अन्य

महिला स्वावलंबन व सशक्तिकरण के सरकारी प्रयासों में एक कड़ी और जुड़ी “प्रेरणा कैंटीन” : उप मुख्यमंत्री

लखनऊः । उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की पहल व उनके निर्देश पर राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत गठित स्वयं सहायता समूहों, संकुल स्तरीय संगठनों व ग्राम स्तरीय संगठनों से जुड़ी महिलाओं को स्वावलंबी व आत्मनिर्भर निर्भर बनाने लिये प्रभावी व ठोस कदम उठाए जा रहे हैं। इसी कड़ी में प्रदेश के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं द्वारा प्रेरणा कैंटीन खोली जा रही हैं।

उप मुख्यमंत्री  केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि इससे स्वयं सहायता समूहों की महिलाएं आत्मनिर्भर होने के साथ साथ, आमदनी बढ़ने से अपने घर-परिवार का आर्थिक, सामाजिक व शैक्षिक विकास और अधिक बेहतर ढंग से कर सकेंगी। मरीजों सहित तीमारदारो को भी इन दीदी कैफे से ताजा भोजन और नास्ता मिलेगा। कहा है कि महिलाओं की आर्थिक स्थिति को संवारने वाला महत्वपूर्ण कदम है। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने मंशा जाहिर की है कि इन प्रेरणा कैंटीनों में मोटे अनाज के व्यंजन भी बनाए जाएं तो और अधिक बेहतर होगा।
ग्राम्य विकास आयुक्त एस प्रियदर्शी ने कहा है कि समूहों की महिलाओं की आमदनी बढ़ाने के विभाग द्वारा हर सम्भव कदम उठाए जा रहे हैं और समूहों की महिलाओं को विभिन्न गतिविधियों से जोड़ कर उन्हें स्वावलंबी बनाया जा रहा है।

Advertisement

राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन की मिशन निदेशक सी० इन्दुमती ने समस्त मुख्य विकास अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि 873 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर निष्क्रिय प्रेरणा कैंटीन को क्रियाशील कराते हुए एवं जिन स्वास्थ्य केन्द्रों पर प्रेरणा कैंटीन का संचालन नहीं हो रहा है, उन केन्द्रों पर समूह एवं समूह सदस्यों को प्रेरित कराते हुये प्रेरणा कैंटीन क्रियाशील कराकर मिशन को अवगत कराना सुनिश्चित करें। मिशन निदेशक सी० इन्दुमती द्वारा जारी दिशा-निर्देशों में कहा गया है कि प्रेरणा कँटीन संचालन हेतु सामुदायिक निवेश निधि ग्राम संगठन आजीविका निधि अथवा सी0सी0एल0 का उपयोग करवाते हुए कैंटीन हेतु ऐसे स्थान का चुनाव किया जाए जहां पर आवागमन ज्यादा हो, जिससे स्वास्थ्य केन्द्र के अलावा आम जनमानस द्वारा भी कैंटीन का उपयोग किया जा सके तथा समूहों को भी नियमित व निश्चित लाभ प्राप्त हो, और जारी दिशा निर्देशो का यह असर देखने को मिल रहा है कि 167 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में प्रेरणा कैंटीन समूहों की महिलाओं द्वारा संचालित हो रही हैं

मिशन निदेशक ने बताया कि पूर्व में सरकारी कार्यालयों एवं विकास खण्डों के परिसर में प्रेरणा कैंटीन हेतु स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को स्थान आवंटित करने में प्राथमिकता देने हेतु निर्देशित किया गया था, जिसके अनुपालन में जनपदों के विभिन्न स्थानों पर लगभग 705 प्रेरणा कैंटीन का संचालन समूह सदस्यों द्वारा किया जा रहा है,किन्तु कुछ स्थानों पर कैंटीन बन्द होने की सूचना प्राप्त हुई है, जिसके लिए मुख्य विकास अधिकारियों से आपसे अपेक्षा की गयी है कि उक्त कैटीन के बन्द होने के कारणों की परीक्षण कर बन्द होने के कारणों से मिशन को अवगत करायें एवं समूह सदस्यों को प्रोत्साहित कर उन कैंटीन को पुनः खोलने हेतु उचित कार्यवाही करें।

Advertisement

इस पोस्ट से अगर किसी को कोई आपत्ति हो तो कृपया 24 घंटे के अंदर Email-missionsandesh.skn@gmail.com पर अपनी आपत्ति दर्ज कराएं जिससे खबर/पोस्ट/कंटेंट को हटाया या सुधार किया जा सके, इसके बाद संपादक/रिपोर्टर की कोई जिम्मेदारी नहीं होग

Related posts

कृषि कानून- किसान आंदोलन, उलटा पड़ता दिख रहा है बिल वापसी का दांव !

Sayeed Pathan

अब ये लोग नहीं बन पाएंगे IPS, सिविल सेवा परीक्षा में बढ़ाई गई पदों की संख्या

Sayeed Pathan

कोरोना वैक्सीन की कीमत का खुलासा, ₹210 में मिलेगी कोवीशील्ड, सरकार ने 1.10 करोड़ डोज का दिया ऑर्डर

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!