Advertisement
टॉप न्यूज़दिल्ली एन सी आर

पहलवानो ने अपने जीते हुए मैडल को गंगा में बहाने का किया ऐलान

नई दिल्ली। भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ धरना दे रहे पहलवानों ने अब अपने जीते हुए सारे मैडल गंगा में बहाने का ऐलान किया है। साथ ही उन्होंने यह भी साफ किया है कि आंदोलन अभी भी जारी रहेगा। इससे पहले सोमवार को ही साक्षी मलिक ने एक वीडियो जारी कर बताया था कि वह अपना आगे का प्लान सभी को जल्द ही बताएंगे।

इसी कड़ी में मंगलवार को पहलवान बजरंग पूनिया, विनेश फोगाट और साक्षी मलिक ने अपने सोशल मीडिया पर एक बयान जारी किया है। इस बयान के माध्यम से उन्होंने कहा, “28 मई को जो हुआ वह आप सबने देखा। पुलिस ने हम लोगों के साथ क्या व्यवहार किया? हमें कितनी बर्बरता से गिरफ्तार किया। हम शांतिपूर्ण आंदोलन कर रहे थे। हमारे आंदोलन की जगह को भी पुलिस ने तहस नहस कर हमसे छीन लिया और अगले दिन गंभीर मामलों में हमारे ऊपर ही एफआईआर दर्ज कर दी गई। क्या महिला पहलवानों ने अपने साथ हुए यौन उत्पीड़न के लिए न्याय मांगकर कोई अपराध कर दिया है? पुलिस और तंत्र हमारे साथ अपराधियों जैसा व्यवहार कर रही है, जबकि आरोपी खुली सभाओं में हमारे ऊपर फबतियां कस रहा है। टीवी पर महिला पहलवानों को असहज कर देनी वाली अपनी घटनाओं को कबूल करके उनको ठहाकों में तब्दील कर दे रहा है। यहाँ तक की पोस्को एक्ट को बदलवाने की बात सरेआम कह रहा है। हम महिला पहलवान अंदर से इतना ऐसा महसूस कर रही हैं कि इस देश में हमारा कुछ बचा नहीं है। हमें वे पल याद आ रहे हैं जब हमने ओलिंपिक, वर्ल्ड चैंपियनशिप में मैडल जीते थे। अब लग रहा है कि क्यों जीते थे।”

Advertisement
उन्होंने आगे कहा, “इन मेडलों को हम गंगा में बहाने जा रहे हैं, क्योंकि वह गंगा मां हैं। जितना पवित्र हम गंगा को मानते हैं, उतनी ही पवित्रता से हमने मेहनत कर इन मेडलों को हासिल किया था। ये मैडल सारे देश के लिए ही पवित्र हैं और पवित्र मैडल को रखने की सही जगह पवित्र माँ गंगा ही हो सकती हैं।”

अपने बयान में पहलवानों ने अपने आगे के प्लान के बारे में भी बात की है। उन्होंने बताया, “मेडल हमारी जान हैं, हमारी आत्मा हैं। इनके गंगा में बह जाने के बाद हमारे जीने का भी कोई मतलब रह नहीं जाएगा। इसलिए हम इंडिया गेट पर आमरण अनशन पर बैठ जाएंगे। इंडिया गेट हमारे उन शहीदों की जगह है जिन्होंने देश के लिए अपनी देह त्याग दी। हम उनके जितने पवित्र तो नहीं हैं लेकिन अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेलते वक्त हमारी भावना भी उन सैनिकों जैसी ही थी।”

पहलवानों ने आगे कहा, “अपवित्र तंत्र अपना काम कर रहा है और हम अपना काम कर रहे हैं, अब लोगों को सोचना होगा कि वह अपनी इन बेटियों के साथ खड़े हैं या इन बेटियों का उत्पीड़न करने वाले उस तेज सफेदी वाले तंत्र के साथ। आज शाम 6 बजे हम हरिद्वार में अपने मेडल गंगा में प्रवाहित कर देंगे। इस महान देश के हम सदा आभारी रहेंगे।”

Advertisement

बता दें कि विनेश फोगाट, साक्षी मलिक और बजरंग पूनिया समेत तमाम पहलवान जंतर मंतर पर 23 अप्रैल से धरना दे रहे थे। बीती 28 मई को उन्होंने नए संसद भवन तक मार्च निकालने का ऐलान किया था जहाँ एक महिला महापंचायत बुलाई गयी थी। नए संसद भवन के उद्घाटन के समय जब पहलवान मार्च पर निकले तो पुलिस ने उन्हें रास्ते में ही रोकने की कोशिश की। इसी दौरान प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच जमकर धक्का मुक्की और हाथापाई हो गयी जिसके बाद सभी पहलवानों को हिरासत में ले लिया गया। पुलिस ने इस बवाल के बाद जंतर-मंतर से पहलवानों के टेंट उखाड़ दिए और सारा सामान भी हटा दिया। बाद में उन्हें रिहा कर दिया गया लेकिन विनेश, साक्षी और बजरंग सहित 12 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गयी है।

Advertisement

Related posts

रामायण एक्सप्रे ट्रेन में भगवा पहन बर्तन उठा रहे वेटर, संतो ने बताया यह हमारा अपमान है

Sayeed Pathan

पति-पत्नी के झगड़े में ससुर की दर्दनाक मौत, पीड़ित परिवारजनों ने बहू पर लगाया ये गंभीर आरोप, पुलिस प्रशासन से लगाई इंसाफ की गुहार

Sayeed Pathan

RRB NTPC Exam 2020: अलग-अलग शिफ्ट के एग्‍जाम्स के लिए ये है नॉर्मलाइजेशन फॉर्मूला

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!