अंतरराष्ट्रीय

भारत की तरफ से गलती से चली थी मिसाइल, अब तूल दे रहे हैं पाक़ पीएम इमरान खान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने 9 मार्च को भारत की तरफ से गलती से चली मिसाइल का मामला उठाते हुए एक तरह से धमकी दी है। रविवार को एक भाषण में खान ने कहा- आप सब जानते हैं कि 9 मार्च को क्या हुआ। भारत की तरफ से हमारे देश पर एक मिसाइल दागी गई। हम चाहते तो उसी वक्त इसका जवाब दे सकते थे, लेकिन हमने होश से काम लिया।

9 मार्च को भारतीय सेना की एक अनआर्म्ड मिसाइल (बिना हथियारों वाला प्रोजेक्टाइल) गलती से फायर हो गई थी। करीब 261 किलोमीटर दूर यह मिसाइल पाकिस्तान के मियां चन्नू इलाके में गिरी। चूंकि इसमें हथियार नहीं थे। लिहाजा कोई नुकसान नहीं हुआ। भारत ने अपनी गलती मानते हुए। हाईलेवल कोर्ट ऑफ इन्क्वॉयरी के ऑर्डर जारी कर दिए थे।

अब तूल दे रहे हैं इमरान खान
इमरान सरकार के खिलाफ विपक्ष अविश्वास प्रस्ताव पेश कर चुका है। माना जा रहा है कि उनकी सरकार का बचना बेहद मुश्किल है। लिहाजा, इमरान इलेक्शन मूड में हैं। पाकिस्तानी सेना मिसाइल मामले में बयानबाजी से परहेज कर रही है, लेकिन इमरान और उनके मंत्री मामले को तूल दे रहे हैं। पाकिस्तान के पत्रकार अंसार अब्बासी ने शनिवार को कहा था कि खान इस मामले का सियासी फायदा उठाना चाहते हैं।

रविवार को हाफिजाबाद में एक रैली के दौरान इमरान ने कहा- भारत ने हमारे मुल्क पर मिसाइल दागी। जवाब हम भी दे सकते थे, लेकिन हमने धैर्य और संयम से काम लिया। हम टकराव नहीं चाहते, बल्कि हम अपने मुल्क को मजबूत बनाना चाहते हैं। हमें अपनी हिफाजत करना आता है। अब हमारी इकोनॉमी भी मजबूत होने लगी है।

कौन सी थी मिसाइल
पाकिस्तान के जर्नलिस्ट मोहम्मद इब्राहिम काजी ने सोशल मीडिया पर दावा किया कि भारत से छोड़ी गई मिसाइल का नाम ब्रह्मोस है। इसकी रेंज 290 किलोमीटर है। इंडियन एयरफोर्स इसका स्टॉक राजस्थान के श्रीगंगानगर में रखती है। हालांकि, पाकिस्तानी फौज का दावा है कि यह मिसाइल हरियाणा के सिरसा से दागी गई।

पाकिस्तान के NSA मोईद युसूफ ने भारत पर उठाए सवाल
पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार मोईद युसूफ ने भारत सरकार की सेंसिटिव टेक्नोलॉजी संभालने की क्षमता पर सवाल उठाए हैं। एक सोशल मीडिया पोस्ट में उन्होंने कहा- दिल्ली को यह कबूल करने में दो दिन से ज्यादा वक्त लगा था कि “यह उनकी मिसाइल थी, जो गलती फायर हो गई। इस हादसे से भारत की सेंसिटिव टेक्नोलॉजी संभालने की काबिलियत पर सवाल खड़े होते हैं।

Advertisement

Related posts

पाकिस्तान सरकार की सिफारिश पर, राष्ट्रपति ने नेशनल असेंबली को किया भंग, 90 दिन के अंदर होंगे आम चुनाव

Sayeed Pathan

भारत-नेपाल सीमा विवाद::नेपाल पुलिस ने बिहार के किशनगंज बॉर्डर के पास तीन भारतीयों पर की फायरिंग, एक की हालत गंभीर

Sayeed Pathan

COVID-19::कोविड-19 का टीका बन जाने से नहीं खत्म होगी महामारी,लम्बे समय तक कोरोना रहेगा इंसानों के संग-:-विशेषज्ञ

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!