संतकबीरनगरसंतकबीरनगर

हथकरघा आरक्षण अधिनियम:: इन वस्तुओं का पावरलूम पर उत्पादन करने वाले बुनकर/उद्यमी जायेगे जेल! सहायक आयुक्त

संत कबीर नगर । सहायक आयुक्त उद्योग  हथकरघा एवं वस्त्रोद्योग अरविन्द कुमार सिंह ने बताया है कि भारत सरकार विधि एवं न्याय मंत्रालय के भारत के द्वारा हथकरघा आरक्षण अधिनियम के अन्तर्गत निम्नलिखित वस्तुओं को हथकरघा उत्पादन हेतु आरक्षित करते हुये पावरलूम आदि पर निम्न वस्तुओं के उत्पादन को प्रतिबंधित करते हुये सांज्ञेय अपराध घोषित किया गया है।

उन्होंन बताया कि हथकरघा के लिये आरक्षित उत्पाद साड़ी (100 सूती धागा अथवा 100 सिल्क अथवा दोनो का संमिश्रण), धोती ( 100 सूती धागा अथवा 100 सिल्क अथवा दोनो का संमिश्रण), तौलिया और गमछा व अंग वस्त्रम, लुंगी, खेस, बेडशीट, बेडकवर, जामेखला, दरी और दरेट (काटन, सिल्क या जूट, ऊनी धागा अथवा इन धागो का संमिश्रण), ड्रेस मैटेरियल-काटन, सिल्क और स्पन सिल्क का मिश्रण, बैरेक कम्बल, कम्बल या कम्बली, शाल, लोई, मफलर, पंखी आदि, उलेन ट्वीड (कोट, जैकेट, ड्रेस मैटेरियल) एवं चद्दर, मेखला है। उन्होंने उपरोक्त वस्तुओं का पावरलूम पर उत्पादन करते हुये किसी बुनकर/उद्यमी को पाया जाता है तो उसके विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज कराते हुये हथकरघा आरक्षण अधिनियम 1985 के अन्तर्गत कानूनी कार्यवाही की जायेगी।

इस पोस्ट से अगर किसी को कोई आपत्ति हो तो कृपया 24 घंटे के अंदर Email-missionsandesh.skn@gmail.com पर अपनी आपत्ति दर्ज कराएं जिससे खबर/पोस्ट/कंटेंट को हटाया या सुधार किया जा सके, इसके बाद संपादक/रिपोर्टर की कोई जिम्मेदारी नहीं होग

Related posts

डेंगू पीड़ित 11 वर्षीय सत्यम की मौत,नहीं मिल पाया सही इलाज-CMO

Sayeed Pathan

युवती को बहला फुसलाकर भगा ले जाने के मामले में अभियुक्त की गिरफ्तारी सहित संतकबीरनगर पुलिस ने अपराधियों के विरुद्ध चलाया विशेष अभियान

Sayeed Pathan

डीएम ने धान की फसल को क्राफ्ट कटिंग करवाकर, किसानों को किया जागरूक

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!