Advertisement
उतर प्रदेशटॉप न्यूज़

गाज़ीपुर में पुलिस भर्ती परीक्षा के पहले ही पेपर आउट!, नकल कराने वाले गिरोह के 08 अभियुक्त गिरफ्तार

गाजीपुर। गाजीपुर जनपद पुलिस ने शुक्रवार को एक बड़ी सफलता हासिल किया। जब उसने उत्तर प्रदेश पुलिस आरक्षी परीक्षा के दो दिन पूर्व ही पेपर आउट कराकर नकल कराने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया। जिसमें आठ अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया। जिनके पास से भारी मात्रा में नगदी रकम के साथ ही ब्लैंक चेक व अभ्यर्थियों के शैक्षणिक प्रमाण पत्र बरामद किए गए।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि 17 व 18फरवरी को आयोजित होने वाली उ0प्र0 पुलिस आरक्षी परीक्षा 2023 में पेपर आउट कराकर नकल कराने वाले सक्रिय गिरोह का भंडाफोड़ स्वाट व सर्विलांस टीम तथा थाना नोनहरा व नन्दगंज पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा किया गया।

Advertisement

टीम द्वारा मुखबिरी सूचना पर भंडाफोड़ कर ग्राम मिरदादपुर थाना नोनहरा से 08 नफर अभियुक्तों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 06 लाख रूपये नगद, 21 लाख रूपये का चेक, भारी मात्रा में कूटरचित दस्तावेज तथा मोबाईल व इलेक्ट्रानिक डिवाईस बरामद किया गया। गिरफ्तारशुदा अभियुक्तों के विरुद्ध थाना नोनहरा पर मुकदमा पंजीकृत कर नियमानुसार अग्रिम विधिक कार्यवाही की जा रही है।

हिरासत में लिये गये व्यक्तियों द्वारा बताया गया कि उनका एक संगठित गिरोह है। जिसमें वाराणसी डीएलडब्ल्यू के रहने वाले किशन मिश्रा व सुनील मिश्रा भी शामिल हैं। इनके गिरोह द्वारा विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में परीक्षा केन्द्रों व अन्य स्त्रोतों के माध्यम से सेटिंग कर परीक्षा से पहले ही प्रश्न पत्रों के अलग-अलग सेट को व्हाट्सएप के माध्यम से प्राप्त करके उनके उत्तर सेटवार तैयार कर पूर्व से सेट किये गये परीक्षार्थियों को परीक्षा शुरू होने के लगभग 02 घण्टे पहले ही भेज दिया जाता है।

Advertisement

अभियुक्तों ने बताया कि परीक्षार्थियों की सेटिंग हमलोग पहले ही अपने-अपने स्रोतों से व्यक्तिगत सम्पर्क कर उन्हें सफल होने का पूर्ण विश्वास दिलाकर लेते हैं। जिनसे 07-08 लाख रुपये की मोटी रकम वसूल कर हम लोग आपस में बांट लेते हैं। कुछ परीक्षार्थी पहले ही पूरी रकम दे देते हैं,जबकि कुछ नहीं दे पाते तो उनसे हम लोग 01 लाख रूपये नगद तथा ब्लैंक चेक व उनका मूल शैक्षिक अंकपत्र व प्रमाणपत्र लेकर अपने पास रख लेते हैं। जब उनके द्वारा पूरा पैसा चुका दिया जाता है,तो उनका शैक्षिक प्रमाण पत्र व ब्लैंक चेक वापस कर दिया जाता है।

गिरफ्तार किए गए अभियुक्तों में पिन्टू यादव उर्फ गोपेश यादव उर्फ नीरज यादव उर्फ मास्टर उर्फ सिपाही पुत्र नंन्दलाल यादव उर्फ विनोद यादव निवासी ग्राम खिदिराबाद थाना कोतवाली जनपद गाजीपुर। सोनू यादव पुत्र अमेरिका यादव निवासी ग्राम खुर्दपुर थाना नोनहरा जनपद गाजीपुर। रामकरन यादव पुत्र स्व0 रामसूरत यादव निवासी ग्राम रसूलपुर कन्थवारा थाना नोनहरा गाजीपुर। रमाकान्त यादव पुत्र सुरेश सिंह यादव निवासी ग्राम सहबाजकुली थाना नोनहरा जनपद गाजीपुर। कपिलदेव सिंह यादव पुत्र जगदीश सिंह यादव निवासी ग्राम पीथापुर थाना जंगीपुर जनपद गाजीपुर। अभिमन्यु यादव पुत्र दुखन्ती सिंह यादव निवासी ग्राम लोकवापुर (अन्धऊ) थाना कोतवाली जनपद गाजीपुर। इन्द्रजीत यादव पुत्र रामबचन यादव निवासी ग्राम वार्ड नं0-04 गुरु सेवक नगर थाना जंगीपुर जनपद गाजीपुर। अमित यादव पुत्र इन्द्रजीत सिंह यादव निवासी ग्राम नगवा उर्फ नौपुरा थाना नोनहरा जनपद गाजीपुर शामिल हैं।

Advertisement

इन लोगों के पास से 06 लाख रुपये नगद व 21 लाख रुपये का चेक, 17 अदद मूल शैक्षिक अंकपत्र व प्रमाण पत्र व 29 अदद उ0प्र0 पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड परीक्षा 2023 प्रवेश पत्र छायाप्रति, 05 अदद नमूना नकल चीट छायाप्रति व 08 अदद कूटरचित आधार कार्ड, 14 अदद मोबाईल,01अदद वाईफाई राऊटर जियो कम्पनी व 01 अदद प्रिन्टर एचपी कम्पनी, 01अदद चार पहिया वाहन टाटा नेक्सान व 03 अदद मोटरसाईकिल बरामद किया गया।

Advertisement

Related posts

यूपी बोर्ड परीक्षा 2021- 3 फरवरी से दो चरणों में होगी प्रयोगिक परीक्षा

Sayeed Pathan

3000 दलितों ने किया इस्लाम धर्म अपनाने का फैसला, वजह भी बेहद हैरान करने वाली.

Sayeed Pathan

रीलेक्सो डोमस्वेयर कम्पनी की पहल:: आत्मनिर्भरता : कलात्मक रोजगार से जुडेंगी घरेलू महिलाएं

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!