Advertisement
संतकबीरनगर

खराब मोबाईल बेचना फ्लिपकार्ट और रियलमी कंपनी को पड़ा महंगा, दोनों कंपनियों के विरुद्ध उपभोक्ता आयोग ने सुनाया ये फैसला

* अधिवक्ता अन्जय कुमार श्रीवास्तव के बहस पर जिला उपभोक्ता आयोग ने सुनाया फैसला
* खराब मोबाइल वापस लेकर नया देने का आदेश
* क्षतिपूर्ति के रुप में अदा करना होगा रुपए 30 हजार

संत कबीर नगर : आनलाइन खरीदे गए खराब मोबाइल को वारंटी पीरियड में मरम्मत न करना फ्लिप कार्ट व रियलमी कंपनी को महंगा पड़ गया। जिला उपभोक्ता आयोग के अध्यक्ष सुरेंद्र कुमार सिंह व सदस्य सुशील देव तथा महिला सदस्य श्रीमती संतोष ने बुधवार को खराब मोबाइल सेट बेचने के एक मामले को गंभीरता से संज्ञान लेते हुए नया मोबाइल सेट देने के साथ क्षतिपूर्ति के रूप में रुपए 30 हजार अतिरिक्त अदा करने का आदेश फ्लिपकार्ट व रियलमी कंपनी को दिया है।

Advertisement

 

मामला कोतवाली खलीलाबाद थानाक्षेत्र मुखलिसपुर रोड का है,
कोतवाली खलीलाबाद थानाक्षेत्र के मुखलिसपुर रोड विधियानी तिराहा निवासी आनंद भारती ने अपने अधिवक्ता अन्जय कुमार श्रीवास्तव के माध्यम से जिला उपभोक्ता आयोग में परिवाद दाखिल कर कहा कि वह दीवानी कचहरी में कार्यरत हैं। उन्हें दिसंबर 2021 में एक मल्टीमीडिया मोबाइल सेट खरीदने की आवश्यकता महसूस हुई। सोशलमीडिया व अन्य माध्यमों से किये जा रहे विज्ञापन से प्रभावित होकर उन्होंने रियलमी कंपनी का एक मोबाइल सेट फ्लिपकार्ट के माध्यम से रुपए 20 हजार 999 में खरीदा।

Advertisement

क्रय किये गए उक्त मोबाइल के स्क्रीन पर ऊपर की तरफ एक मामूली बिंदु जैसा धब्बा पड़ा हुआ था। वह कुछ समय के बाद थोड़ा-थोड़ा करके बढ़ता गया। टोल फ्री फोन नम्बर पर इस बात की शिकायत करने पर विपक्षीगण के कहे अनुसार वह गोरखपुर में स्थित सर्विस सेंटर गए। वहां मौजूद इंजीनियर द्वारा कहा गया कि इसके मरम्मत में रुपये सात हजार खर्च आएगा। मोबाइल के वारंटी अवधि में होने पर मरम्मत के नाम पर रुपए लगने पर उन्होंने आपत्ति किया। इस पर उनके द्वारा कहा गया कि मोबाइल में विशेष खराबी है, इसमें सामान बदला जाएगा। थक – हार कर न्यायालय में मुकदमा दाखिल करना पड़ा।

न्यायालय ने पत्रावली पर दाखिल प्रपत्रों तथा साक्ष्यों का अवलोकन करने के उपरांत फ्लिपकार्ट और रियलमी के खिलाफ फैसला सुनाते हुए कहा है कि वह 60 दिनों के अंदर खराब मोबाइल को वापस लेकर दूसरा उसी मॉडल का सेट प्रदान करें। इसके साथ ही क्षतिपूर्ति के रूप में रुपए 30 हजार अतिरिक्त अदा करने का आदेश दिया है। साथ दिनों के भीतर मोबाइल वापस न कर करने पर मोबाइल की संपूर्ण कीमत 20 हजार 999 आठ प्रतिशत ब्याज के साथ वापस करना होगा।

Advertisement

Related posts

बीडीओ और ब्लॉक कर्मचारी की कार्यशैली से नाराज़ प्रधान संगठन ने बनाई बड़ी रणनीति

Sayeed Pathan

पैरा लीगल वालंटियर अपने दायित्यों का ईमानदारी से करें निर्वहन:- अपर जिला जज विकास गोस्वामी

Sayeed Pathan

कोविड से निबटने वाली, पांच स्‍वास्‍थ्‍य इकाइयों पर मॉक ड्रिल, संयुक्‍त निदेशक के निर्देशन में परखी गयी तैयारियां 

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!