Advertisement
अपराधसंतकबीरनगर

धोखाधड़ी करके पासपोर्ट बनवाने के मामले में 02 अभियुक्त गिरफ्तार

संतकबीरनगर । अपर पुलिस महानिदेशक गोरखपुर जोन, गोरखपुर अखिल कुमार पुलिस महानिरीक्षक बस्ती परिक्षेत्र, बस्ती आर0के0 भारद्वाज के निर्देशन, पुलिस अधीक्षक जनपद संतकबीरनगर सत्यजीत गुप्ता के मार्गदर्शन में क्षेत्राधिकारी खलीलाबाद अंशुमान मिश्र के निकट पर्यवेक्षण में प्रभारी निरीक्षक थाना कोतवाली खलीलाबाद  सर्वेश राय, प्रभारी एसओजी श्रीप्रकाश यादव व प्रभारी सर्विलांस दीपक दूबे के नेतृत्व में गठित टीम द्वारा आज दिनांक 07.04.2023 को धोखाधड़ी के माध्यम से पासपोर्ट बनवाने के मामले में 02 अभियुक्त नाम पता 1- अब्दुल सलाम पुत्र महमूद इकबाल निवासी जाटेडीहा थाना दुधारा जनपद संतकबीरनगर, 2- अरविन्द कुमार यादव उर्फ अमन यादव पुत्र स्व0 योगेन्द्र यादव निवासी सकरदेइया थाना गोला जनपद गोरखपुर को गिरफ्तार किया गया है ।

विदित हो कि पासपोर्ट वेरिफिकेशन में पायी गयी अनियमितता के जाँच के क्रम में थाना कोतवाली खलीलाबाद पर मु0अ0सं0 215/2023 धारा 419/420/120बी भा0द0वि0, 66/66सी आईटी एक्ट, धारा 29 पुलिस अधिनियम, धारा 7/8/13 भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम पंजीकृत कर 02 अभियुक्तों को दिनांक 07.03.2023 को गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय भेजा गया था । इसी क्रम में विवेचना के दौरान प्रकाश में आये उपरोक्त 02 अभियुक्तों को आज दिनांक 07.04.2023 को गिरफ्तार किया गया है ।

Advertisement

गिरफ्तार अभियुक्त का विवरण¬
1- अब्दुल सलाम पुत्र महमूद इकबाल निवासी जाटेडीहा थाना दुधारा जनपद संतकबीरनगर ।
2- अरविन्द कुमार यादव उर्फ अमन यादव पुत्र स्व0 योगेन्द्र यादव निवासी सकरदेइया थाना गोला जनपद गोरखपुर ।

विवरण
अभियुक्त अब्दुल सलाम उपरोक्त द्वारा पूंछताछ में बताया गया कि वर्ष 2018 में थाना दुधारा मे मेरे मुकदमा लिख गया था, जिसके कारण जब मैने वर्ष 2022 में पासपोर्ट का आवेदन किया तो मेरा पासपोर्ट नही बन सका । मैने अपने थाना क्षेत्र के ही निवासी महापाल पुत्र रामराज प्रसाद उर्फ त्यागी निवासी दरियाबाद थाना दुधारा जनपद संत कबीर नगर से सम्पर्क किया जो कि थाने के सामने एक दुकान चलाते थे, महापाल ने मुझसे 25000 रूपये की पासपोर्ट बनवाने के लिए मांग की, मै महापाल की बातो से सहमत होकर उसे 5000 रूपया एडवांस देते हुए कहा कि पासपोर्ट बन जाने के बाद बाकी 20000 रूपया दे दूंगा, मेरा पासपोर्ट बन गया था लेकिन बाद मैं पैसे नही दे सका, जिसके कारण मुझे मेरा पासपोर्ट बनने के बाद भी नही मिल पाया ।

Advertisement

अभियुक्त अरविन्द कुमार उर्फ अमन यादव उपरोक्त द्वारा बताया गया कि मैं गोरखपुर विश्व विद्यालय का छात्र रहा हूँ तथा वर्ष 2016-2017 में गोरखपुर विश्वविद्यालय का छात्र संघ अध्यक्ष भी रहा हूँ । छात्र राजनीति के कारण छात्र जीवन से ही मेरे विरूद्ध थाना कैण्ट जनपद गोरखपुर व अन्य थानो में कई अभियोग पंजीकृत हुए है । मैने जनपद गोरखपुर से विदेश जाने हेतु वर्ष 2017 में पासपोर्ट का आवेदन किया था, परन्तु मेरा पासपोर्ट नही बन सका । मेरे कुछ परिचित लोग बैंकाक में थे जिनसे मुझे खलीलाबाद के विरेन्द्र यादव के बारे में जानकारी प्राप्त हुई । विरेन्द्र द्वारा मुझसे पासपोर्ट बनवाने के लिए 25000 रूपया की मांग की, जिसमें से मैंने 22000 रूपया पासपोर्ट बनवाने के लिये उसे दे दिया । मैंने व विरेन्द्र ने आपस मे राय मशविरा करके आपसी सहमति से इडिट करके मेरा फर्जी आधार कार्ड तैयार करते हुए उसमें खलीलाबाद का पता अंकित किया और अपने वास्तविक एड्ररेस प्रुफ को छुपाते हुए पासपोर्ट हेतु आनलाईन आवेदन कर दिया । नवम्बर वर्ष 2022 में फर्जी एडरेस प्रुफ से खलीलाबाद के पते पर मेरा पासपोर्ट बनकर आ गया । उसी पासपोर्ट के आधार पर मै दिसम्बर 2022 में बैंकाक घूमने के लिये गया था ।

गिरफ्तार करने वाले पुलिस बल का विवरण- प्रभारी निरीक्षक थाना कोतवाली खलीलाबाद सर्वेश राय, प्रभारी एसओजी टीम  प्रकाश यादव, प्रभारी सर्विलांस टीम दीपक दूबे, हे0का0 बृज किशोर गुप्ता, हे0का0 अभय उपाध्याय ( सर्विलांस सेल ), का0 प्रदीप कुशवाहा (सर्विलांस सेल) ,का0 सर्वेश मिश्रा (एसओजी), का0 चन्द्रभान सिंह,का0 राहुल पाल ।

Advertisement

Related posts

अतीक और अशरफ अहमद हत्याकांड में एसटीएफ ने किया बड़ा खुलासा

Sayeed Pathan

वरिष्ठ नागरिकों के लिए आयोजित हुआ विधिक जागरूकता कार्यक्रम

Sayeed Pathan

राजमंत्री ने किया निर्माणाधीन कबीर अकैडमी का स्थलीय निरीक्षण

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!