Advertisement
टॉप न्यूज़

पुलिस कर्मियों की पिटाई के आरोप में, भाजपा सांसद समेत दस नामजद और 42 अज्ञात के खिलाफ कन्नौज में मुकदमा दर्ज

कन्नौज। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद सुब्रत पाठक समेत दस नामजद और 42 अज्ञात के खिलाफ कन्नौज में पुलिस कार्यवाही पर बाधा डालने और हमला करने का मामला शनिवार को दर्ज किया गया है।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि कन्नौज के प्रेम नगर निवासी दीपू ने पुलिस को सूचना दी कि वह उन्नाव जिले में किराये के मकान में रहता है। उसके भाई नीलेश का शुक्रवार शाम कन्नौज निवासी प्रभाकर कुशवाहा, सागर शर्मा, विशाल कटियार और अभिषेक दुबे ने अपहरण कर लिया। दीपू ने पुलिस को दी तहरीर में कहा कि उसके भाई की जान को खतरा है। मामले की गंभीरता को भांपते हुये उन्नाव जिले के औरस थाने की पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज कर लिया।

Advertisement

उन्होंने कहा कि शुरूआती जांच पड़ताल में नीलेश की लोकेशन कन्नौज के एक जिम में मिली, जिसके बाद उन्नाव पुलिस ने उस जगह पर छापा मार कर अपहृत युवक को बरामद कर लिया। इस सिलसिले में पुलिस ने एक आरोपी को मौके से गिरफ्तार कर लिया।

इसके बाद उन्नाव पुलिस की टीम के साथ सभी आरोपियों को चौकी मंडी समिति लाया गया। यहां उनका विवरण दर्ज किया जा रहा था कि अवनीश नाम का युवक चौकी में आता है और किसकी अनुमति से आरोपियों को पकड़कर लाने की बात पूछता है।

Advertisement

उसने कहा कि इन सभी लड़कों को तुंरत छोड़ दो नहीं तो अच्छा नहीं होगा। इसके बाद वह किसी से फोन पर बातचीत करते हुए चला गया। थोड़ी देर बाद जब उन्नाव पुलिस सभी आरोपियों को लेकर जाने लगी तो अवनीश, पुष्पेंद्र प्रजापति, नयन मिश्रा, विजय पांडे, सूरज राजपूत आकर उन्नाव पुलिस टीम के साथ गाली-गलौज करने लगे और धक्का-मुक्की कर आरोपियों को छुड़ाने का प्रयास किया।

Advertisement

चौकी इंचार्ज मंडी समिति हाकिम सिंह ने इस सम्बन्ध में लिखाई तहरीर में लिखा, “बीत रात को मैं अपनी टीम के साथ गश्त पर था। तभी उन्नाव की औरास पुलिस अपहरण के मामले में दबिश देने आई। टाइगर जिम से 5 युवकों को पकड़कर अपहृत युवक को बरामद कर उन्नाव लेकर जा रही थी।

वायरलेस से सूचना मिली कि उन्नाव की टीम की मदद करें। मैसेज मिलते ही मैं उप निरीक्षक सुभाष के साथ मौके पर पहुंचा। जहां औरास पुलिस ने 5 आरोपियों को पकड़ रखा था। इसी दौरान मौके पर चौकी इंचार्ज सरायमीरा तरुण सिंह कांस्टेबल लवि के साथ भी आ गए।

Advertisement

मैंने और टीम के अन्य पुलिसकर्मियों ने उन्हें रोकना चाहा तो सभी युवक हम लोगों के साथ भी धक्का-मुक्की करने लगे। इसी बीच किसी तरह उन्नाव की टीम को रवाना किया गया। उसके बाद अवनीश ने भाजपा सांसद सुब्रत पाठक को फोन किया और बताया कि चौकी प्रभारी मंडी समिति और चौकी प्रभारी सरायमीरा तरुण ने गलत तरीके से हमारे लड़कों को पकड़वा दिया है, आप आइए नहीं तो हम लोग चौकी में आग लगा देंगे।

इसके बाद फोन स्पीकर पर डालकर मुझसे बात करवाने लगे। उधर से सांसद ने कहा कि 15 मिनट के अंदर दबिश टीम को वापस बुला लो नहीं तो तुझे आग लगा दूंगा। इसके 15 मिनट बाद ही सांसद मौके पर पहुंच गए। उनके साथ उनका सुरक्षाकर्मी सचेत पांडेय भी था।

Advertisement

गाड़ी से उतरते ही सांसद ने पूछा कि मंडी समिति का चौकी इंचार्ज कौन है। इस पर भाजपा कार्यकर्ता अवनीश ने मेरी तरफ इशारा किया। सांसद ने आकर मेरी वर्दी की कॉलर पकड़ ली और धक्का-मुक्की करने लगे। पुलिसकर्मियों ने मुझे बचाने का प्रयास किया तो अवनीश और 40 से 42 अज्ञात लोगों ने हमला कर दिया। पुलिस टीम के साथ मारपीट कर वर्दी फाड़ दी। इसी बीच कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंची तो सांसद और उनके समर्थक चौकी से भाग गए।

पुलिसकर्मियों का कराया गया मेडिकल परीक्षण

Advertisement

मंडी समिति चौकी में मारपीट में चोटिल हुए एसआई हाकिम सिंह, एसआई हेमंत कुमार, एसआई तरुण सिंह के अलावा कांस्टेबल रोहित लवानिया, लवि खारी, सुभाष कुमार और नीरज कुमार को जिला अस्पताल भेजा गया। जहां मेडिकल परीक्षण के बाद उनका इलाज किया गया।

चौकी प्रभारी हाकिम सिंह की तहरीर पर भाजपा सांसद सुब्रत पाठक, सचेत पांडेय, पुष्पेंद्र प्रजापति, विजय पांडेय, वासु मिश्रा, नयन मिश्रा, अवनीश, मोहित कठेरिया, जितेंद्र शुक्ला और सूरज राजपूत को नामजद किया गया है। जबकि 42 अज्ञात पर FIR दर्ज की गई है।

Advertisement

सुब्रत पाठक बोले- दरोगा ने महिला कार्यकर्ताओं के साथ छेड़छाड़ की

उधर, देर शाम भाजपा सांसद सुब्रत पाठक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने दरोगा हाकिम सिंह और दरोगा तरुण सिंह भदौरिया पर कार्यकर्ताओं की पिटाई करने और महिला कार्यकर्ता के कपड़े फाड़ने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि सरकारी रिवाल्वर लगाकर हाकिम सिंह और तरूण सिंह ने महिला कार्यकर्ताओं के साथ छेड़छाड़ की। रात 11 बजे इस घटना की जानकारी मिली तो मंडी समिति चौकी पहुंचा था। एडिशनल एसपी से बातचीत कर भाजपा कार्यकर्ताओं को पुलिस के चंगुल से छुड़ाया और वापस लौट आया।

Advertisement

सांसद ने कहा कि पुलिस के साथ किसी प्रकार की कोई मारपीट नहीं की गई, बल्कि उल्टा पुलिस ने उनके ही कार्यकर्ता समुद्र श्रीवास्तव और भाजपा नगर महामंत्री शिवेंद्र गुआल को जातिसूचक गालियां देते हुए पिटाई की थी। जिस कारण उन सभी को चोटे भी आईं। जिसकी तहरीर शिवेंद्र गुआल ने पुलिस को दी थी, लेकिन विभागीय मामला होने के कारण पुलिस ने उनकी रिपोर्ट दर्ज नहीं की और उल्टा हम सब भाजपाइयों पर ही मुकदमा दर्ज कर लिया।

कन्नौज एसपी ने खुन्नस में दर्ज कराया झूठा मुकदमा

Advertisement

भाजपा सांसद सुब्रत पाठक ने कहा कि निकाय चुनाव के दौरान कन्नौज एसपी कुंवर अनुपम सिंह ने कन्नौज नगर पालिका सीट पर बसपा प्रत्याशी की खुलकर मदद की थी। इस मामले की शिकायत उन्होंने मुख्यमंत्री और प्रमुख सचिव से मिलकर की थी। इसी खुन्नस में उन्होंने मेरे खिलाफ झूठा मुकदमा दर्ज कराया है।

सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही पुलिस

Advertisement

मामले को लेकर सदर कोतवाली पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज खंगालने शुरू कर दिए हैं। मंडी समिति परिसर में और उसके आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरों से युवकों की पहचान करने के प्रयास किए जा रहे हैं। माना जा रहा है कि पुलिस जल्द ही मारपीट करने वाले भाजपा कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर सकती है।

पुलिसकर्मियों की पिटाई के मामले में भाजपा सांसद के खिलाफ मुकदमा दर्ज

Advertisement

Related posts

अधिकार अपराध समाधान द्वारा *न्याय वीर योद्धा अवार्ड समारोह* 30 जुलाई को हरियाणा रोहतक में

Sayeed Pathan

सार्वजनिक स्थानों पर थूकने से भी फैलता है कोरोना वायरस !

Sayeed Pathan

Lunar Eclipse 2022: साल का आखिरी चंद्र ग्रहण आज, जानिए देश में क्या है समय

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!