संतकबीरनगर

राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण/न्यायिक अधिकारी द्वारा किया गया जेल का औचक निरीक्षण, मानक के अनुरूप बंदियों को नहीं मिल रहा है खाना

👉🏻 जेल के अकास्मिक निरीक्षण में खाना मानक के अनुरूप नहीं -सचिव

संत कबीर नगर । उत्तर प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार एवं मा0 जनपद न्यायाधीश के आदेशानुसार जिला कारागार का आकस्मिक निरीक्षण किया गया।वर्तमान में जिला कारागार सन्त कबीर नगर में कुल 510 महिला एवं पुरुष बंदी निरुद्ध हैं जिनमें 452 पुरुष एवं 28 महिला बंदी हैं।पुरुष बंदियों में 308 सिद्धदोष तथा 345 विचाराधीन बंदी एवं 1 एनएसए बंदी है। महिला बंदियों में 14 सिद्धदोष एवं 14 विचाराधीन बंदी हैं। इनके अलावा 30 अल्प वयस्क बंदी हैं। अब जनपद संत कबीर नगर से संबंधित सभी महिला बंदी संत कबीर नगर की जिला कारागार में स्थानांतरित हो चुकी हैं। अभी तक उन्हें जिला कारागार बस्ती में रखा गया था। वर्तमान में कुल 14 बंदी जेल अस्पताल में विभिन्न बीमारी के उपचार हेतु भर्ती हैं तथा एक बंदी विनोद चौधरी पुत्र चौथियार को उपचार हेतु दिनांक 15-05-2022 को मेडिकल कॉलेज लखनऊ भेजा गया है जहाँ पर उसका उपचार चल रहा है। आज प्रातः निरीक्षण के समय रोटी, चावल, अरहर दाल,एवं लौकी की सब्जी(रसीली) बनी हुई थी। लौकी की सब्जी को खा कर देखा गया जो पुर्णतया पकी नहीं थी तथा लौकी के बीज पके हुए काटे गए थे उक्त के संबंध में जानकारी प्राप्त की गई तो उपकरापाल द्वारा बताया गया कि वर्तमान में जो सब्जी देवरिया जेल से प्राप्त होती है वही बनती है। शाम के भोजन में भी मेनू के अनुसार आलू लौकी की सब्जी बनाई जाएगी। सब्जी की गुणवाता मानक के अनुरुप नहीं थी जिसके संबंध में प्रभारी अधीक्षक को निर्देशित किया गया की वो बंदियो को गुणवत्ता एवं मानक के अनुरूप भोजन उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। महिला बंदी नीलम संगीता पत्नी सचिन एवं संगीता पत्नी हनुमान द्वारा बताया गया की इनके छोटे बच्चों को पर्याप्त मात्रा में दूध नहीं प्राप्त हो रहा है।इस संबंध में भी निर्देश दिया गया की बच्चों कों पर्याप्त मात्रा में अन्य समग्री उपलब्ध करायी जाए। महिला बंदियों के स्वास्थ्य परीक्षण हेतु महिला चिकित्सक का प्रबंध किए जाने हेतु निर्देशित किया गया।कुछ बंदी छोटे अपराधों में निरूद्ध हैं किन्तु उनकी पैरवी करने वाला कोई नहीं है। इस संबंध में निर्देशित किया गया की यदि उनके द्वारा सरकारी अधिवक्ता दिलाए जाने हेतु प्रार्थना पत्र दिया जाता है तो उसे अविलम्ब जिला विधिक सेवा प्राधिकरण में प्रेषित करना सुनिश्चित करें। निरीक्षण के समय प्रभारी अधीक्षक जी आर वर्मा उपकारापाल नयन कमल सिंह फार्मासिस्ट डी.पी. सिंह जेल वार्डन देवेश तथा अन्य कर्मचारीगण उपस्थित रहें।

Advertisement

Related posts

नारी सशक्तिकरण, नारी सुरक्षा, नारी सम्मान एवं नारी स्वावलंबन के लिए मिशन_शक्ति_फेज_3 का जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक संतकबीरनगर द्वारा किया गया शुभारंभ

Sayeed Pathan

पुलिस अधीक्षक सोनम कुमार द्वारा रात्रि ड्यूटी का आकस्मिक निरीक्षण, पुलिस कर्मियों में हड़कंप

Sayeed Pathan

पुलिस अधीक्षक संतकबीरनगर ने, 03 उपनिरीक्षकों के कार्य क्षेत्रों में किया फेरबदल

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!