Advertisement
महाराष्ट्र

औरंगजेब पर बवाल: कोल्हापुर में विरोध मार्च कर रहे हिंदूवादी संगठन के लोगों पर लाठीचार्ज

कोल्हापुर: महाराष्ट्र के कोल्हापुर  में हिंदुत्ववादी संगठनों की ओर से आयोजित किए गए विरोध मार्च के वक्त पुलिस की ओर से हालात को कंट्रोल करने के लिए लाठी चार्ज करना पड़ा. यह मार्च कुछ मुस्लिम युवकों की ओर से सोशल मीडिया स्टेटस में औरंगजेब को रखे जाने के विरोध में आयोजित किया गया. कुछ प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने हिरासत में लिया है. दो समुदायों में तनाव बढ़ने की आशंकाओं को देखते हुए प्रशासन की ओर से 19 जून तक जमावबंदी लागू की गई है. हिंदुत्ववादी संगठनों ने भी आज कोल्हापुर बंद का आह्वान किया है. इस मामले में अब तक 21 लोगों को हिरासत में लिया जा चुका है.

हिंदुत्ववादी संगठनों ने हिंदुओं से छत्रपति शिवाजी चौक में जमा होने का आह्वान किया था. आज सुबह नौ बजे से ही विरोध मार्च में शामिल होने के लिए लोगों की भीड़ जुटनी शुरू हो गई थी. धीरे-धीरे भीड़ बढ़ती गई और तनावपूर्ण स्थिति पैदा होने लगी. इसके बाद स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया. महाराष्ट्र के गृहविभाग ने पुलिस को आदेश दिया है कि वह जल्दी से जल्दी हालात को नियंत्रण में लाए.

Advertisement

सीएम शिंदे ने शांति की अपील करते हुए बुलाई प्रेस कॉन्फ्रेंस, इंटरनेट सेवा बंद

1 बजे अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीएम एकनाथ शिंदे ने कहा कि कोई कानून व्यवस्था हाथ में न ले. शांति बनाए रखें. हालात नियंत्रण में लाए जा रहे हैं. हम लगातार पुलिस के संपर्क में हैं. इस पूरे मुद्दे पर गृहमंत्री देवेंद्र फडणवीस दोपहर 2 बजे पत्रकारों को संबोधित करने वाले हैं. इससे पहले उन्होंने संदेश जारी करते हुए कहा कि अनुचित व्यवहार न हो यह सबकी सामूहिक जिम्मेदारी है. दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा. शांति बनाए रखें. इस बीच कोई अनुचित घटना न हो, यह ध्यान में रखते हुए कोल्हापुर में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है. पुलिस ने अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील की है.

हिंदुत्ववादी संगठन की ओर से कोल्हापुर विरोध मार्च की पृष्ठभूमि क्या?

आज के कोल्हापुर प्रोटेस्ट से पहले रविवार को छत्रपति संभाजीनगर (औरंगाबाद) में कुछ मुस्लिम युवकों ने जुलूस के दौरान औरंगजेब के पोस्टर लेकर डांस किया था. इसके बाद कोल्हापुर में कुछ युवकों ने अपने सोशल मीडिया स्टेटस में औरंगजेब की तस्वीर लगाई. हिंदुत्ववादी संगठनों ने इसकी शिकायत लक्ष्मीपुरी पुलिस स्टेशन में जाकर की और आपत्तिजनक पोस्ट करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग करते हुए आज कोल्हापुर बंद का आह्वान किया.

Advertisement

दर्शनकारियों ने बंद दुकानों पर फेंके पत्थर, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

आज सुबह से ही भीड़ जमा होने लगी और स्थिति तनावपूर्ण होने लगी. कोल्हापुर बंद होने की वजह से दुकानें बंद थीं. लेकिन प्रदर्शनकारी बंद दुकानों पर पथराव किया. तनाव बढ़ता देख पुलिस ने लाठी चार्ज किया, आंसू गैस के गोले छोड़े और कुछ प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया. कितने लोगों को हिरासत में लिया गया, इस पर पुलिस ने बाद में खुलासा करने की बात कही. पुलिस ने पत्थर फेंकने वालों पर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया. सवा एक बजे पुलिस प्रशासन की ओर से यह साफ किया गया कि हालात को नियंत्रण में लाने के लिए बल प्रयोग किया गया. फिलहाल स्थिति नियंत्रण में आ चुकी है.

औरंगजेब का स्टेटस लगाने वाले 6 लोग अरेस्ट, कड़ी कार्रवाई का आश्वासन

कोल्हापुर पुलिस की ओर से आधिकारिक बयान में कहा गया है कि जब पहले ही जमावबंदी लागू कर दी गई है और आपत्तिजनक पोस्ट करने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है, तब भी विरोध मार्च किया जा रहा है. इससे टेंशन बढ़ने की आशंका है. किसी को भी कानून व्यवस्था अपने हाथ में लेने का अधिकार नहीं है. कोल्हापुर के संरक्षक मंत्री दीपक केसरकर ने कहा है कि औरंगजेब का फोटो स्टेटस में लगाने वाले 6 लोगों को अरेस्ट कर लिया गया है. उन पर कड़ी कार्रवाई का आश्वासन दिया है.

Advertisement

औरंगजेब का महिमामंडन नहीं करेंगे बर्दाश्त- गृहमंत्री देवेंद्र फडणवीस

इस बीच महाराष्ट्र के गृहमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने बयान दिया है कि औरंगजेब का महिमामंडन बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. पिछले कुछ दिनों से महाराष्ट्र की अलग-अलग जगहों पर औरंगजेब के उदात्तीकरण का ट्रेंड सा चल पड़ा है. इसकी जांच हम करवा रहे हैं. कुछ तो हमें भी आइडिया है कि इसके पीछे कौन है? लेकिन इतना तय है कि छत्रपति शिवाजी महाराज के महाराष्ट्र में औरंगजेब का महिमामंडन बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

औरंगजेब का महिमामंडन की हिम्मत ठाकरे राज में किसी की नहीं हुई- संजय राउत

इस मुद्दे पर ठाकरे गुट के सांसद संजय राउत ने कहा कि कोई औरंगजेब के पोस्टर लेकर नाचता है, कोई स्टेटस लगाता है. जिस राज्य में औरंगजेब गाड़ा गया (औरंगाबाद में औरंगजेब की कब्र) वहां कोई औरंगजेब का महिमामंडन करने की हिम्मत कर रहा है, यह शिंदे फडणवीस सरकार की कमजोरी को दर्शाता है. ऐसी हिम्मत ठाकरे सरकार के वक्त किसी ने नहीं की.

Advertisement

देश में अशांति कौन फैला रहा है, यह सबको मालूम- संजय राउत

संजय राउत ने हमारे सहयोगी न्यूज चैनल TV9 मराठी से बात करते हुए कहा कि, शाहू महाराज की भूमि पर धार्मिक तनाव पैदा होना सरकार की नाकामयाबी को दर्शाता है. महाराष्ट्र का वातावरण बिगाड़ने की साजिश कौन रच रहा है? कर्नाटक में भी ऐसी ही कोशिश की गई थी. औरंगजेब का पोस्टर लगाना, स्टेटस लगाने की हिम्मत कोई नहीं कर सकता यहां. देश में अशांति फैलाने का काम कौन कर रहा है, यह सबको मालूम है. कहीं ये सरकार के ही प्लांट किए हुए लोग तो नहीं?

सरकार धार्मिक सद्भाव बनाने की बजाए, बिगाड़ने वालों को उकसा रही- पवार

इस मुद्दे पर शरद पवार ने शिंदे-फडणवीस सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि सरकार का काम धार्मिक सौहार्द्र को बनाए रखना होता है लेकिन बीजेपी दो समुदाओं के बीच तनाव पैदा करने वालों को उकसा रही है. औरंगाबाद में औरंगजेब का पोस्टर अगर किसी ने दिखा दिया तो उसका विरोध पुणे और कोल्हापुर में क्यों हो रहा है?

Advertisement

Related posts

शिवसेना और कांग्रेस के बीच, पहले भी रहे हैं अच्छे रिश्ते

Sayeed Pathan

टूट गया BJP-शिवसेना का गठबंधन,मोदी सरकार के मंत्री देंगे इस्तीफा !

Sayeed Pathan

मुम्बई, यूपी सहित कई प्रदेशों तक, ज्योतिष का परचम लहरा रहे पंडित अतुल शास्त्री

Sayeed Pathan

एक टिप्पणी छोड़ दो

error: Content is protected !!