टॉप न्यूज़ दिल्ली एन सी आर राष्ट्रीय

दूध, आटा, दाल जैसी खाद्य वस्तुओं पर “जीएसटी” और महंगाई को लेकर, “भाजपा सांसद” ने “भाजपा सरकार” पर बोला हमला

लखनऊ । भाजपा नेता और यूपी के पीलीभीत से सांसद वरुण गांधी अपनी ही पार्टी के खिलाफ विरोधी दल के नेता की तरह लगातार आवाज उठा रहे हैं। उन्होंने ट्वीट करके दूध, आटा, दाल जैसी खाद्य वस्तुओं पर जीएसटी लगाने और महंगाई को लेकर जोरदार हमला बोला है। कहा सरकार जनहित वाले कदम उठाए जनता की कमर तोड़ने वाले कदम नहीं। इससे जनता परेशान है।

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, “दूध, आटा, दाल, चावल आदि जैसी वस्तुओं पर GST लागू हो चुका है। शराब, पेट्रोल और डीजल आदि पर नहीं..! अगर इस टैक्स प्रणाली का सारा बोझ आम जनता ही वहन करेगी तो इसे लाने का मूल उद्देश्य ही पीछे छूट जाएगा। केंद्र और राज्य सरकारों को मिलकर GST का एक जनहितकारी प्रारूप तैयार करना होगा।”

हालांकि वित्त मंत्री ने एक के बाद एक ट्वीट करते हुए स्‍पष्‍ट किया कि दाल, गेहूं, राई, जई, मक्का, चावल, आटा, सूजी, रवा, बेसन, फूला हुआ चावल, दही / लस्सी जब खुले में और बिना प्री पैक या लेबल बेचे जाते हैं उसपर जीएसटी लागू नहीं होगा। यानी कि अगर अगर आप खुले में सामान खरीदते हैं तो आपको टैक्‍स नहीं देना होगा। निर्मला सीतारमण ने कुल 14 ट्वीट करके जीएसटी को लेकर पैदा हुए कंफ्यूजन को दूर करने का प्रयास किया है

इससे पहले 18 जुलाई को उन्होंने ट्वीट किया था, “आज से दूध, दही, मक्खन, चावल, दाल, ब्रेड जैसे पैक्ड उत्पादों पर GST लागू है। रिकार्डतोड़ बेरोजगारी के बीच लिया गया यह फैसला मध्यमवर्गीय परिवारों और विशेषकर किराए के मकानों में रहने वाले संघर्षरत युवाओं की जेबें और हल्की कर देगा। जब ‘राहत’ देने का वक्त था, तब हम ‘आहत’ कर रहे हैं।”

लगातार विपक्ष की तरह तेवर के साथ विरोध करते हैं वरुण

वरुण गांधी के तेवर और शब्द बिल्कुल विपक्ष की तरह हैं और वे विपक्षी नेता की तरह सरकार को ललकारते हैं। दूध, आटा, दाल जैसी खाद्य वस्तुओं पर जीएसटी लगाने के लिए कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्ष धरना-प्रदर्शन कर रहा है। इसकी वजह से मानसून सत्र में संसद की कार्यवाही सुचारू रूप से नहीं चल पा रही है।

 

Advertisement

Related posts

सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, पिता की संम्पत्ति में बेटी-बेटे का सामान अधिकार

Sayeed Pathan

डॉ कफ़ील की पत्नी शबिस्ता से प्रियंका गांधी ने की फोन पर बात,पूछा कुशल क्षेम

Sayeed Pathan

यूजीसी (UGC) का फैसला-प्रथम व द्वितीय वर्ष के विद्यार्थी अगली कक्षा में होंगे प्रमोट,अंतिम वर्ष की परीक्षा जुलाई में !

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!