Advertisement
अन्य

संसद में नज़र आएंगे “रावण”!! पश्चिमी उत्तर प्रदेश की राजनीति में मची हलचल

नई दिल्ली। भीम आर्मी के संस्थापक व आजाद समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर आजाद “रावण” लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे।  प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष जयंत चौैधरी ने कहा कि जल्द ही भाई चंद्रशेखर आजाद “रावण” संसद के अंदर नजर आएंगे। जयंत चौधरी के इस बयान ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश की राजनीति में हलचल मचा दी है।

Advertisement

नई दिल्ली के जंतर मंतर पर शुक्रवार को भीम आर्मी के द्वारा रैली आयोजित की गई। इस रैली का उद्देश्य 28 जून को चंद्रशेखर आजाद पर हुए हमले का विरोध करना और घटना की जांच की मांग करना था। लोकसभा चुनाव से पहले भीम आर्मी की तरफ से शक्ति प्रदर्शन भी किया गया है। देशभर के अलग-अलग राज्यों से भीम आर्मी संगठन से जुड़े कार्यकर्ता शुक्रवार को जंतर-मंतर पहुंचे और प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने चंद्रशेखर आजाद को केंद्र सरकार के द्वारा जेड प्लस सिक्योरिटी दिए जाने और मामले की सीबीआई जांच करने की मांग की।

Advertisement

इस प्रदर्शन में रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी भी शामिल हुए। राष्ट्रीय लोकदल अध्यक्ष और सांसद जयंत चौधरी ने वहां एक बयान दिया है कि भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद जल्द ही संसद के अंदर होंगे। उनके इस बयान के अनेक कयास लगाए जा रहे हैं। कहा जा रहा है कि चंद्रशेखर आजाद रावण समाजवादी पार्टी व राष्ट्रीय लोकदल गठबंधन की तरफ से RLD के टिकट पर बिजनौर की नगीना सीट से लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं। जिसके बाद राजीनीतिक चर्चाएं गर्म हो गयी है।

जंतर मंतर पर आज हुए प्रदर्शन में भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं का कहना है कि उनके नेता के ऊपर जानलेवा हमला किसी बड़ी साजिश के तहत हुआ है। सरकार न तो उस साजिश का खुलासा कर रही है और न ही चंद्रशेखर आजाद को जेड प्लस सुरक्षा प्रदान कर रही है। भीम आर्मी के लोगों ने बताया कि किस तरह से उप्र में भीम आर्मी चंद्रशेखर रावण की जान से मारने की कोशिश की गई। हमारी मांग है कि इस पूरे मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए। असली दोषी अभी भी बाहर घूम रहे हैं। यह तो सिर्फ मोहरा है, जो पकड़े गए। इसके अलावा चंद्रशेखर रावण को जेड प्लस सिक्योरिटी दी जाए। जब देश में बाबाओं को जेड प्लस सिक्योरिटी दी जा सकती है तो फिर भीम आर्मी प्रमुख को क्यों नहीं दी जा सकती है?

Advertisement

Related posts

बैराज घाट तक निकली एनडीआरएफ और सामाजिक कार्यकर्ताओं की गंगा संरक्षण यात्रा

Sayeed Pathan

आई.जी.आर.एस. से सम्बंधित सभी अधिकारी संदर्भो का ससमय निस्तारण करें सुनिश्चित- एडीएम

Sayeed Pathan

सिंघु बॉर्डर पर नया विवाद:: निहंग ने मजदूर से मुर्गा मांगा, नहीं देने पर तोड़ दी टांग

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!