Advertisement
अन्य

विश्व आर्द्र भूमि दिवस 2 फ़रवरी:: देश का विकास होना अति आवश्यक, लेकिन पर्यावरण के साथ खिलवाड़ करके विकास का होना विनाश से कम नहीं:- डीएफओ संतकबीरनगर

बखिरा संत कबीर नगर । 2 फरवरी गुरुवार को संत कबीर नगर जिले के बखिरा क्षेत्र स्थित पक्षी विहार में वन विभाग संतकबीर नगर के तत्वावधान में विश्व आर्द्रभूमि (वेटलैंड) दिवस का आयोजन किया गया ।

Advertisement

आयोजन के दौरान वन एवं पक्षियों के संरक्षण हेतु छात्राओं और वन स्टाफ सहित उपस्थित लोगों द्वारा शपथ ली गई,  साथ ही चित्रकला पोस्टर, भाषण तथा निबंध प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया तत्पश्चात प्रथम द्वितीय और तृतीय स्थान पाए छात्राओं को मोमेंटम शील्ड देकर सम्मानित किया गया

Advertisement

कार्यक्रम के अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि डीएफओ पी.के पाण्डेय ने छात्राओं और उपस्थित स्टाफ को संबोधित करते हुए कहा की जहां देश का तेजी से विकास हो रहा है वही विनाश भी कम नहीं हो रहा है, विकास के नाम पर पेड़ों की कटाई हो रही है जिससे पर्यावरण दूषित होने सहित पक्षियों का विनाश हो रहा है। सड़क बनाने के लिए जितने पेड़ काट दिए जा रहे हैं उसे हम 200 सालों में  उसकी पूर्ति नहीं कर पाएंगे उन्होंने कहा कि देश का विकास भी होना अति आवश्यक है लेकिन पर्यावरण के साथ खिलवाड़ करके विकास का होना  विनाश से कम नहीं है ।

आपको बता दें कि (waitland) वेटलैंड ताल, झील,पोखर , जलासय, दलदल इत्यादि के नाम से जाने जाते हैं, सामान्यतया वर्षा ऋतु में यह पूर्ण रूप से जल प्रावित हो जाते हैं कई वेडलैंड वर्षभर जल प्रावित रहते हैं जबकि कई वेटलैंड ग्रीष्म ऋतु में सूख जाते हैं वेटलैंड का जलस्तर लगातार परिवर्तित होता जा रहा है

Advertisement

वेटलैंड अत्यंत उत्पादक जलीय पारिस्थितिकी तंत्र है वेटलैंड ना केवल जल भंडारण का काम करते हैं अपितु बाढ़ के अतिरिक्त जल को अपने में समेट कर बाढ़ की विभीषिका कम करने व अन्य पर्यावरणीय सेवाओं द्वारा पर्यावरणीय संतुलन स्थापित करने में सहायक हैं,, वेटलैंड में नाना प्रकार के जीव जंतु एक कोशिकीय से कशेरुकी जीव तक पाए जाते हैं जो एक समृद्धि जलीय जैव विविधता का प्रतिनिधित्व करते हैं । वेटलैंड प्राचीन काल से ही समाज के विकास में सहायक रहा है आज भी वेटलैंड दुनिया की आधी से अधिक आबादी को भोजन मछली चावल प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करते हैं

Advertisement

उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय सर्वेक्षण के अनुसार 3 हेक्टेयर से अधिक क्षेत्रफल वाले 2508 वेटलैंड है इनमें 1193 वेटलैंड तो 50 हेक्टेयर क्षेत्रफल से भी अधिक हैं इसलिए इनको राष्ट्रीय महत्व का मानते हुए नेशनल डायरेक्टरी आफ वेटलैंड में स्थान मिला है विश्व वन्य जीवन पोस्ट डब्ल्यूडब्ल्यूएफ द्वारा तैयार कराई गई एशिया महाद्वीप के अंतरराष्ट्रीय महत्त्व के वेटलैंड के सूची में उत्तर प्रदेश के 14 वेटलैंड में दुधवा राष्ट्रीय उद्यान चंबल वन्य जीव विहार पार्वती अरगा नवाबगंज पक्षी विहार सुरहा ताल सर्वाधिक उल्लेखनीय है

उत्तर प्रदेश के 13 वेटलैंड में नवाबगंज, समसपुर, लाख बहोसी, सांडी, ओखला, समान,पार्वती अरगा, विजय सागर, पटना सुरहा ताल, सूर सरोवर भीमराव डॉक्टर भीमराव अंबेडकर पक्षी विहार सहित संत कबीर नगर जिले का बखिरा पक्षी विहार को स्थान मिला है

Advertisement

बखिरा के पक्षी विहार को संरक्षण एवं संरक्षित करने हेतु बखिरा के बेनीमाधव इंटर कॉलेज की छात्राओं को स्वच्छता, पशु पक्षियों के संरक्षण तथा अद्रभूमि के संरक्षण के लिए चित्रकला पोस्टर, भाषण प्रतियोगिता के माध्यम से जागरूक किया गया, इस कार्यक्रम के अवसर पर डीएफओ ने राष्ट्रध्वज फहराया और राष्ट्रगान गाया गया। उपस्थित सभी लोगों ने प्रतिज्ञा एवं शपथ ली कि

Advertisement

हम आर्द्र भूमि के आसपास कहीं भी कूड़ा नहीं डालेंगे

Advertisement

हम किसी भी पशु पक्षियों के आवास को क्षतिग्रस्त करने वाली किसी भी गतिविधियों में शामिल नहीं होंगे

हम प्लास्टिक का उपयोग नहीं करेंगे और ना ही इन्हें जलाएंगे

Advertisement

हम अपने आसपास किसी भी पशु पक्षी या पौधों को नुकसान नहीं पहुंचाएंगे

हम हमेशा अपने पर्यावरण की रक्षा करने का प्रयास करेंगे

Advertisement

हम अपनी जीवनशैली को पर्यावरण के अनुकूल बनाएंगे तथा मातृभूमि के संरक्षण के लिए कटिबद्ध रहेंगे

Advertisement

कार्यक्रम के दौरान चित्रकला पोस्टर प्रतियोगिता में साक्षी वर्मा को प्रथम, राधा गुप्ता को द्वितीय तथा सोनी को तृतीय स्थान मिला, साथ ही भाषण प्रतियोगिता में रिया नायक को प्रथम, काजल को द्वितीय तथा सपना त्रिपाठी को तृतीय स्थान मिला, निबंध प्रतियोगिता में रेनू पटेल को प्रथम स्थान रिया नायक को द्वितीय, अंशिका श्रीवास्तव को तृतीय स्थान मिला, इन सभी प्रतियोगियों को मोमेंटम सील्ड तथा बेनीमाधव गोपी नाथ इंटर कॉलेज को पर्यावरण संरक्षण समृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया ।

कार्यक्रम का सफल संचालन डीआरओ मनीष कुमार ने किया इस मौके पर बेनी माधव गोपीनाथ इंटर कॉलेज अध्यापक प्रशांत पटेल सुनील कुमार कमलावती देवी सहित बखीरा पक्षी विहार के स्टाफ रणविजय सिंह,  मनीष कुमार डी आर ओ, रामजीत वन दरोगा, राम ललित वन संरक्षक सहित विशिष्ट अतिथि के रूप में भारतीय वन एवं जीव संस्थान के रिसर्च फेलो तथा नमामि गंगे प्रोजेक्ट के मैनेजर अभिमन्यु सिंह उपस्थित रहे ।

Advertisement

Related posts

फिलहाल वापस नहीं होगा आंदोलन; लखनऊ में 22 को महापंचायत, 29 से संसद कूच करंगे किसान जत्थे:: संयुक्त किसान मोर्चा

Sayeed Pathan

डायरेक्ट सेलिंग की आड़ में “एम-वे” का बड़ा फ्रॉड: ED ने एमवे इंडिया की 757 करोड़ रुपए की संपत्ति अटैच की, कमाई के लालच में मेंबर बन रहे थे लोग

Sayeed Pathan

मोदी सरकार में किसानों की आय दोगुनी तो हुई नहीं, दर्द सौ गुना जरूर हो गया, जानिए कैसे-: भूपेश बघेल

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!