Advertisement
दिल्ली एन सी आरस्वास्थ्य

यूपी के नोएडा, गाज़ियाबाद में, डेंगू का नया वेरियंट स्ट्रेन डेन-2 ने दी दस्तक़

नोएडा/गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश के तमाम जिलों में लगातार डेंगू के मामले बढ़ते जा रहे हैं, लेकिन अगर बात करें यूपी के शो विंडो नोएडा और गाजियाबाद की तो यहां पर भी मामले बढ़ते जा रहे हैं। सबसे चिंता की बात है की इन दोनों ही जिलों में डेंगू का नया स्ट्रेन डेन – 2  पाया गया है, जो बाकी स्ट्रेन के मुकाबले घातक होता है।

आमतौर पर डेंगू का मच्छर जुलाई से अक्टूबर के बीच ज्यादा तेजी से पनपता है। इस बार बारिश में गंगा, यमुना समेत कई नदियों का जलस्तर बढ़कर बाढ़ के हालात बने। इससे मच्छरों को पनपने का मौका मिला। पिछले साल के मुकाबले इस साल अब तक चार गुना ज्यादा डेंगू के मामले सामने आ चुके हैं।

Advertisement
इसी हफ्ते प्रदेश में हुई भारी बारिश से डेंगू के एडीज मच्छर (एशियन टाइगर) के लिए माहौल और मुफीद हो गया है। डॉक्टर कह रहे हैं कि इस बारिश से डेंगू के मामले सर्दियां शुरू होने के बाद तक आ सकते हैं। जिन जगहों पर बारिश में पानी जमा हुआ है, वहां पर ज्यादा सावधानी की जरूरत है। जोड़ों में दर्द की वजह से आम बोलचाल की भाषा में डेंगू बुखार को हड्डी तोड़ बुखार भी कहा जाता है, क्योंकि इसके कारण शरीर व जोड़ों में बहुत दर्द होता है ।
डेंगू मच्छर के काटने के करीब 3-5 दिनों के बाद मरीज में डेंगू बुखार के लक्षण दिखाई देते हैं। कई बार बुखार नहीं भी आ रहा है। डेंगू का सबसे अहम लक्षण बुखार है, जो 4 से 10 दिन तक रह सकता है। ये पेशेंट की उम्र, जेंडर, इम्यूनिटी और मेडिकल कंडिशन पर भी डिपेंड करता है। यह मच्छर साफ पानी में पनपते हैं। इसलिए शहरों में पानी भरने पर डेंगू के मामले तेजी से फैलते हैं।

Related posts

चीन-भारत के विदेश मंत्रालय के बीच बैठक,,तनाव कम करने पर राजी हुए दोनों देश

Sayeed Pathan

किसानों के बाद अब रिलायंस जीयो कंपनी भी उतरी सड़क पर, ये है खास वजह

Sayeed Pathan

#DELHI#दिल्ली: मुख्यमंत्री केजरीवाल के निजी सचिव और AAP से जुड़े लोगों सहित, 10 ठिकानों पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का छापा

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!