Advertisement
अपराधदिल्ली एन सी आर

Kanjhawala Death Case: आगे के बाएं व्हील में फंसी थी अंजलि, कार के अंदर नहीं थी कोई लड़की- FSL Report

Delhi Case: कंझावला केस में दिल्ली की फॉरेंसिक साइंस लेबोरेटरी की रिपोर्ट सामने आई है। FSL रिपोर्ट के मुताबिक, आरोपी की कार की प्रारंभिक जांच से पता चलता है कि महिला वाहन के अगले बाएं पहिए में फंसी हुई थी। ज्यादातर खून के धब्बे फ्रंट लेफ्ट व्हील के पीछे पाए गए। कार के नीचे और हिस्सों पर भी खून के धब्बे मिले हैं।

फॉरेंसिक साइंस लेबोरेटरी की रिपोर्ट के मुताबिक, कार के अंदर मौजूद महिला का अब तक कोई सुराग नहीं मिला है। गिरफ्तार किए गए कार सवारों के खून के नमूने भी विस्तृत जांच के लिए एफएसएल पहुंच गए हैं।

Advertisement

Kanjhawala Case: पीड़िता से रेप की पुष्टि नहीं

राजधानी दिल्ली (Delhi) के सुल्तानपुरी (Sultanpuri) इलाके के कंझावला के kanjhawala में सड़क हादसे में जान गंवाने वाली लड़की की मंगलवार को ऑटोप्सी रिपोर्ट (Post-Mortem) सामने आई। दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को 20 वर्षीय लड़की की पोस्ट-मॉर्टम रिपोर्ट हासिल की जिससे पता चलता है कि पीड़िता को सभी चोटें गाड़ी के साथ घिसटने से आई हैं। रिपोर्ट में यह यह भी कहा गया है कि पीड़िता के यौन शोषण की कोई पुष्टि नहीं है।

 

Advertisement

Anjali Singh की पोस्ट-मॉर्टम रिपोर्ट आई सामने

द इंडियन एक्सप्रेस को मिली जानकारी के मुताबिक, कैविटी ओपन, खोपड़ी पर फ्रैक्चर और छाती की पसलियों पर चोट 20 वर्षीय अंजलि सिंह की पोस्ट-मॉर्टम रिपोर्ट में सामने आए हैं। मौलाना आज़ाद मेडिकल कॉलेज के तीन डॉक्टरों के एक पैनल ने बॉडी का परीक्षण किया था। उन्होंने मौत के कारण के रूप में सिर, रीढ़, बाएं फीमर और दोनों निचले लिंब में चोट के परिणामस्वरूप सदमा और रक्तस्राव बताया है।

Anjali के शरीर पर 40 चोटें

रिपोर्ट के मुताबिक, यह सभी चोटें मृत्यु का कारण बन सकती हैं। हालांकि, सिर, रीढ़ की हड्डी, लंबी हड्डियों और अन्य अंगों में चोट वाहन दुर्घटना और घसीटने से संभव हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि अंतिम राय रासायनिक विश्लेषण और बायोलॉजिकल सैंपल रिपोर्ट मिलने के बाद ही दी जाएगी। पोस्ट-मॉर्टम रिपोर्ट में अंजलि सिंह के शरीर पर कुल 40 चोटें दर्ज की गई हैं, जिनमें ज्यादातर घाव, खरोंच हैं।

Advertisement

वहीं, दिल्ली पुलिस ने यह भी कहा कि अंजलि की बॉडी पर यौन उत्पीड़न से संबंधित कोई चोट नहीं थी। सागरप्रीत हुड्डा, स्पेशल सीपी (लॉ एंड ऑर्डर जोन II) ने कहा, “पीड़ित लड़की का पोस्टमॉर्टम 2 जनवरी को किया गया था। रिपोर्ट बताती है कि यौन उत्पीड़न से संबंधित कोई चोट नहीं है।”

Advertisement

Related posts

कमलेश तिवारी हत्या कांड मामले में CCTV फुटेज में शूटरों के साथ दिख रही महिला की हुई पहचान

Sayeed Pathan

बाल दिवस के मौके पर बच्चों के लिए SBI में खुलेगा खास तरह का खाता, बच्चे का फोटो छपा मिलेगा एटीएम/डेबिट कार्ड पर

Sayeed Pathan

UPSC-जामिया मिल्लिया इस्लामिया में फ्री सिविल सर्विसेज की कोचिंग के लिए करें आवेदन

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!