Advertisement
उतर प्रदेशलखनऊ

उपमुख्यमंत्री ने गांवो में आयोजित “ग्राम चौपाल” के दृष्टिगत, ग्राम्य विकास विभाग के अधिकारियों को दिया ये कड़ा निर्देश

  • किसी भी प्रकार की वित्तीय अनियमितता क्षम्य नहीं होगी
    -उप मुख्यमंत्री

लखनऊ : उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने ग्राम्य विकास विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि प्रत्येक शुक्रवार को प्रत्येक विकासखंड की 2 ग्राम पंचायतों में हो रही ग्राम चौपालों की रिपोर्ट चौपालों के तुरंत बाद उसी दिन रूरल साफ़्ट पर अपलोड की जाए। ग्राम्य विकास विभाग का बजट समय रहते व्यय किया जाय, कोई देयक लम्बित न रहे। कहा कि किसी भी प्रकार की वित्तीय अनियमितता क्षम्य नहीं होगी।

केशव प्रसाद मौर्य आज अपने कैंप कार्यालय 07-कालिदास मार्ग पर ग्राम्य विकास विभाग के कार्यों की समीक्षा की उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि प्रदेश में प्रत्येक शुक्रवार को ग्रामों में आयोजित की जा रही ग्राम चौपालों के सुखद, सार्थक व सकारात्मक परिणाम निखर कर सामने आ रहे हैं। शुक्रवार को प्रदेश के विभिन्न जिलों में वरिष्ठ अधिकारियों व ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों/कर्मचारियों तथा ग्राम स्तरीय कर्मचारियों की उपस्थिति में ग्राम चौपालों का आयोजन किया गया

Advertisement

बैठक में बताया गया कि शुक्रवार को प्रदेश की 1153 ग्राम पंचायतों में ग्राम चौपालों का आयोजन किया गया, जिसमें 4079 ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों और कर्मचारियों ने तथा 6966 ग्रामस्तरीय कर्मचारियों ने ग्राम चौपालों में प्रतिभाग किया। ग्राम चौपालों में 87631 ग्रामीणों ने सहभागिता की और 7371 सन्दर्भ/ शिकायत/प्रकरण आए ,जिसमें से 5716 संदर्भों का निस्तारण मौके पर ही कर दिया गया। शेष संदर्भों के निस्तारण हेतु उच्च स्तर के अधिकारियों कर्मचारियों को संदर्भित करते हुए उनके त्वरित निस्तारण के निर्देश दिए गए। ग्राम पंचायतों में आयोजित ग्राम चौपालों से पूर्व सभी संबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों ने ग्राम में चल रही परियोजनाओं का निरीक्षण किया गया।

उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि ग्राम चौपालों प्रति लोगों का बहुत ही उत्साह है और चौपालों के उत्साहजनक परिणाम सामने आ रहे हैं। उन्होंने कहा इसी तरह से प्रत्येक शुक्रवार को निर्धारित रोस्टर के अनुसार ग्राम चौपालों का आयोजन किया जाता रहेगा और ग्राम चौपालों में शासन स्तर पर भी विभागीय अधिकारी प्रतिभाग करेंगे तथा जनप्रतिनिधियों को भी चौपालों में भाग लेने की अपील की गई है।

Advertisement

उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने निर्देश दिए हैं कि ग्राम चौपालों का रोस्टर प्रकाशित कराया जाए ग्राम चौपालों से पूर्व डुग्गी पिटवा कर प्रचार प्रसार किया जाए। चौपालों में सांसद, विधायक और जनप्रतिनिधियों को बुलाया जाए। मोटे अनाजों के उत्पादन को बढ़ावा दिये जाने हेतु ग्राम चौपालों में किसानों को प्रोत्साहित किया जाए। प्राकृतिक और जैविक खेती को बढ़ावा देने पर बल दिया जाय।

कहा कि ग्राम चौपालों के माध्यम से सरकार जनता के द्वार चलकर जा रही है। गांव की समस्या का गांव में ही समाधान हो रहा है गांव गरीब के कल्याण के लिए समर्पित सरकार है। ग्राम चौपालो से यह सन्देश जाय कि सरकार जनता के द्वार पर जाकर उनकी समस्याएं हल कर रही है। उप मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए हैं कि ग्राम चौपाले रिजल्ट ओरिएंटेड होनी चाहिए। यह भी निर्देश दिए हैं कि ग्राम चौपालों में अच्छा कार्य करने वाले कर्मचारियों के अलावा हर वार्ड के एक प्रतिष्ठित व्यक्ति को भी सम्मानित किया जाए।

Advertisement

सभी खण्ड विकास अधिकारी ग्राम चौपालों में स्थानीय जनप्रतिनिधियों और स्थानीय मीडिया को भी आमंत्रित करें तथा उनके बैठने की समुचित व्यवस्था करें। उप मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए हैं कि ग्राम चौपालों का व्यापक स्तर पर प्रचार प्रसार किया जाए। ग्राम चौपालों का फीडबैक लिया जाए। सम्बंधित सीडीओ ग्राम चौपालो की नियमित समीक्षा करें।

बैठक में प्रमुख सचिव ग्राम्य विकास विभाग हिमांशु कुमार, ग्राम्य विकास आयुक्त जी0एस0 प्रियदर्शी मिशन निदेशक, राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन सी0 इंदुमती ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के निदेशक विजेंद्र कुमार, ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के मुख्य अभियंता वीरपाल राजपूत, ग्राम्य विकास विभाग के उपायुक्त राघवेंद्र सिंह सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Advertisement

Related posts

लखनऊ के VVIP इलाक़े में “डबल मर्डर” मचा हड़कंप

Sayeed Pathan

योगी सरकार “ITI” के इन छात्रों को देगी लैपटॉप, संस्थानों से मांगी गई लिस्ट

Sayeed Pathan

अनुसूचित जाति के BPL श्रेणी के लोगों के आर्थिक उत्थान के लिए,टेलरिंग शॉप योजना बिना ब्याज मिलेगा 20000 रुपए,10000 रुपए मिलेगा अनुदान

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!