Advertisement
अपराधटॉप न्यूज़संतकबीरनगर

संतकबीरनगर : बखिरा पुलिस ने 70 वर्षीय वृद्ध महिला की हत्या का किया पर्दाफाश, क्या है पूरा मामला, पढ़िए पुरी खबर

संतकबीरनगर । थाना बखिरा अंतर्गत हुए 70 वर्ष की वृद्ध महिला की हत्या का बखिरा पुलिस ने पर्दाफाश किया है , महिला द्वारा अपना उधार पैंसा मांगने को लेकर मेडिकल स्टोर संचालक द्वारा की गई थी हत्या, घटना में शामिल 02 अभियुक्तों आलाकत्ल व घटना में प्रयुक्त मोटरसाइकिल के साथ गिरफ्तार किया गया है ।

दिनांक 24.11.2022 को वादीगण हरिलाल एवं हरिप्रसाद पुत्रगण रामनरेश चौहान निवासी महादेवा थाना बखिरा जनपद संतकबीरनगर द्वारा थाना स्थानीय पर सूचना दिया गया कि उनकी माता फुला देवी उम्र 70 वर्ष जो कि प्रतिदिन साग सब्जी की दुकान नन्दौर मण्डी में बेचती रहती थी व रोज बेचकर घर वापस शाम को आ जाती थीं, लेकिन दिनांक 18.11.2022 को सुबह 10 बजे के लगभग मेरी मां सब्जी लेकर मण्डी नन्दौर गयीं थी और घर वापस नहीं आयीं । हम लोग सगे संबंधियों व रिश्तेदारी में काफी खोजबीन किए मगर पता नहीं चल सका । दिनांक 19.11.2022 को सुबह लगभग 10.00 बजे सूचना मिली कि मेरी मां की लाश बोरे में भरा हुआ ग्राम झुड़िया पुल थाना बखिरा के अंतर्गत पड़ा हुआ मिला है । तब हमें जानकारी हुई कि किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा मेरी मां की हत्या कर शव को फेंक दिया है । घटना के संबंध में थाना बखिरा पर मु0अ0सं0 378 / 2022 धारा 302 / 201 भादवि पंजीकृत किया गया था । पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा घटना के त्वरित अनावरण हेतु थाना बखिरा, सर्विलांस व स्वाट टीम को निर्देशित किया गया था ।*
अपर पुलिस महानिदेशक गोरखपुर जोन, गोरखपुर *श्री अखिल कुमार* पुलिस महानिरीक्षक बस्ती परिक्षेत्र, बस्ती *श्री आर0के0 भारद्वाज* के निर्देशन, पुलिस अधीक्षक जनपद संतकबीरनगर *श्री सोनम कुमार* के मार्गदर्शन, अपर पुलिस अधीक्षक *श्री संतोष कुमार सिंह* व क्षेत्राधिकारी मेहदावल *श्री राजीव कुमार यादव* के पर्यवेक्षण में जनपद संतकबीरनगर मे अपराध एवं अपराधियो के विरुद्ध चलाये जा रहे अभियान के तहत प्रभारी निरीक्षक थाना बखिरा *श्री अनिल कुमार सिंह, सर्विलांस सेल* व *स्वाट* की संयुक्त टीम द्वारा आज दिनॉक 07.12.2022 को सोनौरा गांव के पास से मुखबिर की सूचना पर उक्त घटना में संलिप्त 02 अभियुक्त 1- अमित बरनवाल पुत्र महेन्द्र बरनवाल निवासी महदेवा थाना मेहदावल जनपद संतकबीरनगर, 2- अफसर अहमद उर्फ मकEनू पुत्र सफात अली निवासी दुर्गजोत थाना बखिरा जनपद संतकबीरनगर को गिरफ्तार कर लिया गया ।
*गिरफ्तार अभियुक्त का विवरणः-*
1- अमित बरनवाल पुत्र महेन्द्र बरनवाल निवासी महदेवा थाना मेहदावल जनपद संतकबीरनगर ।
2- अफसर अहमद उर्फ मकनू पुत्र सफात अली निवासी दुर्गजोत थाना बखिरा जनपद संतकबीरनगर ।
*बरामदगीः-*
1-01अदद लकड़ी का डण्डा ।
2-01 अदद मोटर साइकिल बजाज सीटी 100 रजिस्ट्रेशन नंबर यूपी 58 डब्लू 6836 ।
3-01 जोड़ी पायल सफेद धातु की, 01 अदद लॉकेट व 01 अदद नाक की कील ( पीली धातु) मृतका की।
04- खून लगा हुआ कपड़े का टुकड़ा ।
05- खून लगा फर्स का टुकड़ा ।

Advertisement

*घटना के संबंध में पंजीकृत अभियोगः-*
मु0अ0सं0 378 / 2022 धारा 302 / 201 भादवि व बढ़ोत्तरी धारा 404 / 411 / 34 भादवि थाना बखिरा जनपद संतकबीरनगर ।

*संक्षिप्त विवरण-* पूंछताछ में अभियुक्त अमित बरनवाल उपरोक्त द्वारा बताया गया कि मैं नन्दौर बाजार में बरनवाल मेडिसिन सेन्टर के नाम से दवा की दुकान चलाता हुं, मेरे गांव के रामनरेश चौहान की औरत फूला देवी अपने घर के लोगों से अलग रहती थी और नन्दौर बाजार में सब्जी बेचती थी मेरे गांव की होने के कारण मेरा उससे परिचय था । मैंने फूला देवी से आज से लगभग ढाई माह पूर्व अपने निजी काम के लिए 10 हजार रूपये उधार लिया था, जिसमें से मैने 05 हजार रूपया फूला देवी को वापस कर दिया था । शेष 05 हजार रुपया फूला देवी बार – बार मेरे दुकान पर आकर मुझसे अपना रूपया मांगती रहती थीं और हल्ला मचाती रहती थी । दिनांक 18.11.2022 को समय करीब 10.00 बजे दिन में फूला देवी मेरे दुकान पर आयी और मुझसे अपना बकाया रूपया मांगने लगी । मेरे पास उस समय रूपये नही थे किसी तरह से समझा बुझा कर उसको अपने दुकान से वापस कर दिया, कुछ समय बाद फूला देवी मेरे दुकान पर फिर आ गयी और अपना बकाया रूपया फिर से मांगने लगीं और हल्ला मचाने लगीं । मैं काफी परेशान हो गया तब मैंने अपने साथी अफसर अहमद उर्फ मकानू जो दुर्गजोत गांव का रहने वाला है, उसे मैंने अपने मोबाइल से फोन करके बुलाया और मैने अफसर अहमद उर्फ मकानू से फूला देवी को मारने उसके पहने हुए जेवर व गहने को निकालने की योजना बताया, जिसे अफसर अहमद उर्फ मकानू मानने को तैयार हो गया । मैं अपने दुकान के कमरे में से 01 लकड़ी का मजबूत डण्डा लेकर आया और फूला देवी के सिर पर मार दिया, जिसके कारण फूला देवी तुरन्त जमीन पर गिर गयीं और सिर से खून निकलने लगा, उसके बाद मैं और अफसर अहमद फूला देवी को दुकान के पीछे स्थित कमरे में उठाकर ले गया, कमरे में से एक रस्सी लेकर फूला देवी के गले में बांध कर उसके गले को कस दिया जब विश्वास हो गया कि फूला देवी अब मर गयी है, तब मरने के बाद उसके पैरों में से 01 जोड़ी चांदी का पायल तथा उसके गले में धागे से पहनी हुई सोने की लॉकेट व उसके नाक में पहनी हुई कील निकाल लिया । उसके बाद फूला देवी की लाश को अफसर अहमद के सहयोग से 01 प्लास्टिक के बोरे में रख कर बेडसीट और मटमैले रंग की चादर से लपेटकर बांध दिया । तत्पश्चात अफसर अहमद उर्फ मकानू को अपने दुकान से नन्दौर चौराहे पर उसके घर पर छोड़ दिया और उसके बाद मैं अपने दुकान पर वापस आ गया । अंधेरा होने के बाद सूनसान देखकर मैं फूलादेवी की लाश को चादर सहित अपने दुकान से उतार कर मोटर साइकिल रजिस्ट्रेशन नंबर यूपी 58 डब्लू 6836 के सीट पर पीछे रख कर नन्दौर से बांसी को जाने वाली सड़क के पास झुड़िया पुल से नीचे फेक दिया और वापस अपने दुकान पर आ गया ।

Advertisement

*गिरफ्तार करने वाले पुलिस बल का विवरणः-*
*1-थाना बखिरा-* प्रभारी निरीक्षक थाना बखिरा श्री अनिल कुमार सिंह, वरिष्ठ उ0नि0 थाना बखिरा श्री प्रमोद कुमार यादव, कां0 अनिल यादव, कां0 भूपेन्द्र दूबे, अंगद यादव ।
*2-स्वाट टीमः-* हे0कां0 विनोद यादव, कां0 मनोज कुशवाहा, कां0 रमेश यादव ।
*3-सर्विलांस टीमः-* कां0 मनीष कुमार गुप्ता ।

Advertisement

Related posts

डॉक्टर की भूमिका में ग्राम प्रधान::गांव के सभी लोगों का इंफ्रारेड थर्मोमीटर से,, जांच करने का आटाकला के प्रधान ने खुद उठाया बीड़ा

Sayeed Pathan

इमरान खान ने PAK आर्मी को दी खुली छूट, कहा- पुलवामा की साजिश J-K में बनी

Mission Sandesh

CAB के विरोध में “IPS अब्दुल रहमान” ने दिया इस्तीफा,खड़ा हो सकता है नया विवाद

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!