबीरनगर

कोराना के बढ़ते प्रभाव के दृष्टिगत गुरु नानक पंजाबी रसोई अनिश्चित समय के लिए बंद

संतकबीरनगर । संत कबीर नगर के प्रतिष्ठित ढाबे में गुरु नानक पंजाब रसोई ढाबा एनएच 28 निकट मनियारा का कोई जोड़ नहीं है करोना के बढ़ते प्रभाव को दृष्टिगत रखते हुए प्रबंधक गुरदीप सिंह ने सरकार के गाइडलाइन का पालन करते हुए अनिश्चित काल के लिएअपना, गुरु नानक पंजाबी रसोई ढाबा बंद कर दिए
दूरभाष पर हुए गुरदीप सिंह से बातचीत में बताया कि संत कबीर नगर जिले ने हमारे परिवार को बहुत कुछ दिया है सरकार के गाइडलाइन को प्राथमिकता देना हर नागरिक का फर्ज बनता है इसलिए अपने घर ढाबा कर्मचारी की सुरक्षा और अपने कस्टमर की सुरक्षा की जिम्मेदारी उठाते हुए ढाबा को बंद किया गया है ढाबा पर रहने वाले कर्मचारी का वेतन वह खाने-पीने के रहने की व्यवस्था गुरु नानक रसोई ढाबा अलग बनाया है रसोई ढाबा में कार्य करने वाले वर्कर को तनख्वाह और खाने पीने की सुविधा ढाबा प्रबंधक देते रहेंगे।और सरकार के आदेश से पहले ही करोना काल को बगैर नजरअंदाज किए आज शनिवार से अपना ढाबा अनिश्चित काल के लिए बंद कर रहा हूं सरकार की जैसे-जैसे गाइड लाइन आएगी वैसे वैसे हम ढाबे पर कार्य करेंगे।
गुरु नानक पंजाबी रसोई के प्रबंधक गुरदीप सिंह ने बताया कि हमारे बाबा स्वर्गीय गुरुदेव सिंह 1984 में संत कबीर नगर जिले में निकट मनियरा गुरु नानक पंजाबी रसोई ढाबा का स्थापना किए उनके पुत्र स्वर्गीय उजागर सिंह और सौदागर सिंह ने ढाबे को अपनी मेहनत लगन से आगे बढ़ाते गए आज संत कबीर नगर के शाकाहारी गुरु नानक पंजाबी रसोई ढाबा प्रतिष्ठित ढाबा में गिनती होती है।

Advertisement

Related posts

उपसचिव ने मूल्यांकन केंद्र HRIC खलीलाबाद का किया निरीक्षण

Sayeed Pathan

तहसीलों पर कल होने वाले सम्पूर्ण समाधान दिवस स्थगित

Sayeed Pathan

जिले के 1614 स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों व फ्रंटलाइन वर्कर्स को लगे कोरोना के टीके, 123 प्रतिशत टीकाकरण के साथ सेमरियावां अव्‍वल

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो