Advertisement
टॉप न्यूज़दिल्ली एन सी आरराष्ट्रीय

पं.जवाहरलाल नेहरू की 59वीं पुण्यतिथि: राहुल गांधी ने कहा उनकी विरासत किसी प्रकाश स्तंभ की तरह ऊंची है

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और पार्टी के कई नेताओं ने देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू को उनकी 59वीं पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित की। पार्टी के पूर्व प्रमुख राहुल गांधी ने कहा कि देश के पहले प्रधानमंत्री की विरासत एक प्रकाश स्तंभ की तरह ऊंची है जो भारत की सोच और स्वतंत्रता तथा लोकतंत्र के मूल्यों को प्रकाशित करती है। खड़गे, राहुल गांधी, पार्टी कोषाध्यक्ष पवन बंसल और पार्टी महासचिव (संगठन) के.सी. वेणुगोपाल ने यहां शांति वन स्मारक पर नेहरू को पुष्पांजलि अर्पित की।

प्रथम प्रधानमंत्री को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, पंडित नेहरू के योगदान के बिना 21वीं सदी के भारत की कल्पना नहीं की जा सकती। लोकतंत्र के निडर प्रहरी, उनके प्रगतिशील विचारों ने चुनौतियों के बावजूद भारत के सामाजिक, राजनीतिक और आर्थिक विकास को गति प्रदान की। ‘हिंद के जवाहर’ को मेरी श्रद्धांजलि।

Advertisement

एक वीडियो साझा करते हुए राहुल गांधी ने अपने परदादा को श्रद्धांजलि दी और लिखा, पंडित जवाहरलाल नेहरू की विरासत एक प्रकाश स्तंभ की तरह ऊंची है जो भारत की सोच और उन मूल्यों को प्रकाशित करती है जिनके लिए उन्होंने अपना जीवन समर्पित किया – स्वतंत्रता, लोकतंत्र, धर्मनिरपेक्षता और आधुनिकता। उनकी ²ष्टि और मूल्य हमेशा हमारी अंतरात्मा और कार्यो का मार्गदर्शन करते हैं।

प्रियंका गांधी ने भी अपने परदादा को श्रद्धांजलि दी और देश के पहले प्रधानमंत्री का एक ऑडियो-वीडियो मॉन्टाज साझा किया।

Advertisement

वेणुगोपाल ने भी ट्विटर पर कहा, एक महान स्वतंत्रता सेनानी। एक दूरदर्शी प्रधानमंत्री। एक लोकतंत्रवादी जिसने हमारे गणतंत्र की नींव रखी। दुनिया भर में सम्मानित एक राजनेता। पंडित जवाहरलाल नेहरू ने अपने सभी उत्तराधिकारियों के अनुसरण के लिए एक मिसाल कायम की। उनकी पुण्यतिथि पर पंडित जी को याद करते हुए।

कांग्रेस ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से भी नेहरू को श्रद्धांजलि दी।

Advertisement

पार्टी ने कहा, हम अपने पहले प्रधानमंत्री और ‘आधुनिक भारत के शिल्पकार’ पं. जवाहरलाल नेहरू को उनकी पुण्यतिथि पर याद करते हैं। एक दूरदर्शी व्यक्ति, जिन्होंने ढेर सारी आर्थिक नीतियों और औद्योगिक प्रतिष्ठानों के माध्यम से देश को महान ऊंचाइयों पर पहुंचाया।

कांग्रेस ने कहा, आईआईटी, आईआईएम, एम्स और डीआरडीओ जैसे ‘आधुनिक भारत के मंदिरों’ और भारत के औद्योगिक चमत्कारों से लेकर भारत के परमाणु और अंतरिक्ष अनुसंधान तक उनके समय में देश की शक्ति में अभूतपूर्व वृद्धि हुई। आज हम पंडित जी की विरासत की विरासत पर गर्व करते हैं जिन्होंने भारत को एक अग्रणी, वैश्विक शक्ति के रूप में विश्व मंच पर स्थापित किया।

Advertisement

नेहरू ने देश के स्वतंत्रता संग्राम में एक प्रमुख भूमिका निभाई। वह 1947 में आजादी के बाद भारत के पहले प्रधानमंत्री भी बने।

भारत को ब्रिटिश शासन से मुक्त करने के लिए नेहरू ने अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई लड़ी। वह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (आईएनसी) के प्रमुख नेताओं में से एक थे।

Advertisement

नेहरू ने 74 वर्ष की आयु में पद पर रहते हुए ही 27 मई 1964 को अंतिम सांस ली। वह 1947 से 1964 तक 16 से अधिक वर्षों तक पीएम रहे।

उन्हें बच्चों से बहुत लगाव था। बच्चे भ्री उन्हें ‘चाचा नेहरू’ कहकर बुलाते थे। उनके जन्मदिन को हर साल बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है।

Advertisement

Related posts

राष्ट्रपति द्वारा आज पांच प्रतिष्ठित हस्तियां, भारत रत्न से होंगी सम्मानित

Sayeed Pathan

सुप्रीम कोर्ट के फैसले को,सभी वर्गों ने खुले दिल से किया स्वीकार-पीएम मोदी

Sayeed Pathan

दिल्ली सरकार को बड़ा झटका ! केंद्र का लाया बिल बन गया कानून, जानें- क्या चीजें बदलेंगी ?

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!