Advertisement
संतकबीरनगर

बदहाल कांशीराम आवास की क्षतिग्रस्त इंटरलॉकिंग और सड़कों पर, नहीँ पड़ती जनप्रतिनिधियों और जिम्मेदार अधिकारियों की निगाहें

संतकबीरनगर । खलीलाबाद के कांशीराम आवास परिसर में खस्ताहाल सड़कों और टूटी इंटरलॉकिंग की समस्या की खबर आई है। इस समस्या का कारण निष्क्रिय जनप्रतिनिधियों का रवैय्या बताया जा रहा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार खलीलाबाद के कांशीराम आवास परिसर की सड़कें और इंटरलॉकिंग वर्षो से खस्ताहाल है,, जिससे बच्चों और बुजुर्गों तथा ऑटो रिक्सा के आवागमन में काफी बाधा उत्पन्न हो रही है,कई बार इन टूटी सड़को और इंटरलॉकिंग से गुजरने वाले ऑटोरिक्शा पलट कर दुर्घटना ग्रस्त हो चुके हैं, और कई घायल भी हो चुके हैं, लेकिन स्थानीय जनप्रतिनिधियों से इस महत्वपूर्ण परेशानियों से कोई सरोकार नहीं है,

Advertisement

आपको बतादें कि विकास के क्षेत्र में सड़कों रास्तों का महत्वपूर्ण योगदान होता है,और लेकिन खलीलाबाद के कांशीराम आवास परिसर की सड़कों की हालत एक चिंता का विषय बन गई है। इंटरलॉकिंग, जो सड़कों के रूप में इस्तेमाल किया जाने वाला एक प्रकार का सड़क निर्माण का विकल्प है,जो अब धीरे-धीरे आधे से अधिक खराब हो चुका है, जबकि, सड़कों के संरक्षण और बनाए रखने का जिम्मेदारी जनप्रतिनिधियों की होती है।

Advertisement

लेकिन यहां के “निष्क्रिय जनप्रतिनिधि वार्ड सदस्य” को बस चुनाव के समय विकास के वादे करने आते हैं, और पद पाकर सारे किये गए वादों को भूल कर अपनी जेब भरने मात्र के खेल में लग जाते हैं। इन्ही निष्क्रिय जनप्रतिनिधियों के ध्यान न देने की वजह से सड़कों की हालत और भी बिगड़ रही हैं। कांशीराम आवास के निवासियों ने इस समस्या को लेकर चिंता जाहिर की है और स्थानीय प्रशासन को समस्या का शीघ्र समाधान करने की अपील की है। साथ ही, निष्क्रिय जनप्रतिनिधियों को जिम्मेदारी लेने के लिए भी आवाज उठाई जा रही है।

Advertisement

विदित हो कि कुछ दिनों पहले सदर विधायक अंकुर राज तिवारी ने जिलाधिकारी संतकबीरनगर के साथ कांशीराम आवास का निरीक्षण किया था,और टूटी हुई खस्ताहाल सड़के और इंटरलॉकिंग को देखकर चिंता जताई थी, और इसे ठीक कराने के वादे भी किये थे,निरीक्षण के दौरान विधायक ने आवास और परिसर की टूट फूट के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश भी दिए थे, जिससे कांशीराम आवास के रहवासी खुशी जाहिर करते हुए इंटरलॉकिंग सड़कों के मरम्मत होने की उम्मीद जताई थी
लेकिन संबधित अधिकारियों ने विधायक के निर्देश का भी पालन नहीं किया ।

Advertisement

लेकिन अब ऐसा लग रहा है जैसे शायद विधायक अंकुर राज तिवारी ने इस तरफ से इस लिए किनारा कस लिया,कि भाजपा चेयरमैन प्रत्याशी की विजय नहीं हुई,

लेकिन सवाल ये है कि विधायक अंकुर राज तिवारी कांशीराम आवास सहित खलीलाबाद की जनता द्वारा चुने गए जनप्रतिनिधि हैं, नगर पालिका का चेयरमैन कोई भी किसी भी पार्टी का हो नगर के विकास में उनका महत्वपूर्ण योगदान होना चाहिए, और यहाँ के रहिवासी आज भी वर्तमान चेयरमैन और सदर विधायक से इस समस्या के निदान के लिए आस लगाए हुए हैं,

Advertisement

विकास और अनुसंधान के क्षेत्र में कुछ कदम उठाने से खस्ताहाल सड़कों की समस्या को हल करना मुमकिन हो सकता है। लोगों के जीवन को सुगम बनाने के लिए सड़कों और रास्ते की समस्या को दूर करने के लिए समय पर कदम उठाए जाने जरूरी हैं, और साथ। ही जनप्रतिनिधियों की निष्क्रियता को दूर करने के लिए सभी को सहयोग करने की आवश्यकता है।

Advertisement

Related posts

प्रधान पद के प्रत्याशी उर्मिला देवी के प्रतिनिधी ने किया जन संपर्क, मांगा मतदाताओं से समर्थन

Sayeed Pathan

संतकबीरनगर जिले में मिले 23 नए कोरोना पॉज़िटिव मरीज़,लोगों में बढ़ी दहशत

Sayeed Pathan

जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता शिविर का, फीता काटकर उद्घाटन फीता काट कर किया उद्घाटन

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!